मधुबनी : प्रखंड परिक्षेत्र मे रक्षाबंधन का पवित्र त्योहार आज पुरे धुमधाम से मनाया गया।

rakhi-rakshabandhan-madhubani
अंधराठाढी/मधुबनी (मोo आलम अंसारी) अंधराठाढी। प्रखंड परिक्षेत्र मे रक्षाबंधन का पवित्र त्योहार आज पुरे धुमधाम से मनाया गया। पुरे दिन बहन के पास जाने वाले भाई और भाईयो के पास आनेवाली बहनो से गॉव और बाजार गुलजार रहा। मिठाईयो के दुकानो पर पॉव धरने की जगह नही मिल रही थी। भुखी रही बहनें - मालुम हो की इस वार समय के हेर फेर के कारण बहनो कोदेर तक भुखा रहना पडा। पंडितो के अनुसार दिन के 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक का समय राखी के शुभ था। बाकी समय पर भद्रा का प्रभाव था। पुरानो के अनुसार भद्रा शनि की बहन है। भद्रा की कुदृष्टि से कुल मे हानि होने की संभावना बढ जाती है। कहा गया है की महावली रावण ने भद्रा काल मे ही अपनी बहन शुर्पनखा से रक्षासूत्र बॅंधवा लिया था। और उसी वर्ष उसका कुल समेत नाश हो गया।  कई जगह सुवह के समय ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जबकि अधिकांस परिवारो मे बहनो ने भद्राकाल के बाद ही भाइयो के कलाइयो मे राखी बॉधी। हर परिवार मे आनंद और उललास का वातावरण दिखा। बहनो ने भाईयो की सलामती की दुआ मॉगी तो बदले मे भाईयो ने बहन की रक्षा करने का वचन दिया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...