मधुबनी : केंद्र-राज्य सरकार की लापरवाही के कारण आई प्रलयंकारी बाढ़ : धीरेंद्र झा

  • बाढ़ राहत को ले भाकपा माले का समाहरणालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन

cpi-ml-protest-in-madhubani
मधुबनी। प्रलयंकारी बाढ़ से तबाह संपूर्ण जिले को बाढ़-ग्रस्त घोषित करने सहित विभिन्न मांगों को ले शुक्रवार को भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने समाहरणालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया। इससे पूर्व शहर के स्टेशन परिसर से निकले सैकड़ों कार्यकर्ताओं, युवाओं, महिलाओं के जत्थे ने शहर के विभिन्न मार्गों पर जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया और राज्य-केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। इस दौरान प्रदर्शनकारी संपूर्ण जिले को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित करने, प्रत्येक परिवार को सहाय अनुदान राशि देने, इस वर्ष का मालगुजारी शेष माफ करने, बटाईदारों सहित सभी किसानों को फसल क्षति का बिना शर्त मुआवजा देने, राहत वितरण में मची लूट-खसोट को बंद करने सहित विभिन्न तरह की मांग कर रहे थे। समाहरणालय पहुंचकर यह जुलूस सभा मे तब्दील हो गया। जहाँ सभा को संबोधित करते हुए मुख्यवक्ता पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेंद्र झा ने कहा कि केंद्र-राज्य सरकार की लापरवाही के कारण प्रलयंकारी बाढ़ आई है जो भारी तबाही मचाकर लाखों लोगों को बेघर कर चुकी है। खिलौने की तरह नदियों के तटबंध टूटे हैं जिससे भारी संख्या में जान-माल का नुकसान हुआ है। श्री झा ने कहा कि नेपाल में आये भूकंप के कारण नदियों के संरचनात्मक ढांचे में व्यापक परिवर्तन हुआ है। जिसके लिए उन्होंने बाढ़-सुखाड़ के स्थायी समाधान के लिए केंद्र सरकार को नेपाल सरकार से संपर्क स्थापित कर नदी-बाढ़ अध्ययन आयोग गठित करने की बात कही। सभा को संबोधित करते हुए जिला सचिव ध्रुवनारायण कर्ण ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के अधिकार के लिए प्रखंड-अनुमंडलों में आंदोलन को तेज किया जाएगा और पीड़ितों के द्वारा खुद से सूची तैयार की जाएगी। सभा को इनके अलावे अनिल कुमार सिंह, भूषण सिंह, अरुण कामत, योगनाथ मंडल, विजय दास, लक्ष्मण राय, सुभाषचंद्र प्रसाद, उत्तिम पासवान, शंकर पासवान, मो अकबर, गोपाल यादव, आमोद कर्ण, शांति सहनी, हरिश्चंद्र लाल कर्ण ने भी संबोधित किया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...