कांग्रेस ठहराया बीएचयू घटना के लिए कुलपति को दोषी,पुनिया, बब्बर समेत 100 हिरासत में

congress-blame-vc-babbar-punia-arrested
वाराणसी, 24 सितंबर, कांग्रेस ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू)में छेड़खानी के खिलाफ आंदोलनकारी छात्राओं पर ‘बर्बर’ पुलिस लाठी की निंदा करते हुए कुलपति प्रो0 गिरीश चंद्र त्रिपाठी को इसके लिए दोषी ठहराया है। पुलिस ने कांग्रेस नेता पी एल पुनिया और राज बब्बर समेत 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया और बाद में निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। कांग्रेस के प्रदेश अघ्यक्ष एवं पूर्व सांसद राज बब्बर ने आज शाम यहां कहा कि अपनी सुरक्षा की मांग कर रही छात्राओं पर बर्बर लाठी चार्ज करना हत्या की कोशिश की श्रेणी में आता है। उन्होंने हिंसक घटना के लिए प्रो0 त्रिपाठी जिम्मेदार ठहराया । उन्होंने कहा कि इस मामले में प्रो0 त्रिपाठी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में बेटियों पर इस प्रकार की बर्बर हमले की जितनी भी निंदा की जाये, वह कम है। जब वे श्री पुलिया के साथ लाठी चार्ज में घायल छात्राओं से मिलने जा रहे थे तो पुलिस ने उन्हें जाने नहीं दिया और गिरफ्तार कर लिया । उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भारतीय कुलपति के इस ‘दमनकारी’ कार्रवाई को बर्दास्त नहीं करेगी और छात्राओं के सुरक्षा की इस मांग के आंदोलन के साथ खड़ी रहेगी। बीएचयू में आयोजित “कैंडल मार्च” शामिल होने यहां आ रहे वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद पी0 एल0 पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और पूर्व विधायक अजय राय को 70 कांग्रेसियों समेत 100 से अधिक लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया । इनमें से 70 कांग्रेसी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि श्री पुनिया सहित तमाम नेताओं एवं उनके समर्थकों को गिरफ्तार कर स्थानीय पुलिस लाइन ले जाया गया, जहां लगभग दो घंटे बाद उन्हें निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। उन्हेंने बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता श्री पुनिया और श्री बब्बर बाबतपुर के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से शहर दाखिल होते ही रोक कर हिरासत में ले लिया गया है। दोनों नेताओं के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वाराणसी संसदीय क्षेत्र में मुकाबला कर चुके पूर्व विधायक अजय राय, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा सहित 70 कांग्रेसियों शिवपुर क्षेत्र में गिलट बाजार पुलिस चौकी पर कुछ समय के लिए हिरासत में रखा गया। हिरासत के दौरान कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता “रधुपति राधव राजा राम” जपते रहे। श्री पुनिया, श्री बब्बर और श्री राय को बीएचयू से करीब 25 किलोमीटर पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी अपने नेताओं की ‘गिरफ्तारी’ खबर मिलते ही बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचने लगते गए। कार्यकर्ताओं की भीड़ बढ़ती देख नेताओं गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जाया गया। उधर, सूत्रों ने बताया कि “पुलिस छावनी” में तब्दली बीएचयू परिसर में धरने पर बैठे आंदोलनकारी 25 से अधिक छात्रों को पुलिस हिरासत में लिया गया है। लेकिन इस बारे में पुलिस ने कोई जानकारी देने से इनकार किया है। बीएचयू के मुख्य द्वार पर कई सामाजिक संगठनों की ओर से घटना के खिलाफ कैंडल मार्च निकालना गया, जिसमें कांग्रेस नेता एवं वाराणसी के पूर्व सांसद राजेश मिश्र सहिमत बहुत से लोग शामिल हुए। बीएचयू के कर्मचारियों ने विश्वविद्यालय परिसर में कैंडल मार्च निकाल और इससे पहले दिन में काली पट्टी बांध कर शांति मार्च निकाला।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...