आरएसएस देश के संविधान को बदलने के प्रयास में : राहुल

rss-trying-to-change-the-constitution--rahul
नयी दिल्ली 17 अगस्त, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला करते हुए कहा कि वह चुनाव तो जीत नहीं सकता है लेकिन देश के संविधान को बदलने के प्रयास में लगा है ताकि इसका लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष स्वरूप समाप्त हो जाए। श्री गांधी ने विपक्षी दलों की ओर से यहां आयोजित साझी विरासत सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आरएसएस की समझ है कि वह अपनी विचारधारा की बदौलत चुनाव नहीं जीत सकता है, इसलिए वह संविधान को ही समाप्त करने के प्रयास में लगा है। उनका कहना था कि आरएसएस का मानना है कि यह देश केवल उसका है और यहां के लोग इस देश के नहीं हैं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के आंदोलन में इनका कोई योगदान नहीं था और ये अंग्रेजों की सहायता में लगे थे। ‘स्वच्छ भारत’ की जगह ‘सच भारत’ का नारा देते हुए उन्होंने कहा कि सचाई की लड़ाई के लिए आज पूरे विपक्ष को एकजुट होने की जरूरत है ताकि भारतीय जनता पार्टी और संघ परिवार का मुकाबला किया जा सके। श्री गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार हर क्षेत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों को ला रही है ताकि हर संस्थान में उसकी विचारधारा आगे बढ़े। इन संस्थानों में प्रेस, अफसरशाही और न्यायपालिका शामिल हैं। उन्होंने कहा कि श्री मोदी का ‘मेक इन इंडिया’ पूरी तरह विफल हो गया है क्योंकि बाजार में हर जगह चीनी माल नजर आता है। उन्होंने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था और जब उन्होंने संसद में यह सवाल उठाया तो पता चला कि पिछले साल केवल एक लाख लोगों को ही रोजगार मिला है और उनमें भी तीस हजार को तो केवल कर्नाटक सरकार ने रोजगार उपलब्ध कराया है। इसके साथ ही किसानों और महिलाओं की मदद का भी वादा किया गया था लेकिन सत्ता में आने के बाद उनके लिए कुछ भी नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि देश का हर युवा आज काम करना चाहता है लेकिन सचाई यह है कि पिछले आठ साल में पहली बार इतना कम रोजगार दिया गया है। श्री गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने पूरे देश में भय माहौल पैदा कर दिया है लेकिन कहा कि उनसे डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनका पूरा वजूद सिर्फ मार्केंटिंग और प्रचार पर टिका हुआ है। उन्होंने हाल की गुजरात यात्रा की चर्चा करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने उनकी कार पर पीछे से हमला किया और जब वह यह जानने के लिए गाड़ी से बाहर आये कि ऐसा वह क्यों कर रहे हैं तो वहां खड़े लोग भाग गए। उन्होंने कहा कि यही भाजपा का चरित्र है। श्री गांधी ने कहा कि श्री मोदी और योगगुरु बाबा रामदेव का एक ही ‘सिस्टम’ है और वह है-‘मार्केटिंग’। पंद्रह-बीस लोग ही इस देश को चलाते हैं और यही लोग मोदी जी की मार्केटिंग भी करते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी जी जहां जाते हैं, वहां झूठ बोलते हैं, उनकी शक्ति बड़ी है पर सचाई से बड़ी कोई शक्ति नहीं होती। उन्होंने कहा कि चाहे मोदी हों या कोई और, वह सच का मुकाबला नहीं कर सकते अौर उनसे डरने की कोई जरूरत नहीं है। जनता दल (यू) के बागी नेता शरद यादव के संयोजन में आयोजित इस सम्मेलन में कई विपक्षी दलों के नेताओं ने भाग लिया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...