आलेख : जब बनारसी छोरा बन गए शाहरुख

लंबे इंतजार के बाद शाहरुख खान और अनुष्‍का शर्मा की फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल‘ 4 अगस्त को देशभर में रिलीज होगी। इससे पहले इस फिल्म के न सिर्फ कई छोटे-छोटे मिनी ट्रेलर रिलीज किए जा चुके हैं, बल्कि फिल्म प्रमोशन के लिए शाहरुख-अनुष्‍का दिल्ली, मुंबई समेत कई महानगरों में इवेंट भी कर चुके है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी या यूं कहे धर्म एवं आस्था की नगरी काशी में पूर्वांचल की शान भोजपुरीयां गायक मनोज तिवारी संग इवेंट करना एवं बनारसी पान खाने के कई मायने हैं। माना जा रहा है कि ऐसा कर शाहरुख खान ने असहिष्णुता वाले विवादित बयान से उबरने की कोशिश की, बल्कि पान खाकर बनारसियों का दिल भी जीता, जिसकी झलक उन्हें देखनें सड़क पर उतरे हुजूम में भी दिखा। कहा जा सकता है शाहरुख-अनुष्‍का की यह फिल्म ओपेनिंग डे पर ही 25-30 करोड़ के पार जायेगी। दावा है कि यह फिल्म 250 - 300 करोड़ तक का कमाई कर सकती है  
srk-reachd-banaras
दरअसल, शाहरुख अनुष्का के साथ अपनी आने वाली फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल‘ के प्रचार के लिए वाराणसी पहुंचे थे। कार्यक्रम के पहले कयास लगाएं जा रहे थे कि बनारस में उनका जबरदस्त विरोध इसलिए होगा क्योंकि उन्होंने पिछले वर्ष नवंबर में एक समारोह में कहा था कि ‘धार्मिक असहिष्णुता से बुरा कुछ भी नहीं है और यह भारत को अंधेरे युग की ओर ले जाएगा‘। इसके बाद जहां कई लोगों ने शाहरुख को राष्ट्रविरोधी करार दिया तो कई ने इसे राजनीतिक बयान माना। यहां तक कि कई राजनेताओं ने शाहरुख के इस बयान की निंदा की। यह अलग बात है कि शाहरुख ने अपनी सफाई में कहा, ‘कभी कभी मुझे दुख होता है, यहां तक कि मेरा रोने का मन करता है, जब मुझे यह कहने को मजबूर किया जाता है कि मैं इस देश से हूं, मैं एक देशभक्त हूं। हमें खुद को देशभक्त साबित करने के लिए एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा नहीं करनी है।‘ बावजूद इसके उनके इस बयान को लेकर भाजपा-आरएसएस समेत अन्य हिन्दू संगठनों में नाराजगी व विरोध-प्रदर्शन की बात कहीं जा रही थी। इससे शाहरुख खान एवं उनके करीबी भी वाकिफ थे। 


शायद यही वजह है कि शाहरुख खान के करीबियों ने पूर्वांचल के युवा दिलों की धड़कन भोजपुरियां गायक व भाजपा सांसद मनोज तिवारी के जरिए नारजगी को दूर करने का नुख्शा सूझा। जब शाहरुख के कहने पर उनके करीबियों ने मनोज तिवारी से संपर्क किया तो उन्होंने स्थिति को समझते हुए सहर्ष स्वीकार कर लिया और इंग्लैंड में आयोजित भोजपुरियां एवार्ड कार्यक्रम को आधे-अधूरे छोड़ बनारस पहुंच गए। कहा जा रहा है कि मनोज तिवारी के ही निवेदन पर शाहरुख खान की सुरक्षा से लेकर कार्यक्रम को सकुशल संपंन होने की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन ने ली। खुद मनोज तिवारी कार्यक्रम मे शरीक होकर शाहरुख खान का न सिर्फ हौसलाफजाई किया, बल्कि फिल्म हिट नहीं सुपरहिट होने का उन्हें आर्शीवाद भी दिया। लोग एक बार फिर से शाहरुख और अनुष्का की जोड़ी को देखने के लिए बेताब हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि फिल्म के गाने अब तक लोगों की जुबां पर चढ़ चुके हैं। यूथ में इस फिल्म के गाने खूब पसंद किए जा रहे हैं। फिल्म की ज्यादातर शूटिंग यूरोप में हुई है। फिल्म में सस्पेंस और कॉमेडी का तड़का ठूस-ठूस कर भरा गया है। फिल्म 4 अगस्त को बड़े पर्दे पर रिलीज होगी।

