बिहार में एसोसिएशन का झगड़ा सुलझे तो होगा क्रिकेट का विकास : राजीव शुक्ला

assosiation-fight-cauz-problame-for-bihar-cricket
पटना 09 सितंबर, इंडियन प्रीमियर क्रिकेट लीग (आईपीएल) के अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने बिहार में क्रिकेट प्रतिभाओं की हो रही अनदेखी पर आज कहा कि यहां जब तक चार अलग-अलग एसोसिएशन के बीच दावेदारी का झगड़ा नहीं सुलझेगा तबतक खिलाड़ी उभरकर सामने नहीं आ पाएंगे। श्री शुक्ला ने यहां आयोजित एक कॉन्कलेव में कहा, “बिहार में क्रिकेट प्रतिभाओं की कमी नहीं है। खिलाड़ियों के साथ वर्षों से अन्याय हो रहा है। यहां चार अलग-अलग एसोसिएशन हैं, जिनके बीच दावेदारी काे लेकर झगड़ा चल रहा है। अब यदि किसी एक एसोसिएशन के प्रतिनिधि को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की बैठक में बुलाया जाता है तो तीन अन्य एसोसिएशन के लोग उसके खिलाफ शिकायत लेकर पहुंच जाते हैं। ऐसे में जब तक कोई एक एसोसिएशन नहीं बनेगा तब तक बोर्ड से मान्यता भी नहीं मिलेगी और राज्य के प्रतिभावान खिलाड़ियों का भविष्य भी अंधकार में रहेगा।” आईपीएल अध्यक्ष ने छत्तीसगढ़ का उदाहरण देते हुये कहा कि वहां भी बिहार की तरह ही एसोसिएशन की दावेदारी को लेकर झगड़ा चल रहा था। लेकिन, उन्होंने सबको को मिलाकर एक एसोसिएशन बनाया तो उसे बीसीसीआई से मान्यता भी मिल गई। उन्होंने कहा कि यदि बिहारवासी राज्य के क्रिकेट का विकास करना चाहते हैं तो मिलकर एक एसोसिएशन बनायें ताकि उसे भी मान्यता मिल सके। श्री शुक्ला ने बिहार में आईपीएल का मैच करवाने की मांग पर कहा कि इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप राज्य में आधारभूत संरचना का विकास जरूरी है। उन्होंने कहा कि मैच कराने के लिए 30 से 35 हजार दर्शकों की क्षमता वाला स्टेडियम, दो पांच सितारा होटल, जिसमें कम से कम 300 लोगों की ठहरने की व्यवस्था हो, अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा के साथ ही पिच और अन्य सुविधाओं की जरूरत है, जो फिलहाल बिहार में नहीं है। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...