रोहिंग्या मुसलमानों को शरणार्थी का दर्जा नहीं मिलना अमानवीय : तारिक अनवर

पटना 22 सितम्बर, बिहार के कटिहार से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सांसद तारिक अनवर ने केन्द्र की
injustice-for-rohingya-tariq-anwar
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार से देश की संस्कृति और परंपरा के अनुरूप रोहिंग्या मुसलमानों को शरणार्थी का दर्जा दिये जाने की आज मांग करते हुए कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो यह अमानवीय होगा । श्री अनवर ने यहां दूरभाष पर यूनीवार्ता से बातचीत में कहा कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मानवता के आधार पर रोहिंग्या मुसलमानों को शरणार्थी का दर्जा देने की बात कही है, जो हर दृष्टिकोण से उचित है। उन्होंने कहा कि आयोग का यह कदम पूरी तरह से सही है और रोहिंग्या को शरणार्थी का दर्जा दिया जाना चाहिए । पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत की परंपरा भी यही रही है। इससे पूर्व श्रीलंका , बंग्लादेश और तिब्बत से आये लोगों को यहां शरणार्थी का दर्जा दिया गया है । उन्होंने कहा कि 1971 के बंग्लादेश युद्ध के बाद एक करोड़ से अधिक लोगों को शरणार्थी बनाकर रखा गया था।


श्री अनवर ने कहा कि पूर्व में इन तीनों देशों से आये हुए लोगों को यहां शरण देने में कोई कष्ट नहीं हुआ था तो अब रोहिंग्या मुसलमानों को शरणार्थी का दर्जा देने में क्या दिक्कत है। उन्होंने कहा कि विश्वपटल पर इस मामले में भारत का ट्रैक रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है। वैसे भी जब कोई कष्ट में हो तो उसकी मदद करनी चाहिए। राकांपा नेता ने कहा कि रोहिंग्या को धर्म और जाति के आधार पर नहीं देखा जाना चाहिए । यदि रोहिंग्या को शरणार्थी का दर्जा नहीं मिलता है तो यह देश की परंपरा और संस्कृति के विपरीत होने के साथ ही अमानवीय भी होगा। उल्लेखनीय है कि रोहिंग्या मुसलमानों को देश में शरणार्थी का दर्जा देने या नहीं देने पर छिड़ी बहस के बीच केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय में रोहिंग्या को अवैध आप्रवासी बताते हुए उन्हें देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...