भारत.पाक सीमा पर बाड़ लगाने का काम अगले वर्ष के अंत तक होगा पूरा:रिजिजू

नयी दिल्ली 18 सितम्बर, केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने कहा है कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर आधुनिक तकनीक से युक्त बाड़ लगाने का काम अगले वर्ष के अंत तक पूरा कर लिया जायेगा। भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल(फिक्की) और इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से ‘स्मार्ट बार्डर मैनजमेंट‘विषय पर आयोजित दूसरे सम्मेलन में आज यहां श्री रिजिजू ने कहा कि कई एजेंसियों के सीमा प्रबंधन से जुड़ा होने के कारण इस पर काम करने और प्रौद्योगिकी एवं तकनीक को लेकर देरी हो रही है। उन्होंने कहा कि जटिल निविदा प्रक्रिया और अन्य औपचारिकताओं के पूरा करने कारण इस काम में देरी हुई। इस तरह की चीजों को अब तुरंत दूर करने की जरूरत है। श्री रिजिजू ने इस काम में तेजी लाने के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों और सभी पक्षों के बीच बेहतर समन्वय और सहयोग की आवश्यकता पर बल देते हुए कि सीमा प्रबंधन तंत्र को तेजी से पूरा करने के लिए प्रौद्योगिकी अपनाने के साथ ही सोच भी बदलनी होगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि अगले वर्ष के अंत तक सीमा पर आधुनिक तकनीक से लैस बाड़ लगाने का काम पूरा कर लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि सीमा क्षेत्रों का विकास देश के आतंरिक इलाकों की तरह करना और इसे तर्कसंगत नजरिये से देखना होगा। समुद्री पुलिस को मजबूत करने के लिए सरकार आगे बढ़ रही है जिससे कि देश की लंबी तटीय सीमा को सुरक्षित बनाया जा सके। इसके लिए नीति निर्धारकों, रक्षा और सुरक्षा एजेंसियों के बीच अच्छा समन्वय बहुत जरुरी है। गृह राज्यमंत्री ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में सरकार हालांकि सुरक्षा और बुनियादी सुविधाओं को बेहतर बनाने पर तेजी से आगे बढ़ रही है। रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे ने कहा कि देश के सीमावर्ती राज्यों के समक्ष अलग-अलग चुनौतियां हैं। इन चुनौतियों में सीमा पर से आतंकवाद़,घुसपैठ,मादक पदार्थों की तस्करी,अलगाववादी आंदोलन,तस्करी आदि प्रमुख हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...