अब तो शहाबुद्दीन को पार्टी से निकालने की हिम्मत दिखाये लालू : सुशील मोदी

sushil-modi-chalange-lalu-remove-0shahabuddain
पटना 31 अगस्त, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को सजायफ्ता मोहम्मद शहाबुद्दीन को पार्टी से बाहर करने की चुनौती देते हुए आज कहा कि बहुचर्चित तेजाब हत्याकांड में पूर्व सांसद की उम्रकैद की सजा बरकरार रखने के उच्च न्यायालय के निर्णय के बाद तो श्री यादव ने उन्हें पार्टी से निकालने का साहस दिखायें। श्री मोदी ने यहां कहा कि दुर्दांत मोहम्मद शहाबुद्दीन को चर्चित तेजाब कांड में निचली अदालत से मिली सजा को उच्च न्यायालय ने बरकरार रख कर यह जता दिया है कि ऐसे अपराधी को किसी तरह की रियायत नहीं दी जा सकती है। उन्होंने राजद अध्यक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि 45 से ज्यादा संगीन मामलों में आरोपित और अब तक सात मामलों में सजायफ्ता आपराधिक सरगना और वर्षों तक सीवान सहित पूरे बिहार का आतंक रहे शहाबुद्दीन को पार्टी से निकालना तो दूर निलम्बित करने तक की हिम्मत भी लालू प्रसाद नहीं दिखा पाएं। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि सीवान के व्यवसायी चन्द्रकेश्वर प्रसाद सिंह उर्फ चंदा बाबू के दो निर्दोष बेटों गिरिश और सतीश को 2004 में तेजाब से नहला कर ईंट-भट्ठा में फेंकने जैसी लोमहर्षक घटना को अंजाम देने वाले शहाबुद्दीन को लालू प्रसाद यादव अब तक संरक्षण क्यों देते रहे हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, “क्या अब भी लालू प्रसाद शहाबुद्दीन जैसे अपराधी को अपनी पार्टी की सर्वोच्च राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सम्मानित सदस्य बनाए रखेंगे।” भाजपा नेता ने कहा कि नाबालिग से बलात्कार के आरोपी राजबल्लभ यादव, रोड रेज में आदित्य सचदेवा की हत्या करने वाले रॉकी यादव और उसके पिता बिंदी यादव, आपराधिक रिकार्ड वाले सुरेन्द्र यादव जैसों को संरक्षण देने वाली राजद को कभी भी अपराधियों से परहेज नहीं रहा है। उच्च न्यायालय के फैसले के बाद श्री यादव अब तो शहाबुद्दीन जैसे आपराधिक सरगना को पार्टी से निकाल दें। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...