झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 सितम्बर

षिक्षक षिक्षा जगत को होती है मजबूत नींव -ः डाॅ केके त्रिवेदी
  • षिक्षक दिवस पर उत्कृष्ट प्राथमिक विद्यालय की 4 षिक्षिकाओं का किया गया भावभरा सम्मान

vidisha news
झाबुआ। आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 5 सितंबर षिक्षक दिवस के अवसर पर षिक्षकों का सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। ट्रस्ट द्वारा इस बार ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालय में अध्ययन कार्य करवा रही षिक्षिकाओं का समारोह रखकर उनका भावभरा सम्मान किया गया। आसरा ट्रस्ट द्वारा शासकीय उत्कृष्ट प्राथमिक विद्यालय खांडिया खाल में मंगलवार को दोपहर 11 बजे सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में सेवानिवृत्त प्राचार्य डाॅ. केके त्रिवेदी उपस्थित थे। अध्यक्षता ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने की। विषेष अतिथि के रूप में मार्केटिंग के अध्यक्ष सोमसिंह सोलंकी एवं ग्राम पंचायत उप सरपंच श्रीमती पांगली हिहोर उपस्थित थी। शुभारंभ अवसर पर मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्र्याण एवं दीप प्रज्जवलन अतिथियों द्वारा किया गया। पश्चात् अतिथियों का स्वागत संस्था स्टाॅफ एवं विद्यार्थियों द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि डाॅ. केके त्रिवेदी ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज हमे अत्यंत गर्व महसूस हो रहा है कि हम ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालय की षिक्षिकाओं का सम्मान कर रहे है। ग्रामीण क्षेत्रों में प्राय अव्यवस्थाओं एवं असुविधाओं के बीच भी षिक्षक-षिक्षिकाएं अपना अध्यापन कार्य पूरी निष्ठा एवं लगन के साथ करते है। यह प्राथमिक विद्यालय भी ऐसा ही है, जहां की षिक्षिकाएं विपरित परिस्थितियों मंे भी अपना कार्य बूखबी तरीके से कर रहीं है, जिसकी जितनी प्रसंषा की जाए, उतनी ही कम है।



शाला के बच्चें काफी संस्कारवान है
ट्रस्ट संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने कहा कि यहां षिक्षिकाओं द्वारा अपने कार्य के प्रति सराहनीय सेवाएं देने से विद्यालय के बच्चें काफी संस्कारवान है। यहां के बच्चे हिन्दी के साथ अंग्रजी भी अच्छी तरीके से बोल लेते है तथा अध्ययन के साथ अन्य कार्यों मंे भी वह रूचि लेकर उसे पूरा करते है। श्री नागर ने इस अवसर पर शाला प्रबंधन की स्वीकृति अनुसार आगामी दिनों मंे अन्य कार्यक्रम किए जाने की भी बात कहीं। विषेष अतिथि मार्केंटिंग अध्यक्ष श्री सोलंकी ने उक्त गरिमामय आयोजन के लिए ट्रस्ट का आभार माना तथा कहा कि शासन की भी मंषा है कि गा्रमीण क्षेत्रों के षिक्षक-षिक्षकाओं के साथ विद्यार्थियों को अध्ययन कार्य के प्रति प्रोत्साहन मिले। इस क्षेत्र में प्रदेष सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे है।

4 षिक्षिकाओं का किया सम्मान
उद्बोधन पश्चात् अतिथियों द्वारा संस्था की सहायक षिक्षिका श्रीमती रेण कछावा, सहायक अध्यापिका श्रीमती पुष्पा डामोर एवं कु. आषा बोरासी एवं कु. कमला बामनिया का पुष्प गुच्छ भेंटकर शाल ओढ़ाकर एवं श्रीफल भेंटकर भावभीना सम्मान किया गया। अपने सम्मान के प्रतिउत्तर में समस्त षिक्षिकाओं ने ट्रस्ट के प्रति कृतज्ञता भी व्यक्त की। इस अवसर पर बच्चों का उत्साहवर्धन पर उन पर भी पुष्प वर्षा की एवं उन्हें बिस्कीट के पैकेट वितरित किए गए। सम्मान समारोह का संचालन ट्रस्ट की आजीवन अध्यक्ष श्रीमती वंदना व्यास ने किया एवं आभार श्रीमती पुष्पा डामोर ने माना।

