उद्घाटन से पहले बांध टूटना है भ्रष्टाचार का प्रमाण, नीतीश-ललन हैं दोषी, दें इस्तीफा-लालू

before-inauguration-dam-collapsed
पटना 20 सितम्बर, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बिहार के भागलपुर जिले में ट्रायल रन के दौरान पानी के दबाव से गंगा पंप नहर योजना के बांध की दीवार के अचानक टूट जाने के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह को दोषी ठहराते हुए उनसे इस्तीफा देने तथा मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की । श्री यादव ने आज यहां कहा कि भागलपुर जिले के कहलगांव में 828 करोड़ रुपए की लागत से तैयार बटेश्वर गंगा पंप नहर परियोजना का उद्घाटन आज सुबह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करने आने वाले थे। सभास्थल भी सज-धजकर तैयार था, लेकिन कल शाम ट्रायल रन के दौरान बांध की दीवार पानी के दबाव से टूट गयी। जिससे यह साबित होता है कि बांध के निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा गया और बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने कहा कि इसकी निगरानी का जिम्मा विभागीय मंत्री और मुख्यमंत्री का है । इस मामले में लापरवाही हुई है इसलिए जांच से पहले दोषी मंत्री और मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए । राजद प्रमुख ने कहा कि इससे पहले उत्तर बिहार में जो बाढ़ से तबाही हुई है इसके लिए भी मुख्यमंत्री और जल संसाधन मंत्री ही जिम्मेवार हैं । वह पहले से ही कहते रहे हैं कि बाढ़ अचानक आयी नहीं थी बल्कि उसे जानबूझकर बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि उत्तर बिहार में जब बाढ़ आयी थी तब जल संसाधन मंत्री ने कहा था कि तटबंध पर ग्रामीण अनाज रखते थे जिसके कारण वहां चूहों ने घर बना लिया था और इसी वजह से तटबंध टूट गये थे । अब जल संसाधन मंत्री बतायें कि भागलपुर में क्या घड़ियाल ने बांध की दीवार तोड़ी है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...