दुमका : मंत्री ने लिया संगोष्ठी में हिस्सा

  • जिला व प्रखंडस्तरीय सतर्कता समिति सदस्यों व जिला उपभोक्ता संरक्षण परिषद के सदस्यों के साथ मंत्री ने लिया संगोष्ठी में हिस्सा

minister-in-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) मंत्री खाद्य सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग झारखंड सरयू राय की अध्यक्षता में दिन गुरुवार (07 सितम्बर 2017) को इंडोर स्टेडियम, दुमका में दुमका सहित जामताड़ा, देवघर व गोड्डा के जिला सतर्कता समिति/प्रखंड सतर्कता समिति व जिला उपभोक्ता संरक्षण परिषद के सदस्यों के साथ संगोष्ठी एक संगोष्ठी आहुत की गई। दीप प्रज्जवलित कर मंत्री सरयू राय ने संगोष्ठी की शुरुआत करते हुए कहा कि प्रखंड, जिला व राज्यस्तर पर सतर्कता समिति का गठन हो चुका है। नगर स्तर व दुकान स्तर पर भी सतर्कता समिति के गठन का प्रयास किया जा रहा है। जिलास्तर पर खाद्य आपूर्ति से संबंधित शिकायतों के निपटारे की जिम्मेदारी अपर समाहर्ता को सौंपी गई है। उन्होंने कहा जिलास्तर पर शिकायतों का निपटारा न होने की स्थिति में खाद्य आयोग में अपनी लोग दर्ज करा सकते हैं। महीने भर के भीतर आपकी शिकायतों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक शिकायत निवारण कोषांग भी बनाया गया है जिसका टोल फ्री नंबर 18002125512 है। इस नम्बर पर भी आप अपनी शिकायतें दर्ज करवायी जा सकती हैं। टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज कराने के बाद शिकायतकर्ता व संबंधित जिला आपूर्ति पदाधिकारी के नंबर पर दो अलग-अलग मैसेज प्राप्त होगा। शिकायतकर्ता के लिये उनकी शिकायतों को दर्ज कर लेने संबंधी व संबंधित डीएसओ के नम्बर पर शिकायतों के विरुद्ध कार्रवाई का मैसेज प्राप्त होगा। मंत्री सरयू राय ने कहा कि अब तक 8, 000 शिकायतों में से 7, 000 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि सतर्कता समिति गोदामों के निरीक्षण के साथ ही खाद्य वितरण ससमय हो यह भी सुनिश्चित करेगी। अब गैस सिलेंडर की ही भांती केरोसिन तेल का सब्सिडी भी उपभोक्ता के बैंक खाते में ही डाली जाएगी। गोड्डा के विधायक अमित कुमार मंडल ने कहा कि सरकार द्वारा संगोष्ठी व अन्य तरीकों के माध्यम से सभी योजनाओं को पारदर्शी बनाने का प्रयास किया जा रहा है। सरकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है। पीजीआईएमएस के नोडल पदाधिकारी रितेश चंद्र गुप्ता ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया से संगोष्ठी के प्रतिभागियों को अवगत कराया। अपर निदेशक संजय कुमार ने जन वितरण व्यवस्था की पारदर्शिता हेतु विभाग द्वारा किए गए प्रावधानों की जानकारी से लोगों को अवगत कराया। खाद्य आयोग के सदस्य हलधर महतो व कंजूमर फोरम के अध्यक्ष ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। उप विकास आयुक्त शशि रंजन ने अपने संबोधन में मंत्री सरयू राय, मंचासीन अतिथियों व संगोष्ठी में भाग ले रहे प्रखंड व जिलास्तरीय सतर्कता समितियों के सदस्यों का स्वागत किया। जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने धन्यवाद ज्ञापन किया। मंच संचालन का दायित्व  जीवानंद यादव ने संभाला।  किया इस अवसर पर नगर परिषद अध्यक्षा अमिता रक्षित, जिला परिषद उपाध्यक्ष असीम मंडल, प्रखंड एवं जिलास्तरीय सतर्कता समिति के सदस्यगण, जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष व सदस्य तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। गोड्डा, देवघर व दुमका के कई जिलास्तरीय व प्रखण्डस्तरीय सर्तकता समिति सदस्यों ने डीलरों की मनमानी व राशनकार्डधारियों के बीच मनमाने तरीके से राशन वितरण की शिकायतें की। कई सदस्यों ने कहा कि जिस लाभुक को सही वजन के साथ समय पर राशन दी जानी चाहिए उन्हें प्राप्त नहीं होता। डीलर राशन को अवैध तरीके से एमओ व बिचैलियों की मदद से बाजार में उँची कीमत पर बेच देते हैं। राशनकार्डधारियों को इससे काफी परेशानियाँ होती है। पहाड़िया समुदायों के बीच डोर टू डोर डिलेवरी सिर्फ कहने की बातें रह गयी हैं। कई लोगों ने एमओ को डायरेक्ट इसके लिये जिम्मेवार बतलाया। एक प्रखण्ड सर्तकता समिति सदस्य ने जिक्र करते हुए कहा कि प्रति एक ड्रम किरोसिन तेल पर एक सौ रुपये व प्रति एक क्विंटल अनाज पर दो सौ रुपये की लेवी भी डीलरों से एमओ द्वारा ली जाती है जिसपर अंकुश लगाने की जरुरत है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...