गरिमामय समारोह में जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री भंडारी ने किया पदभार ग्रहण
  • शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्रथम बार हुए गौरवमयी सम्मान से प्राध्यापक हुए अभिभूत

vidisha news
झाबुआ। शासकीय शहीद चन्द्रषेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ में 5 सितंबर अनंत चतुर्दषी एवं षिक्षक दिवस के उपलक्ष में गरिमामय समारोह का आयोजन हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार की उपस्थिति में मप्र शासन उच्च षिक्षा विभाग मंत्रालय द्वारा मनोनीत जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष यषवंत भंडारी ने शुभ मुर्हुत मंे पदभार ग्रहण किया। इस समारोह को ओर ऐतिहसिक बनाते हुए इस अवसर पर महाविद्यालय के 5 वरिष्ठ प्राध्यापकों का, उनकी पदस्थापना के क्रम में सम्मान भी किया गया। ऐसा पहला अवसर रहा कि जब काॅलेज के प्राध्यापकों का जनभागीदारी समिति द्वारा सम्मान किया गया, जिससे सम्मानित प्राध्यापक काफी अभिभूत हुए और उन्होंने इस हेतु जनभागीदारी समिति का ह्रदय से आभार व्यक्त किया। समारोह के प्रारंभ में संस्था परिसर में स्थापित चन्द्रषेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण मुख्य अतिथि श्री भावसार के साथ जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री भंडारी, पूर्णकालिक नवीन कुवादे, जिला मंत्री गोपालसिंह पंवार, भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेष महामंत्री कल्याणसिंह डामोर, रोटरी क्लब अध्यक्ष उमंग सक्सेना, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, सचिव कमलेष पटेल आजाद साहित्य परिषद् के जिला सचिव शरत शास्त्री, वरिष्ठ रोटेरियन जयेन्द्र बैरागी, प्रतापसिंह सिक्का, भारतीय जैन संगठना के जिलाध्यक्ष अषोक संघवी, आईसना के जिलाध्यक्ष संजय जैन, अभा राजेन्द्र जैन नवयुवक परिषद् के महामंत्री निखिल भंडारी, रोटरेक्ट क्लब उपाध्यक्ष दौलत गोलानी, भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अंबरीष भावसार आदि द्वारा किया गया। पश्चात् यहां आजाद अमर रहे एवं भारत माता के जयघोष लगाए गए। तत्पश्चात संस्था के मुख्य प्रवेष द्वार पर स्थापित मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर भी माल्यार्पण किया गया। पश्चात् प्राचार्य कक्ष में गरिमामय समारोह प्रारंभ हुआ। जिसमें अतिथियों का स्वागत महावि़द्यालय के प्राध्यापकों एवं अभाविप के पदाधिकारियों द्वारा किया गया।

शुभ मुर्हुत में पदभार ग्रहण किया
ठीक 12.39 बजे शुभ मुर्हुत में यषवंत भंडारी द्वारा महाविद्यालय के जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पदभार ग्रहण किया, उन्हें पदभार जनभागीदारी समिति के प्रभारी डाॅ. गोपाल भूरिया द्वारा ग्रहण करवाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार एवं संस्था प्राचार्य एचआर अनिजवाल उपस्थित थे। पदभार ग्रहण करने के पश्चात् श्री भंडारी ने कहा कि वे महावि़़द्यालय में जनभागीदारी अध्यक्ष पद पर रहकर काॅलेज में व्याप्त अव्यवस्थाओं एवं समस्याओं को दूर करने का प्रयास करेंगे, महाविद्यालय में जिन चीजों की आवष्यकता होगी, उसकी पूर्ति करेंगे।

