सुषमा के विरूद्ध कांग्रेस का विशेषाधिकार हनन का नोटिस

notice-against-sushma-in-parliament
नयी दिल्ली 04 अगस्त, कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 2015 की लाहौर यात्रा और उसी साल इंडोनेशिया में बांडुग सम्मेलन के बारे में राज्यसभा को कथित तौर पर गुमराह करने का आरोप लगाते हुए आज उनके विरुद्ध विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव के दो नोटिस दिए। . विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि श्रीमती स्वराज ने कल अपने वक्तव्य में बांडुंग एशिया अफ्रीका संबंध सम्मेलन के बारे में गलत जानकारी देकर सदन को गुमराह किया है। उनका कहना है कि श्रीमती स्वराज ने कल अपने भाषण में कहा था कि उन्होंने बांडुंग सम्मलेन में कोई भाषण नहीं दिया था जबकि उन्होंने वहां भाषण किया था। इस संबंध में उसने श्रीमती स्वराज के डाउनलोड किये गए भाषण को सबूत के तौर पर पेश किया है। राज्यसभा में बांडुग सम्मेलन के बारे में श्रीमती स्वराज के वक्तव्य पर पक्ष और विपक्ष के सदस्यों में काफी नोंकझाेंक हुई थी । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनन्द शर्मा ने आरोप लगाया था कि सम्मेलन में विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह ने अपने भाषण में देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम का उल्लेख नहीं किया। श्रीमती स्वराज ने इस पर कहा कि भारत को बांडुग सम्मेलन को सम्बोधित करने का मौका ही नहीं मिला था और श्री शर्मा जिस भाषण का उल्लेख कर रहे हैं, वह अफ्रीकी एशियायी सम्मेलन में दिया गया था और यह सम्मेलन अलग हुआ था। अफ्रीकी -एशियायी सम्मेलन पहले हुआ था और उसके अगले दिन बांडुग सम्मेलन का आयोजन हुआ था। श्रीमती स्वराज के विरुद्ध विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव का दूसरा नोटिस श्री मोदी की 2015 में लाहौर की यात्रा के बारे में कथित तौर पर गलत सूचना पर लाया गया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...