सृजन घोटाले में नीतीश मोदी शामिल, सीबीआई से हो जांच : तेजस्वी

nitish-modi-involve-in-srijan-scam-tejaswi
भागलपुर 17 अगस्त, बिहार विधानसभा में विरोधी दल के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने भागलपुर के चर्चित सृजन घोटाले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के संलिप्त होने का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की मांग की है। श्री यादव ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सृजन घोटाला बिहार का अबतक सबसे बड़ा घोटाला है और जिसमें राज्य सरकार की भी संलिप्तता है। ऐसे में आर्थिक अपराध इकाई और विशेष जांच दल (एसआईटी) सिर्फ़ दिखावे के लिए जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि इस घोटाले में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री समेत कई बड़े लोगों के शामिल होने से सरकार की जांच पर भरोसा नहीं किया जा सकता। उन्होंने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए कहा कि इन लोगों को तत्काल इस्तीफा देना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जांच एजेंसियां केवल बैंक और सरकारी कर्मचारियों की धड़-पकड़ कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी इस महाघोटाले को लेकर पूरे बिहार में यात्रा निकाल कर जनता के बीच इन घोटालेबाजों की पोल खोलेगी।


पूर्व उप मुख्यमंत्री ने भागलपुर जिला प्रशासन की ओर से उन्हें सभा करने की अनुमति नहीं देने के मुद्दे को लेकर नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और उप मुख्मयंत्री के इशारे पर जिला प्रशासन ने उनकी आमसभा को अंतिम समय में रद्द कर दिया। यह लोकतंत्र का गला घोंटने जैसा है। उन्होंने कहा, “श्री कुमार और श्री मोदी को इस बात का डर है कि मैं सृजन महाघोटाले में उनकी पोल पूरी तरह से खोल दूंगा इसलिए उनलोगों ने घबरा कर जिला प्रशासन से उनके कार्यक्रम को रद्द करने का आदेश दिया। श्री यादव ने राज्य में जारी भीषण बाढ़ की चर्चा करते हुए कहा कि सरकार की घोर लापरवाही के कारण प्रदेश में बाढ़ की स्थिति भयावह हुई है। बाढ़ से एक तरफ जहां भारी तबाही हुई है वहीं दूसरी तरफ सैकड़ों लोगों की मौतें हुई है। उन्होंने कहा कि भारी बारिश और नेपाल से पानी छोड़ने की संभावना के बाद भी राज्य सरकार सोती रही जिससे आज यह स्थिति है। संवाददाता सम्मेलन में राजद के वरीय नेता जयप्रकाश नारायण यादव और बुलो मंडल समेत अन्य नेता उपस्थित थे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...