5 वरिष्ठ प्राध्यापकों का हुआ सम्मान
पश्चात् कार्यक्रम में 5 वरिष्ठ प्राध्यापकों का सम्मान, उनकी पदस्थापना के क्रम से किया गया। जिसमें सबसे पहले संस्था की वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. गीता दुबे का सम्मान शाल ओढ़ाकर एवं श्रीफल भेंटकर अतिथियों के साथ वरिष्ठ अभिभाषक श्रीमती अर्चना राठौर ने किया। इसके पश्चात् सुरेषचन्द्र जैन, श्रीकांत शाह एवं श्रीमती मंजुला गिरवाल तथा जेएस भूरिया का सम्मान अतिथियों द्वारा तिलक लगाकर, शाल ओढ़ाकर तथा श्रीफल भेंटकर किया गया। इस अवसर पर सम्मानित पा्रध्यापकों ने अपने अनुभव भी उपस्थित सदन में समक्ष साझा किए तथा इतना गरिमामय तरीके स उनका पहली बार सम्मान होने पर उन्होंने जनभागीदारी समिति के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की।



जनभागीदारी समिति ने निरंतर किए महाविद्यालय के प्रगति के कार्य
समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार ने बताया कि उनका राजनीतिक कैरियर इसी महाविद्यालय के शुरू हुआ है, वे पूर्व में जनभागीदारी समिति में भी रह चुके है, उनके कार्यकाल एवं अन्य जनप्रतिनिधियों के अध्यक्षीय कार्यकाल के दौरान भी जनभागीदारी समिति ने महाविद्यालय को प्रगति के मार्ग पर अग्रसर किया। अब श्री भंडारी अध्यक्ष के रूप में इसी कार्य को आगे बढ़ाने के साथ काॅलेज में विकास एवं सुविधाएं स्थापित करने के लिए अनेक कार्य करेंगे। इस अवसर पर संस्था प्राचार्य श्री अनिजवाल ने श्री भंडारी को पदभार ग्रहण करने पर शुभकामनाएं प्रेषित की।

आतिश्बाजी की गई
समारोह का संचालन वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. गीता दुबे ने किया एवं आभार भाजपा के नगर मंडल उपाध्यक्ष एवं अभाविप के पूर्व वरिष्ठ पदारधिकारी अंकुर पाठक ने माना। इस अवसर पर महाविद्यालयीन स्टाॅफ सहित अभाविप के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे। समारोह के अंत में जनभागीदारी समिति अध्यक्ष श्री भंडारी द्वारा पदभार ग्रहण करने पर अभाविप द्वारा जष्न मनाते हुए आतिष्बाजी भी की गई।

झाबुआ के राजा का निकला महाविसर्जन जुलूस, क्रेन से अनास नदी पर देर शाम किया प्रतिमा का विसर्जन

jhabua news
झाबुआ। शहर के कस्तूरबा मार्ग से अनंत चतुदर्षी के अवसर पर झाबुआ का राजा (सबसे बड़ी गणेषजी की प्रतिमा) का महाविजर्सन जुलूस निकाला गया। यह जुलूस शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए रंगपुरा स्थित अनास नदी पर देर शाम पहुंचा, जहां क्रेन की सहायता से करीब 15 फिट उंची गणेषजी की प्रतिमा का विजर्सन किया गया। महाविसर्जन जुलूस दोपहर 1 बजे से शुरू हुआ। जिसमें आगे डीजे पर धार्मिक गीतों से पूरा शहर गूंजायमान हुआ। इसके पीछे झाबुआ के राजा ग्रुप के सदस्यगण नृत्य करते एवं गुलाल उड़ाते हुए चल रहे थे। जुलूस में बड़ी संख्या मंे शहर के नागरिकजन शामिल हुए। सबसे पीछे ट्रेक्टर पर झाबुआ के राजा की प्रतिमा विराजित की गई। यह जुलूस शहर के नेहरू मार्ग, श्री गौवधननार्थ मंदिर तिराहा, आजाद चैक, बाबेल चैराहा, थांदला गेट, मेन बाजार, जिला चिकित्सालय मार्ग, विजय स्तंभ तिराहा, दिलीप गेट, मेघनगर नाका होते हुए रंगपुरा स्थित अनास नदी पर पहुंचा। जहां झाबुआ के राजा ग्रुप द्वारा गणेषजी के जमकर जयकारों के साथ झाबुआ के राजा की प्रतिमा का के्रन ही सहायता से विसर्जन किया गया।

