12 अक्टूबर को लोहिया की पुण्य तिथि पर बाल-विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ जदयू का अभियान

jdu-against-dowry-child-marriage
पटना 24 सितम्बर, बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड(जदयू) 12 अक्टूबर को जाने -माने समाजवादी राम मनोहर लोहिया की पुण्य तिथि के अवसर पर बाल -विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ समाज में जागृति लाने के उद्देश्य से राज्यव्यापी कार्यक्रम का आयोजन करेगी । बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के यहां सरकारी आवास पर पार्टी की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वृक्षा रोपण और शराबबंदी में सक्रिय सहयोग के बाद अब उनकी पार्टी बाल-विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ लोगों में जागरूकता लाने के लिये सघन अभियान चलाये जाने का फैसला लिया है । उन्होंने कहा कि पार्टी राजनीतिक कार्यों के साथ-साथ सामाजिक जिम्मेवारी को भी पूरा करने के लिये लगातार प्रयास करती रहती है । श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार के मार्गदर्शन में जदयू देश में पहला राजनीतिक दल है जिसने वृक्षा रोपण को सदस्यता अभियान से जोड़ा था । उन्होंने कहा कि इसके सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं और बाल -विवाह तथा दहेज प्रथा के खिलाफ पार्टी की ओर से लोगों में जागृति लाये जाने का प्रयास भी काफी सफल होगा । उन्होंने कहा कि लोक नायक जयप्रकाश नारायण ने भी दहेज प्रथा को समाप्त करने के लिये अभियान चलाया था । 

इस मौके पर जदयू के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद आर सी पी सिंह ने कहा कि बाल-विवाह और दहेज प्रथा जैसी कुरीतियां समाज को कमजोर कर रहीं हैं और इसे दूर करने के लिये संगठित प्रयास किये जाने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से राम मनोहर लोहिया की पुण्य तिथि के अवसर पर 12 अक्टूबर को राज्यव्यापी कार्यक्रम आयोजित कर लोगों में बाल-विवाह और दहेज प्रथा को समाप्त करने के लिये जागृति लायी जायेगी और यह अभियान आगे भी चलाया जाता रहेगा । राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि पार्टी ने अगले वर्ष जून तक के लिये संगठन को मजबूत करने के उद्देश्य से कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया है । प्रत्येक माह के पहले रविवार को पूर्वाह्न 11 बजे से प्रखंड पदाधिकारी / कार्यकारिणी के साथ बैठक करेंगे । इसके बाद अपराह्न दो बजे से पार्टी के प्रखंड / सेक्टर (नगर क्षेत्र ) अध्यक्ष अपनी अध्यक्षता में प्रखंड पदाधिकारी / कार्यकारिणी एवं प्रकोष्ठों के प्रखंड / सेक्टर (नगर क्षेत्र) अध्यक्ष की संयुक्त बैठक करेंगे । उन्होंने कहा कि इसी तरह प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को जिला पदाधिकारी , कार्यकारिणी के साथ बैठक करेंगे तथा इसके बाद पार्टी के जिला /नगर अध्यक्ष अपनी अध्यक्षता एवं संगठन प्रभारी की उपस्थिति में जिला पदाधिकारी / कार्यकारिणी एवं प्रकोष्ठों के जिला / नगर अध्यक्ष के साथ बैठक करेंगे । श्री सिंह ने कहा कि प्रखंड स्तर पर सात जनवरी 2018 , चार फरवरी , चार मार्च , एक अप्रैल , छह मई और तीन जून को बैठक होगी जबकि जिला स्तर पर इस तरह की बैठक 14 जनवरी 2018 , 11 फरवरी , 11 मार्च , 08 अप्रैल , 13 मई और 10 जून को होगी । उन्होंने कहा कि प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रत्येक माह के तीसरे रविवार को पूर्वाह्न 11 बजे से प्रदेश पदाधिकारी/ राज्य कार्यकारिणी के साथ बैठक करेंगे । यह बैठक 21 जनवरी 2018 , 18 फरवरी , 18 मार्च , 15 अप्रैल , 20 मई और 17 जून को होगी । 


राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि प्रदेश पदाधिकारियों एवं राज्य कार्यकारिणी सदस्यों की हर दूसरे माह के चौथे रविवार को पूर्वाह्न 11 बजे से संयुक्त बैठक आयोजित की जायेगी । उन्होंने कहा कि यह बैठक 28 जनवरी 2018 , 25 मार्च और 27 मई को होगी । प्रदेश से पंचायत स्तर तक राष्ट्र नायकों की जयंती मनाये जाने का फैसला लिया गया है । उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अलावा पार्टी की ओर से पंचायत से प्रदेश स्तर तक दो अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती , 23 मार्च को राम मनोहर लोहिया जयंती , 11 अक्टूबर को जयप्रकाश नारायण जयंती , 14 अप्रैल को भीम राव अम्बेदकर जयंती , 24 जनवरी को कर्पूरी ठाकुर जयंती तथा एक अप्रैल को मद्य निषेध दिवस मनाया जायेगा । श्री सिंह ने कहा कि 15 ,16 ,17 और 18 नवम्बर को बिहार के 38 जिलों में पार्टी की ओर से सम्मलेन आयोजित किया जायेगा । उन्होंने कहा कि ऐसे सम्मेलन से संगठन को मजबूती मिलेगी और बूथ स्तर तक संगठन को सशक्त बनाने का प्रयास किया जायेगा । उन्होंने कहा कि संगठन की ओर से आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों का कलेंडर अगले वर्ष जून तक के लिये तैयार कर लिया गया है । प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने इसके बाद पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि जदयू किसी भी दल को तोड़ने में विश्वास नहीं रखता । उन्होंने कहा कि जदयू पर कांग्रेस को तोड़ने का बेबुनियाद आरोप लगाया जा रहा है । उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि बिहार कांग्रेस में कोई समस्या है तो यह बिल्कुल पार्टी का अंदरूनी मामला है और जदयू का इससे कोई लेना-देना नहीं है । 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...