राजद बताये कि क्या शहाबुद्दीन और राजबल्लभ अहिंसा के ब्रांड अम्बेसडर हैं : सुशील मोदी

susil-modi-ask-question-to-rjd
पटना 17 अगस्त, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज अपने उपर हुए हमले और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव की राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की कर्मभूमि चम्पारण से यात्रा निकाले जाने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) बताये कि क्या हत्या के मामले में सजायाफ्ता पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन और बलात्कार के आरोपी विधायक राजबल्लभ यादव अहिंसा के ब्रांड अम्बेसडर हैं। श्री मोदी ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा, “जिस राजद के 15 साल के कार्यकाल में उसके समर्थकों ने लूट, रंगदारी-अपहरण और हत्या-बलात्कार की ताबड़तोड़ घटनाओं से लाखों लोगों को राज्य से पलायन के लिए मजबूर कर दिया था, उसे श्री लालू प्रसाद यादव महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने वाला अहिंसक दल बता रहे हैं। उनके इसी अहिंसक दल के शासन में दलितों की सामूहिक हत्याएं हुईं थीं।” उन्होंने कहा कि राजद बताये कि क्या शहाबुद्दीन और राजबल्लभ यादव अहिंसा के ब्रांड अम्बेसडर हैं। उप मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्विट में कहा, “श्री लालू प्रसाद यादव ने करोड़ों रुपये की बेनामी सम्पत्ति बेटे के नाम करायी, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का छापा पड़ने के बाद भी तेजस्वी यादव के इस्तीफा न देने पर अड़े रहे और अब कह रहे हैं कि जिधर से उनके पुत्र गुजरें, उधर से यदि कोई उनका विरोधी गुजरेगा तो हमला होगा।” उन्होंने सवाल किया कि क्या गांधी जी की यही शिक्षा लेकर चंपारण से यात्रा निकाली गई है। उल्लेखनीय है कि श्री नीतीश कुमार के महागठबंधन से नाता तोड़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के साथ सरकार बनाने को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने विधानसभा चुनाव में मिले जनादेश का अपमान बताया और पार्टी विधायक दल के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने इसके विरोध में 09 अगस्त को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण से जनादेश अपमान यात्रा शुरू की। इस दौरान वह श्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लगातार हमला बोलते रहे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...