बिहार : भाकपा का विभिन्न ज्वलंत सवालों को लेकर राज्यव्यापी जन सत्यग्रह

cpi-protest-for-public-interest
पटना, 08 सितम्बर। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा 5-6 अक्टूबर को बाढ़-सुखाड़ सहित जनता के विभिन्न ज्वलंत सवालों को लेकर जिला समाहरणालय के समाने राज्यव्यापी जन सत्यग्रह आयोजित किया जायेगा। इस कार्यक्रम की तैयारी में पार्टी पूरी तरह जुटी हुयी है। इस जन सत्याग्रह कार्यक्रम के संदेष को जन-जन तक पहुँचाने के उद्देष्य से पार्टी की ओर से राज्यव्यापी पदयात्रा कार्यक्रम चलाया जा रहा है। राज्य के सभी जिलों में पदयात्रा कार्यक्रम 1 सितम्बर से ही शुरू हो गया है, और यह कार्यक्रम 10 सितम्बर तक चलेगा। पार्टी सदस्यों की साढ़े तीन हजार टोलियां सभी जिला में पदयात्रा कर रही है। इन पदयात्रियों में राज्य स्तर और जिलास्तर के नेता भी भाग ले रहे हैं। पदयात्री कंधे पर पार्टी का लाल झंडा लिये हुए गांवों और मुहल्लों में घर-घर जा रहे हैं और लोगों की समस्याओं को नोट कर रहे हैं, जिन्हें लेकर जनसत्याग्रह के माध्यम से केन्द्र एवं राज्य सरकार पर जन दवाब बनाया जायेगा। इसके साथ ही पदयात्री 5-6 अक्टूबर को होने वाले जन सत्याग्रह कार्यक्रम से संबंधित पर्चे भी लोगों में बांट रहे हैं तथा जन सत्याग्रह में शमिल होने के लिए उनसे अपील कर रहे हैं। आज यहां पार्टी के राज्य कार्यालय से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में यह बात कही गयी है। विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि पदयात्री बाढ़ प्रभावित जिलों में बाढ़ राहत का काम भी कर रहे हैं। बाढ़ में हुए जान-माल की क्षति, मवेषियों की क्षति, ध्वस्त हुए घरों की क्षति तथा खेतों में हुए फसलों के नुकसान के बारे में विस्तृत विवरणी संग्रह कर ये पदयात्री संबंधित जिलाधिकारियों से इसके क्षतिपूत्र्ति की मांग जनसत्याग्रह में करेंगे।

            
मधुबनी, खगड़िया, दरभंगा, समस्तीपुर, जहानाबाद, गया, रोहतास, अरवल औरंगाबाद, पूरब चंपारण, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सारण, शेखपुरा, वैषाली, षिवहर, नवादा, बक्सर, नालन्दा, मुंगेर, अररिया जिला के फारविसगंज, नरपतगंज, भरगामा आदि जिलों से प्राप्त सूचनाओं के अनुसार पदयात्रा के दौरान पार्टी द्वारा आयोजित होने वाले जन सत्याग्रह को व्यापक जन समर्थन मिल रहा है। अनेक जगहों में तो स्थानीय लोग भी पदयात्रा में शामिल हो रहे हैं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि जन सत्याग्रह अभियान का दूसरा चरण 11 सितंबर को शुरू होगा और 20 सितम्बर को समाप्त होगा। अभियान के इस दूसरे चरण में सात जीप जत्थे राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में जायेंगे और छोटी-बड़ी सभाओं के माध्यम से आम जनता को 5-6 अक्टूबर को होने वाले जन सत्याग्रह के महत्व और आवष्यकता को बताया जायेगा। प्रत्येक जीप जत्था पर राज्य स्तरीय नेता मौजूद रहेंगे। इन सभी जीप जत्थों को 10 सितम्बर को 3 बजे दिन में पटना स्थित जनषक्ति भवन के प्रांगण से झंडी दिखाकर रवाना किया जायेगा।  5-6 अक्टूबर को राज्य के सभी जिला समाहरणालयों के सामने विषाल जन सत्याग्रह आयोजित किया जायेगा इस जन सत्याग्रह में राज्य के कम से कम एक लाख पार्टी के नेता, कार्यकत्र्ता, हमदर्द एवं अन्य लोग शामिल होंगे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...