श्रीमद्भागवत कथा साक्षात भगवान श्रीकृष्ण का दर्शन है. केवल कृष्ण का नाम ही आधार है जो भवसागर से पार लगाते हैं।- पण्डित अनुपानंनद
  • आज  भागवत कथा का होगा समापन निलेगी नगर मे शोभायात्रा

झाबुआ । श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के छटवे दिन भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं में गांेवर्धन पूजा एवं कंस वध का चित्रण किया गया। पण्डित अनुपानंद  ने कहा कि श्री कृष्ण ने गोपियो के मन रूपी माखन को चुराया है, चीर हरण के समय भगवान श्री कृष्ण ने गोपियों के अज्ञान रूपी वस्त्रों का हरण किया है। इसलिये कहा गया है कि भगवान का चरित्र मनुष्य के अज्ञान का नाश करता है, इसी के चलते जीवन में ज्ञान रूपी प्रकाश पैदा होता है। पण्डित अनुपानंनद ने कहा कि ज्ञान और भक्ति के बिना मानव जीवन अधूरा है, उन्होंने श्रोताओं का ध्यानाकर्षित करते हुये कहा कि गौ कि सेवा सबसे बड़ी सेवा है इसकी रक्षा करना हमारा सबसे बड़ा धर्म है। भगवान श्री कृष्ण ने भी अपने सखा के संग हजारों गायों की सेवा की है। गोवर्धन पूजा का वृतांत सुनाते हुये कहा कि इंद्र के अहंकार को नष्ट करने के लिये भगवान ने गोवर्धन पर्वत को सात साल की उम्र में ही ऊंगली पर उठा लिया था, भगवान ने वृज वासियों की रक्षा की। श्री पदमवंशीय मेवाडा राठौर तेली समाज द्वारा समाज की घर्मशाला में आयोजित कथा में गोवर्धन पूजा की संगीत मय आकर्षक प्रस्तुति की गयी। छप्पन भोग का प्रसाद भगवान को अर्पित किया गया। कथा के छठवे दिन महारासलीला, कंस वध, उद्धव गोपी संवाद आदि का वर्णन किया गया । कथा वाचक पंडित अनुपानंद महाराज ने कहा कि गुरु ही मोक्ष के द्वार खोलते हैं गुरु के बिना ईश्वर की प्राप्ति संभव नहीं है। उन्होने उपस्थित श्रद्धलुओं को बताया कि भगवान श्रीकृष्ण ने जन्म लेते ही कर्म का चयन किया। नन्हें कृष्ण द्वारा जन्म के छठे दिन ही शकटासुर का वध कर दिया, सातवें दिन पूतना को मौत की नींद सुला दिया। तीन महीने के थे तो कान्हा ने व्योमासुर को मार गिराया। प्रभु ने बाल्यकाल में ही कालिया वध किया और सात वर्ष की आयु में गोवर्धन पर्वत को उठा कर इंद्र के अभिमान को चूर-चूर किया। गोकुल में गोचरण किया तथा गीता का उपदेश देकर हमें कर्मयोग का ज्ञान सिखाया। प्रत्येक व्यक्ति को कर्म के माध्यम से जीवन में अग्रसर रहना चाहिए।  