srk-reachd-banaras
फिलहाल, ‘जब हैरी मेट सेजल‘ एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है। फिल्म में फिल्म में शाहरुख खान व अनुष्का शर्मा हीरो-हेराइन की मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म में शाहरुख खान व अनुष्का शर्मा ‘रब ने बना दी जोड़ी‘ (2008) और ‘जब तक है जान‘ (2012) के बाद तीसरी बार दोनों साथ-साथ नजर आयेंगे। इसमें खान एक पर्यटन गाइड यानी पंजाबी ब्वाय हैरी यानी हरिंदर सिंह नेहरा की भूमिका में हैं, जो एक छुट्टी पर यूरोप घुमने आई गुजराती महिला से मिलता है, जिसका किरदार अनुष्का निभाएंगी। फिर दोनों कैसे प्यार में पड़ते हैं- यही फिल्म की कहानी है। फिल्म के ट्रेलर में अनुष्का शर्मा अपनी सगाई अंगूठी को ढूढ़ रही हैं जिसमें शाहरुख उनकी मदद करते हैं। फिल्म में शाहरुख को सब हैरी कहकर पुकारते हैं। अनुष्का के डायलॉग में कुछ-कुछ गुजराती टच देखने को मिल रहा है। कहा जा रहा है कि शर्मा को अपनी भूमिका के लिए खुद को तैयार करने के लिए कई महीनों की शब्दावली प्रशिक्षण की आवश्यकता पड़ी, क्योंकि उनका किरदार गुजरात से है। इस फिल्म के शीर्षक में कई बदलाव हुए जिसमें रिंग, रहनुमा और रौला नाम शामिल हैं पर अंत में फिल्म का शीर्षक ‘जब हैरी मेट सेजल‘ रखा गया। इस बाबत जब फिल्म के डायरेक्टर इम्तियाज अली से मनोज तिवारी ने पूछा तो उन्होंने खुद कहा, अगर यह टाइटिल न रखता तो बनारसी मेरा खून कर देते। फिल्‍म में शाहरुख खान और इम्तियाज अली पहली बार साथ-साथ काम कर रहे हैं। 

ट्रेलर में शाहरुख खान बता रहे हैं कि उनका कैरेक्टर लडकियों के मामले में अच्छा नहीं है इसके बावजूद अनु्ष्का उनकी बातों पर यकीन नहीं करती हैं। एलएलबी अनुष्का गुजराती एक्सेंट में शाहरुख को जरूरी बातें समझा रही हैं। इसके अलावा फिल्म शाहरुख खान गुजराती लोगों के एक ग्रुप को ‘बाय-बाय‘ करते हुए काफी खुश नजर आते हैं। शाहरुख खुद से अनुष्‍का को दूर रखने के लिए कई तरह की ट्रिक ट्राई करते हुए नजर आऐंगे। फिल्म में शाहरुख और अनुष्‍का के बीच की केमिस्‍ट्री इतनी लुभावनी है कि युवा धड़कने झूमती नजर आएंगी। पंजाबी शाहरुख और गुजराती अनुष्‍का की इस लव स्‍टोरी में गाएं गए गाने रिलीज होने से पहले ही युवा दिलों की जुबां पर भी चढ़ चुके हैं। खास यह है कि फिल्म के एक गाने में शाहरुख खान ‘बटरफ्लाई‘ की तर्ज पर डांस करते हुए अनुष्‍का शर्मा को रिझाते नजर आयेंगे। कहा जा सकता है फिल्म में अनुष्का नए जमाने की सिमरन के रुप में दिख रही है। अब शाहरुख सरदार के किरदार में दर्शकों को फैन बना पाएंगे ये देखना खास होगा। जहां तक फिल्म के हीट होने का सवाल है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि फिल्म में अरिजित सिंह की मधुर आवाज में गाएं गए गीत ‘हवाएं‘ की ट्रेलर रिलीज के तुरंत बाद 24 घंटे में करोड़ों लोगों ने पसंद किया है। 

