विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 03 अगस्त

निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा : पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश

vidisha news
नगर परिषद शमशाबाद के अध्यक्ष को वापिस बुलाए जाने के लिए 11 अगस्त को मतदान होगा। निर्वाचन प्रक्रिया शांतिपूर्वक एवं निष्पक्ष रूप से सम्पन्न हो इसके लिए किए गए प्रबंधनो की आज कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनिल सुचारी ने अपने कक्ष में समीक्षा की। उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनीत कपूर, अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एचपी वर्मा, शमशाबाद के रिटर्निंग आफीसर श्री आरडीएस अग्निवंशी के अलावा सेक्टर मजिस्टेªट, जोनल अधिकारी ओर विभिन्न प्रकोष्ठों के नोडल अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर श्री सुचारी ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन के संबंध में जो दिशा निर्देश जारी किए गए है उनका अक्षरशः पालन कराया जाना सुनिश्चित हो। बारिश के दौरान मतदाता को मतदान केन्द्र में मत देने के संबंध में किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सेक्टर मजिस्टेªट और पुलिस अधिकारियों से कहा कि वे संयुक्त रूप से प्रत्येक मतदान केन्द्र का मौेके पर जायजा अनिवार्य रूप से लें। मतदान अवधि में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश ना हो के व्यापक प्रबंध सुनिश्चित करें। महिला कर्मचारियों की ड्यूटी अनुपातिक आधार पर लगाई जाए इस कार्य महिला एवं बाल विकास विभाग के अमले को दायित्व सौंपे जाए। उन्होंने निर्वाचन कर्मचारियों को प्रशिक्षण में ईव्हीएम मशीन की प्रायोगिक जानकारी अनिवार्य रूप से देने की बात कही। मतदाता सूची अद्यतन हो सभी 15 मतदान केन्द्रों पर लाइट व्यवस्था के साथ-साथ वैकल्पिक संसाधन ईजाद किए जाए। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पार्षद अपने वार्डक्षेत्र के मतदान केन्द्रों पर एक-एक पोलिंग एजेन्ट नियुक्त कर सकते है जबकि अध्यक्ष सभी 15 मतदान केन्द्रों के लिए पोलिंग एजेन्ट एवं सहायत एजेन्ट नियुक्त कर सकते है। मतदान कक्ष में एक ही एजेन्ट/ सहायक एजेन्ट दोनो में से कोई एक मौजूद रहेगा। पुलिस अधीक्षक श्री विनीत कपूर ने कहा कि मतदान के दौरान आवागमन बाधित ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने बस एवं अन्य बडे वाहन शहर के बाहर ही रूकवाने की व्यवस्था मतदान तिथि को की जाए। उन्होंने आसामाजिक तत्वों की धरपकड़ करने के निर्देश पुलिस विभाग के अधिकारियोें को दिए। प्रचार-प्रसार के दौरान पूर्ण निगरानी बरती जाए। शमशाबाद के थाना प्रभारी ने इस दौरान बताया कि निकाय क्षेत्र में 38 शस्त्र लायसेंसधारी है जिनमें से 33 के द्वारा जमा कराने की कार्यवाही की गई है। 13 प्रकरणों मे बाउण्डओवर की कार्यवाही की गई है। निर्वाचन प्रक्रिया सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न हो इसके लिए नाकाबंदी पाइंटों पर पुलिस की तैनाती अभी से की जाने लगी है। शमशाबाद के रिटर्निंग आफीसर श्री आरडीएस अग्निवंशी ने बताया कि मतदान दलो को शमशाबाद की शासकीय कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल के प्रागंण से निर्वाचन सामग्री दस अगस्त को वितरित की जाएगी। इसके लिए कर्मचारियों की ड्यूटी अभी से लगाई जा चुकी है इसी प्रकार मतदान सामग्री वापसी के लिए भी कर्मचारी तैनात किए जा चुके है। शासकीय कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल प्रांगण मेें ही स्ट्रांगरूम बनाया गया है। ईव्हीएम से मतगणना का कार्य भी इसी स्कूल के दो हाॅल में 16 अगस्त को किया जाएगा। मीडियाकर्मियों के लिए निर्वाचन अवधि में जारी होने वाले प्रवेश पत्रो के संबंध में भी उनके द्वारा जानकारी दी गई। 


द्वितीय प्रशिक्षण
प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी श्री एचएन नेमा ने बताया कि शमशाबाद में निर्वाचन प्रक्रिया को सम्पादित कराने वाले सभी कर्मचारी/अधिकारियों का संयुक्त प्रशिक्षण पांच अगस्त को डाइट परिसर में आयोजित किया गया है।

अपात्रों के नाम पोर्टल से विलोपित किए जाएंगे

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत अपात्र परिवारों, सदस्योे का भौतिक सत्यापन कर विलोपित करने एवं अलाभान्वित परिवारों की पात्रता पर्ची जारी करने के निर्देश निकाय एवं विकासखण्ड क्षेत्रों के अधिकारियों को कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा जारी किए गए है।  जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि जिले में जितनी संख्या में अपात्र व्यक्तियों के नाम पोर्टल पर विलोपित किए जाएंगे। उतनी ही संख्या में नवीन सत्यापित व्यक्तियों के नाम शामिल किए जा सकेंगे। प्राथमिकता के आधार पर बीपीएल परिवारों के पश्चात अनुसूचित जाति, जनजाति के नवीन सत्यापित परिवारों को जोडने की कार्यवाही की जाएगी। वार्डवार किन्ही कारणो से अस्तित्वहीन (मृत्यु हो जाने, पलायन करने, निवास नही करने या शादी हो जाने अथवा अन्यत्र समग्र आईडी प्रचलित होने इत्यादि) परिवारों, सदस्यों का भौतिक सत्यापन कर सूची तैयार कर पूर्व उल्लेखितों को विलोपित किया जाएगा। ऐसे हितग्राहियों की सूची वार्डवार समग्र आईडी के साथ विलोपित करने के कारण सहित क्षेत्रीय आपूर्ति अधिकारी को एक प्रति उपलब्ध कराई जाएगी। स्थानीय निकाय के लाॅगिन से डिलीट करने की कार्यवाही की जाएगी। उचित मूल्य दुकानो के विक्रेता एवं प्राप्त अस्तित्वहीन परिवार, सदस्य आईडी की सूची संलग्न कर उनका भौतिक सत्यापन कराकर सूची पुनः जिला आपूर्ति कार्यालय को  प्रेषित की जाएगी।निकाय एवं विकासखण्ड क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाकर भौतिक सत्यापन का कार्य दस दिवस में करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा संबंधितों को जारी किए गए है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...