कथा कार ने कहा कि मनुष्य जन्म लेकर भी जो व्यक्ति पाप के अधीन होकर इस भागवत रुपी पुण्यदायिनी कथा को श्रवण नहीं करते तो उनका जीवन ही बेकार है और जिन लोगों ने इस कथा को सुनकर अपने जीवन में इसकी शिक्षाएं आत्मसात कर ली हैं तो मानों उन्होंने अपने पिता, माता और पत्नी तीनों के ही कुल का उद्धार कर लिया है. उन्होंने कहा कि श्रीकृष्ण ने गौवर्धन की पूजा करके इद्र का मान मर्दन किया. भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने का साधन गौ सेवा है. श्रीकृष्ण ने गो को अपना अराध्य मानते हुए पूजा एवं सेवा की. याद रखो, गो सेवक कभी निर्धन नहीं होता.। श्रीमद्भागवत कथा साक्षात भगवान श्रीकृष्ण का दर्शन है। यह कथा बड़े भाग्य से सुनने को मिलती है। इसलिए जब भी समय मिले कथा में सुनाए गए प्रसंगों को सुनकर अपने जीवन में आत्मसात करें, इससे मन को शांति भी मिलेगी और कल्याण होगा। कलयुग में केवल कृष्ण का नाम ही आधार है जो भवसागर से पार लगाते हैं। परमात्मा को केवल भक्ति और श्रद्धा से पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि परिवर्तन इस संसार का नियम है यह संसार परिवर्तनशील है, जिस प्रकार एक वृक्ष से पुराने पत्ते गिरने पर नए पत्तों का जन्म होता है, इसी प्रकार मनुष्य अपना पुराना शरीर त्यागकर नया शरीर धारण करता है। भागवत कथा में पण्डित अनुपानंदजी ने लोगों को उपदेश देते हुए कहा मानव के कष्ट हरण करने के लिए भगवान ने अनेक लीलाएं कीं, काम, क्रोध, लोभ, मोह व अहंकार ही शरीर के शत्रु हैं. भक्ति की शक्ति अथवा सत्संग के प्रभाव से इन पर काबू पाया जा सकता है. सत्संग रूपी कथा अमृत जीवन से परिवर्तन आता है. भागवत कथा जीने की कला सिखाता है. धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की कला सत्संग के प्रभाव से मिलते हैं. यदि व्यक्ति धर्म का आचरण करता है, तो धर्म द्वारा अर्जित अर्थ से धन से अपनी कामनाओं की पूर्ति करता है, तो उसकी सहज मुक्ति होती है, लेकिन अधर्म से कमाए धन से जीव तामसिक वृद्धि होती है. काम, क्रोध, लोभ, मोह व अहंकार ये तीनों नरक गामी बनाता है. कथा के पश्चात् छप्पन भोग लगाया गया एवं लोगों ने संगीतमयी कथा पर जमकर नाचे । भागवत कथा में मंगलवार को भगवान को 56 भोग का नैवेद्य भी अर्पण किया तथा आरती प्रसादी का वितरण किया । आज बुधवार को भागवत कथा का अंतिम दिन है । इस अवसर पर भागवत जी का नगर में विशाल चल समारोह का आयोजन कथा समापन के बाद किया जावेगा ।

