प्रद्युम्न की हत्या मामले में सात दिन में आरोप पत्र: पुलिस

chargesheet-in-seven-days-in-the-case-of-pradyumna-murder-police
गुरुग्राम,09 सितम्बर, हरियाणा पुलिस ने कहा है कि रेयान स्कूल के दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में अदालत में सात दिन के भीतर आरोप पत्र दाखिल कर मामले की सुनवाई जल्द से जल्द पूरी करने का आग्रह किया जायेगा। गुरुग्राम के पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि छात्र की हत्या मामले में बस कंडक्टर की संलिप्तता की पुष्टि हो गयी है। उन्होंने कहा कि इस मामले में यदि कोई और शामिल पाया जायेगा तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी । श्री खिरवार ने बताया कि सुरक्षा खामियों का पता लगाने के लिये एक समिति गठित की गयी है जिसकी रिपोर्ट सोमवार तक आ जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले की हर पहलू से जांच करने में जुटी हुई है और उम्मीद है कि जांच पूरी हो जाने के बाद वह सभी को संतुष्ट करने में सक्षम होंगे। गौरतलब है कि गुरुग्राम के रेयान स्कूल के दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की कल स्कूल के शौचालय में चाकू मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस घटना के बाद स्कूल के प्रधानाचार्य को निलंबित कर दिया गया था। हत्या के आरोप में स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया गया और उसे अदालत ने तीन दिन की हिरासत में भेज दिया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मीडिया से बातचीत में छात्र की हत्या को जघन्य अपराध बताया और कहा कि रिपोर्ट आने के बाद जो भी कोई इस मामले में दोषी पाया जायेगा,उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। श्री खट्टर ने कहा कि यह बहुत दु:खद घटना है और इससे उन्हें बहुत कष्ट हुआ है। छात्र के परिवार के प्रति पूरी सहानुभूति है। रिपोर्ट आने के बाद यदि कोई तथ्य छूट गया होगा तो सरकार केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने से पीछे नहीं हटेगी। उधर साेहना अधिवक्ता संघ ने छात्र की हत्या के आरोपी का मुकदमा नहीं लड़ने का एलान किया है। इस बीच,केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के प्रवक्ता रमा शर्मा ने कहा है कि छात्र की हत्या के संबंध में स्कूल से दो दिन के भीतर मामले की रिपोर्ट और प्राथमिकी की रिपोर्ट भेजने को कहा गया है। हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह मृतक छात्र के परिजनों से मिलने गये। उन्होंने प्रद्युम्न के अभिभावकों को भरोसा दिलाया है कि जांच में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरती जायेगी और जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद वह संतुष्ट होंगे। श्री सिंह ने सीबीआई से जांच की मांग के बारे में कहा कि आम लोगों की आदत हो गयी है और वह हर मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि यदि पुलिस की जांच संतोषजनक नहीं रही और लोग उससे संतुष्ट नहीं हुए तब इस पर बात करेंगे। छात्र की माँ ने कहा कि प्रधानाचार्य जब कल अस्पताल में आये तो उनके चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। अपने बेटे की हत्या की सीबीआई से जांच कराने की मांग करते हुए मृतक छात्र की मां ने निलंबित प्रधानाचार्य को गिरफ्तार करने की मांग की है। पुलिस ने कहा है कि इस घटना से सबक लेते हुए 15 दिन के अंदर शहर के स्कूलों के सुरक्षा ब्यौरा देने के लिये कहा गया है और 15 दिन के बाद स्कूलों का निरीक्षण शुरू किया जायेगा । पुलिस ने कहा कि दो दिन के भीतर एक व्यापक जांच की जायेगी जिसमें सुरक्षा गार्डों का सत्यापन जैसे पहलुओं की जांच की जायेगी। पुलिस का कहना है कि आरोपी का कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं था। स्कूल की सुरक्षा की जांच में लगी निजी एजेंसी के बारे में भी पूरी तहकीकात की जायेगी। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...