srk-reachd-banaras
एक दिन में ही यह गाना ऑनलाइन सबसे ज्‍यादा देखा गया। इस गाने ‘हवाएं‘ में शाहरुख और अनुष्‍का के बीच का रोमांस देखने लायक है। फिल्म का पहला गीत जाने-माने गायक सुखविंदर सिंह और सुनिधि चैहान की धुन ‘राधा’ बन कर अनुष्का शर्मा इस कदर थिरकती नजर आ रही है कि युवा धड़कने कुर्सी से उठ झूमने लगते हैं। ट्रेलर में शाहरुख और अनुष्का के बीच जबरदस्त नोकझोक देखने को मिल रही हैं। यह अलग बात है कि ‘जब हैरी मेट सेजल‘ का जब टीजर लॉन्च हुआ था, तब ‘इंटरकोर्स‘ शब्द पर काफी हो-हल्ला मचा था। दरअसल टीजर में अनुष्का, शाहरुख से बातचीत के दौरान इस शब्द का प्रयोग करती हैं। इस मामले पर सीबीएफसी चीफ पहलाज निहलानी ने कहा था कि इस शब्द को क्लियर नहीं किया जा सकता। फिर खबर आई कि फिल्म को सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट दे दिया है। जिससे यही मालूम होता है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म इस शब्द को पास कर दिया या फिल्म के डायरेक्टर इम्तियाज अली ने खुद ही उस शब्द को डिलीट कर दिया, यह संस्पेंस है। अब इस बात की सच्चाई तो फिल्म रिलीज होने के बाद ही सामने आएगी। 


रिलीज होने से पहले फिल्म लोगों के दिमाग में किस कदर छाया हुआ है इसकी झलक उस वक्त देखने को मिली जब शाहरुख खान और अनुष्‍का शर्मा ने गायक मनोज तिवारी के साथ भोजपुरी गीत ‘बगल वाली जान मारे ली,  गायी तो ‘हर-हर महादेव’ से पूरा वातावरण गूंजायमान हो उठा। मजा तब आया जब पब्लिक ने शाहरुख की इस परफॉर्मेंस को हाथों हाथ लिया। शाहरुख और अनुष्का को देखने के लिए इकट्ठा हुई भीड़ भी इस भोजपुरी गाने की लाइन को गाने लगी। इसपर मनोज तिवारी ने कहा कि देखिए काशी बोल रही है। इसके पहले बनारस में सड़क किनारे से पान खाकर शाहरुख और अनुष्का ने बनारस का दिल जीत लिया। कहा, अब कोई बनारस आए और यहां का फेमस पान ना खाए, ऐसा कैसे हो सकता है। मंच पर जैसे ही शाहरुख व अनुष्का ने बनारसी अंदाज में कहा-‘जियो रजा बनारस, का हाल बा’ ..सब झूम उठे। 23 मिनट तक फैंस के बीच रहे सितारे दीवानगी देख उन्हें ‘जबरा फैन’ कहने को विवश हो गए। स्टेज पर अनुष्का ने बताया कि वो फैजाबाद में जन्मीं हैं। इसपर शाहरुख ने मांग की कि अनुष्का के नाम फैजाबाद में एक सड़क जरूर बनाई जाए। खास यह रहा कि मनोज तिवारी ने ‘जब हैरी मेट सेजल‘ का भोजपुरी में अनुवाद किया-‘हैरिया मिलल सजलवा से’ तो जोरदार तालियां बजीं। इम्तियाज से मनोज ने पूछा कि मूवी में खान न होते तो कौन होता। हंसते हुए अली ने कहा, यह दोनों न होते तो आज बनारसी मेरा खून कर देते दृ। कहा जा सकता है बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख का जादू काशीवासियों के सिर चढ़कर बोल रहा है। सबसे ज्यादा क्रेज युवतियों में उस वक्त देखने को मिला, जब अपने चहेते सितारे की एक झलक पाने के लिए घंटों धूप में बेताब रहीं। 





(सुरेश गांधी)
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...