जनसुनवाई में आवेदक पंहुचे समस्या लेकर

झाबुआ । आज 5 सितम्बर को शासन के निर्देशानुसार जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसुनवाई में आवेदन प्रभारी कलेक्टर एवं सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमना भीडे एवं अपर कलेक्टर श्री चैहान ने लिये। आवेदको से आवेदन प्राप्त कर संबंधित कार्यालय प्रमुखो को निराकरण के लिये आवश्यक निर्देश दिये गये। महिलाओं एवं बुजूर्गों के आवेदन पहले लिये गये। जनसुनवाई के आवेदनो के निराकरण की प्रक्रिया भी सी.एम.हेल्पलाइन की तरह ही हो गई है। आवेदनों को आॅनलाईन साफ्टवेयर में दर्ज किया गया। जनसुनवाई में प्रकरण के निराकरण की स्थिति बताने के लिए आवेदक का मोबाईल नम्बर दर्ज करना भी अनिवार्य हो गया है। इसलिए आवेदन के साथ आवेदक का मोबाइल नम्बर भी दर्ज किया गया। जनसुनवाई में मनोहरदास बैरागी पुजारी नीलकण्ठेश्वर महादेव मंदिर पेटलावद ने मंदिर के स्वामित्व की भूमि पर विद्युत विभाग पेटलावद के कर्मचारियों द्वारा बगैर अनुमति के हेवी वोल्टेज की लाईन बिछाने और ट्रांसफार्मर स्थापित करने की शिकायत की एवं लाईन व ट्रांसफार्मर अन्यत्र स्थापित करवाने के लिए आवेदन दिया। बल्कुबाई निवासी वाटयाबडी झाबुआ ने गाय की मृत्यु हो जाने पर बीमा कंपनी से बीमा क्लेम दिलवाने के लिए आवेदन दिया। जंगली पति बालू निवासी ढेकल छोटी तहसील झाबुआ ने कृषि भूमि का नामांतरण करवाने के लिए आवेदन दिया। जानकी पति नाथला निवासी ग्राम भूरीमाटी तहसील राणापुर ने ग्राम भूरीमाटी के मडिया पिता खुमसिंह, बदिया पिता मडिया, दिनेश पिता मडिया, मंगलिया पिता कलजी ने उसको मृत बताकर उसकी भूमि नाम करवा लेने की शिकायत की एवं जानकी ने भूमि पुनः उसके नाम करवाने के लिए आवेदन दिया। राजू पिता नूरजी निवासी मेंहदीखेडा तहसील झाबुआ ने घरेलू विद्युत कनेक्शन दिलवाने के लिए आवेदन दिया। बटिया पिता मोती, हकरिया पिता हुमा एवं बालसिह निवासी ढेबरबडी तहसील झाबुआ ने आरईएस विभाग द्वारा बनाये जा रहे तालाब निर्माण कार्य की 32 दिनांे की मजदूरी का भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। गोपाल पिता मोतीलाल पाटीदार निवासी सारंगी तहसील पेटलावद ने भैंस की करंट लगने से मृत्यु हो जाने पर बीमा क्लेम का भुगतान करवाने की कार्यवाही के लिए आवेदन दिया। समका पिता काना, सकुडा पिता गलिया निवासी पांचनाका ने रेलवे लाईन में गई जमीन एवं मन्नु पिता धुलजी निवासी कालिया बडा तहसील झाबुआ ने राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण में गई कृषि भूमि का मुआवजा भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। बाबू पिता आशाराम निवासी झौसर तहसील पेटलावद ने मुख्यमंत्री आवास योजना की राशि बैंक से भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। संदिया पिता मालिया निवासी गोलाछोटी तहसील झाबुआ ने आदिम जाति सेवा सहकारी बैंक मर्यादित के मैनेजर द्वारा खाद बीज खरीदी की राशि कम दिये जाने की शिकायत की। झाबुआ के मौलाना आजाद मार्ग एवं कैलाश मार्ग हुडा के नागरिको ने बंद पडे पाईप लाईन बिछाने का काम पुनः प्रारंभ करवाने के लिए आवेदन दिया। गुमान पिता मडिया निवासी ग्राम नौगांवा तहसील मेघनगर ने स्वीकृत कपिलधारा कूप की राशि का भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। पानसिंह पिता बाबू निवासी घटिया तहसील झाबुआ ने सेन्टिंग कार्य के लिए 5 लाख बैंक लोन स्वीकृत करवाने के लिए आवेदन दिया।

सी एम हेल्पलाइन के प्रकरणो का एल 1 पर ही निराकरण सुनिश्चित करे
  • 25 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक विशेष सफाई अभियान चलाये, समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक संपन्न

झाबुआ ।आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता प्रभारी कलेक्टर एवं सीईओं जिला पंचायत श्रीमती जमना भीडे ने की बैठक में एडीएम श्री चैहान सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में जनसुनवाई, जनशिकायत, सीएम हेल्प लाइन एवं समयावधि पत्रों की समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिये गये। शिक्षा गुणवत्ता सुधार के लिए सहायक आयुक्त आदिवासी विकास, डीईओ एवं डीपीसी को निर्देशित किया। महिला बाल विकास विभाग को कुपोषण के लिए डे-केन्यर सेन्टर संचालित करने एवं स्वास्थ्य विभागो को टीकाकरण शत-प्रतिशत करने, इत्यादि की कार्यवाही सी.एम के निर्देशानुसार समय सीमा में करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। वित्तीय समावेशन के संबंध में 25 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक अभियान चलाने के लिए एलडीएम को, स्वच्छता अभियान 25 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक चलेगा। इसके लिए सभी सीईओ जनपद एवं नगरीय निकाय सीएमओ को निर्देशित किया गया। किसान सम्मेलन 15 सितम्बर से 30 सितम्बर तक आयोजित करने हेतु उप संचालक कृषि को निर्देशित किया। बैठक में श्रीमती भिडे ने सी.एम हेल्पलाईन के प्रकरणो के निराकरण के लिए पदाभित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सी.एम. हेल्प लाईन के प्रकरणो का निराकरण एल-1 स्तर पर ही संबंधित शिकायत कर्ता से चर्चा करके करना सुनिश्चित करे।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के दौरान आज गोदभराई कार्यक्रम का हुआ आयोजन

