बिहार के चर्चित सृजन घोटाले में सीबीआई ने शुरू की पूछताछ

cbi-statrts-srijan-investigation
भागलपुर 01 सितम्बर,  बिहार के भागलपुर जिले में अरबों रुपये बहुचर्चित सृजन घोटाले की जांच कर रही केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आज यहां सृजन कार्यालय में छापेमारी कर कई लोगों से पूछताछ की। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि दिल्ली से आई सीबीआई की पंद्रह सदस्यीय टीम ने आज सुबह जिले के सबौर स्थित सृजन कार्यालय में छापा मारा और कई कर्मचारियों से घंटों पूछताछ की। टीम के अधिकारियों ने कार्यालय में उपलब्ध दस्तावेजों को कब्जे में लेकर इसकी जांच शुरु कर दी है । सूत्रों ने बताया कि ब्यूरो की टीम इस घोटाले के मुख्य अभियुक्त सृजन महिला विकास सहयोग समिति के पदधारकों, प्रशासनिक अधिकारियों, बैंक अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अलावा इससे लाभ लेने वाले अन्य लोगों की सूची तैयार कर उनकी चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा खंगालने में जुटी है। 


सीबीआई के अपर पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र मल्लिक के नेतृत्व में टीम के सदस्य इस घोटाले में अब तक गिरफ्तार किए गए लोगों और फरार चल रहे अधिकारियों के अलावा इससे जुड़े अन्य लोगों के संभावित ठिकानों की जानकारियां लेने में जुट गये हैं। गौरतलब है कि भागलपुर स्थित गैर-सरकारी संगठन सृजन महिला विकास सहयोग समिति के माध्यम से महिलाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाता था । वर्ष 2004 से 2014 की अवधि में सरकार द्वारा जारी राशि से करीब एक हजार करोड़ रुपये भागलपुर में स्थित गैर-सरकारी संगठन के खाते में अवैध तरीके से स्थानान्तरित कर लिए गए थे। विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए प्रदान की गई सरकारी राशि को सरकारी अधिकारियों, बैंककर्मियों और सृजन के कर्मचारियों की मिलीभगत से कई अन्य खातों में स्थानान्तरित कर दिया गया। इस मामले में अबतक 12 प्राथमिकी दर्ज कर 18 लोगों को गिरफ्तार किया गया है । वहीं, सृजन महाघोटाले में गिरफ्तार जिला कल्याण विभाग का नाजिर महेश मंडल की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो चुकी है । वहीं सृजन की सचिव प्रिया कुमार और उसका पति अमित कुमार के अलावा जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजीव रंजन सिंह अबभी फरार हैं । 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...