सहकारिता के माध्यम से ग्रामीण अर्थ व्यवस्था बदलें :मोदी

cooperative-medium-rural-economy-change-modi
नयी दिल्ली 21 सितम्बर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नें आज कहा कि सहकारिता के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था में बड़ा बदलाव लाया जा सकता है जिससे सामान्य लोगों का जीवन सुरक्षित एवं खुशहाल हो सकता है । श्री मोदी ने यहां कृषि मंत्रालय और सहकार भारती की ओर से आयोजित लक्ष्मणराव ईनामदार जन्म शताब्दी समारोह एवं सहकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये कहा कि गांव केहर क्षेत्र में कठिनाइयां हैं जिसका सहकारिता आन्दोलन से समाधान किया जा सकता है । इसके लिये नयी पीढी को नयी ऊर्जा से प्रेरित करनें की जरुरत है । उन्होंने कहा कि सहकारिता देश के स्वभाव के अनुकूल है और इसका पनपना स्वाभाविक है । इसके लिये मिलकर पहल करने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि किसान वस्तुओं को खुदरा में खरीदता है और थोक में बेचता है। जबकि इसके ठीक उलट करने की आवश्यकता है। अगर किसान थोक में खरीदे और खुदरा में बेचे तभी वह बिचौलियों से बच पायेंगे । प्रधानमंत्री ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से डेयरी क्षेत्र में श्वेतक्रांति आयी है और यहां किसान थोक में खरीदता और बेचता है जिससे उसकी आमदनी बढी है ।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...