मधुबनी : डीएम ने किया स्वच्छता पखवारा के सफल आयोजन हेतु बैठक

dm-madhubani-take-meeting
मधुबनी, 23 सितम्बर; जिला पदाधिकारी, मधुबनी, श्री शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में शनिवार को विकास भवन सभागार में ग्राम समृद्धि एवं स्वच्छता पखवारा के सफल आयोजन हेतु बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला पदाधिकारी द्वारा उपस्थित पदाधिकारियों एवं कर्मियों को प्रखंड स्तर के सभी विभागो से समन्वय स्थापित कर ग्राम समृद्धि की दिशा में ग्राम सभा एवं कृषि सभा का आयोजन, युवाओं का पंजीकरण एवं स्वच्छता अभियान कार्यक्रम चलाये जाने का निर्देश दिया गया। जिला पदाधिकारी ने कहा ग्राम समृद्धि एवं स्वच्छा पखवारा के अंतर्गत महात्मा गांधी की जयंति 02 अक्टुबर 2017 के अवसर पर सभी ग्राम पंचायतो में पंचायत के कर्मी और प्रतिनिधि ग्राम सभा के आयोजन सुनिश्चित करेंगे। साथ ही सभी पंचायतो में स्वच्छता अभियान चलाये जाने का भी निर्देश दिया गया। इसी क्रम में पंचायत स्तर पर दो दिवसीय कृषि सभा के आयोजन का भी निर्देश दिया। इस अभियान के अवधि में प्रत्येक दिन आई.ई.सी. से संबंधित कार्यकलापो का जियो टैग्ड फोटोग्राफ अपलोड किये जाने की जिम्मेदारी नोडल पदाधिकारी की होगी। जिला पदाधिकारी ने दिनांक-28 से 30 सितम्बर को ग्राम पंचायतो में पखवाडे की तैयारी, पंचायत भवन में जागरूता एवं आई.ई.सी. सामग्री का प्रदर्षन करने का निर्देश दिया। 01 अक्टुबर को पंचायत सचिव एवं रोजगार सेवक के माध्यम से सभी जनप्रतिनिधियों एवं आम लोगो को आमंत्रित कर अभियान के बारे में सामान्य जानकारी एवं स्वच्छता अभियान शुरू करने का निर्देश दिया गया।  02 अक्टुबर को सुबह के पंचायत में स्थित विद्यालयो के अध्यापक से समन्वय स्थापित कर प्रभात फेरी में बच्चों को शामिल करने का निर्देश दिया गया। साथ ही बाल सभा, ग्राम सभा, जी.पी.डी.पी समीक्षा, ग्राम पंचायत परिषद की बैठक करने का निर्देश दिया गया। 3 से 7 अक्टुबर तक स्वच्छ हरित गांव के तहत ग्राम स्वच्छता अभियान, सडक के किनारो सार्वजनिक स्थानों से कचरे की सफाई, विद्यालयों में एम.डी.एम. व्यवस्थाओं की निरीक्षण, विद्यालयों की सफाई, आई.सी.डी.एस. केन्द्रो पर बच्चो का वजन जांच आदि कार्य पंचायत सचिव/पी.आर.एस., जीविका स्वंय सहायता समुह, आशा कार्यकर्त्ता के माध्यम से कराने का निर्देश दिया गया। 8 से 9 अक्टुबर तक कृषि सभाओं के माध्यम से मुर्गी पालन, मछली पालन को बढावा देने, एस.एच.जी. सदस्यो की बैठक का आयोजन करने का निर्देश दिया गया। 10 अक्टुबर को जी.पी.डी.पी. कार्यान्वयन की समीक्षा एवं विचार-विमर्ष को कहा गया। 11 अक्टुबर को मनरेगा कार्ययोजना तैयार करने एवं एस.एल.डब्लु.एम. पर विषेष ध्यान देने को कहा गया। 12 अक्टुबर पी.एम.ए.वाई.-जी. संबंधी लाभाथर््िायों की  सूची को सार्वजनिक करने, वृद्धावस्था, छात्रवृति, खाद्य सामग्री वितरण की समीक्षा करने का निदेष दिया गया। 13-14 अक्टुबर को कौषल विकास के तहत युवाओं का पंजीकरण एवं एकजुटता षिविर लगाने एवं दिनांक-15 अक्टुबर को कार्रवाई रिपोट(ए.टी.आर.) प्रस्तुतिकरण करने एवं जीपी रैंक को साझा करने का निदेष दिया गया। बैठक में उपविकास आयुक्त, सभी अनुमडंल पदाधिकारी, डीआरडीए निदेषक, जिला षिक्षा पदाधिकारी, जिला सुचना पदाधिकारी, कार्यक्रम पदाधिकारी, मनरेगा सभी प्रखंडो के आई.टी.सहायक, जीविका के प्रतिनिधि एवं अन्य लोग उपस्थित थे।   

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...