किसानों के साथ धोखा हुआ : अखिलेश

farmer-cheeted-akhilesh-yadav
लखनऊ, 10 सितंबर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज कहा कि कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ धोखा किया गया है और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को जवाब देना चाहिए कि बजट का पैसा कहां गया। अखिलेश ने कुशीनगर के रामकोला में किसान शहीद दिवस की 25वीं पुण्यतिथि पर एक जनसभा में कहा, 'कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ धोखा हुआ है। प्रदेश सरकार को जवाब देना चाहिए कि बजट का पैसा कहां गया? सभी किसानों का कर्ज माफ क्यों नहीं हुआ?' सपा की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में पिछले छह महीने की भाजपा सरकार में जहां एक ओर विकास रूक गया वहीं दूसरी ओर किसानों का कर्ज भी माफ नहीं हुआ। समाजवादी सरकार में प्रदेश में चीनी के संकट को दूर करने के लिये बंद चीनी मिलों को चलाने का काम हुआ था जिससे गन्ना किसानों को बड़ी राहत मिली थी। उन्होंने कहा कि किसानों को मंडियों और बाजार से जोड़ने के साथ उनके जीवन में खुशहाली लाने के लिये समाजवादी सरकार में सड़कों का तीव्र गति से निर्माण हुआ। मात्र 23 महीनों में विश्वस्तरीय आगरा एक्सप्रेस-वे के निर्माण से विकास का जो रास्ता हम लोगों ने दिखाया उसे केन्द्र और राज्य सरकार को आगे बढ़ाना चाहिए क्योंकि अधिक से अधिक सड़कों के निर्माण से विकास में तेजी आती हैं और गांवों के लिए रोजगार एवं समृद्धि का रास्ता खुलता है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि कब्रिस्तान, श्मशान, ईद, दीपावली, के नाम पर वोट मांगने वाले आज सत्ता में है जिनका विकास से कोई वास्ता नहीं है। उन्होंने कहा, 'जब बबूल का पेड़ लगाया है तब आम कहां से मिलेगा।' उन्होंने कहा कि सपा प्रदेश सरकार के झूठ का पुलिंदा खोलेगी। गरीबों, किसानों, नौजवानों, की लड़ाई सपा मजबूती से लड़ेगी। जनता के आक्रोश की वजह से ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं कर पायें लेकिन गोरखपुर के उपचुनाव में समाजवादी जनता के हक की लड़ाई लड़ेंगे और उसी में ये तय होगा कि जनता समाजवादियों के साथ है। उधर, राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने हरदोई में एक जनसभा के दौरान कहा, 'पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 'डिप्रेशन' में है। कुछ दिन आराम करें, सही हो जायेंगे।'

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...