झाबुआ । प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी 07 सितम्बर 2017 राष्ट्रीय पोषण सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। पोषण सप्ताह के दौरान आंगनवाडी केन्द्रो पर पोषण जागरूकता को बढावा देने के लिए ग्रामीणो को समझाया जा रहा है, पोषण विविधता के बारे में बताया जा रहा है, स्थानीय खाद्य सामग्री के उपयोग को बढावा देने की सलाह दी जा रही है। किचन गार्डन लगाने हेतु महिलाओं को प्रेरित किया जा रहा है। पोषण सप्ताह के दौरान अपना पोषण अपने हाथ पर आधारित पोषण आनन्द मेला का आयोजन जिला स्तर पर होगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री जमरा, ने बताया कि पोषण सप्ताह के दौरान आज आंगनवाडी केन्द्रो पर संतुलित पोषण परामर्श एवं गोदभराई कार्यकम का आयोजन किया गया एवं स्वादिष्ट रेसिपी की जानकारी हितग्राहियो को बताई गई। परियोजना कार्यालय झाबुआ में आयोजित गर्भवती महिलाओं के गोद-भराई कार्यक्रम में महिला बाल विकास अधिकारी श्री अजय चैेहान ने पहुंचकर पोषण आहार संबंधी जानकारी दी। 6 सितम्बर पंचम दिवस को पोषण दस्तक तथा पोषण प्रशनोत्तरी भरना, ग्राम की पोषण वाटिका का कृषि विभाग के कर्मचारियो के साथ भ्रमण एवं उपचार बच्चो को स्थानीय सहयोग से रूचिकर व पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराये जाने पर चर्चा की जाएगी। 7 सितम्बर पंचम दिवस को कन्या महाविद्यालयो में पोषण परिचर्चा तथा विद्यालयों में निबंध प्रतियोगिता ‘‘कैसा हो अपने गांव का संतुलित भोजन‘‘ विषय पर आयोजित की जाएगी। सब्जियो और फलों के बीज का वितरण कराया जायगा।

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत राहत राशि स्वीकृत

झाबुआ । जिला स्तरीय समिति की अनुशंसा पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत पीडित श्रीमती शांती पति सागरसिंह उम्र 29 वर्ष निवासी ग्राम आम्बापाडा, विकास खण्ड रानापुर को 1 लाख रूपये राहत राशि स्वीकृत की गई है एवं शेष किश्त न्यायालय का निर्णय दोष सिद्ध होने पर प्रदान की जाएगी। सचिव म.प्र. शासन अनुसचित जाति कल्याण विभाग के निर्देशानुसार राहत राशि पीडित व्यक्ति उनके परिवार या आश्रितों को नियमों के प्रावधान अनुसार न्यायालय में दोष सिद्ध/अपील संबंधी प्रकरण के निराकरण होने तक पोस्ट आफिस या बैंक की मासिक आय योजनांतर्गत पीडित/आश्रित के नाम से रखी जाना अनिवार्य होगा।

जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर 06 सितम्बर को

झाबुआ । जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर ग्राम पंचायत हडमंतिया जनपद पंचायत झाबुआ में 06 सितम्बर बुधवार को आयोजित किया जायेगा। शिविर में अधिकारी उपस्थित होकर शासकीय योजनाओं की जानकारी देगें एवं प्राप्त आवेदनों का निराकरण करेगेे।

सीमांकन मशीन चलाकर कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को दिया
  • सीमाकंन का प्रशिक्षण, राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न

झाबुआ । कलेक्टर आशीष सक्सेना ने राजस्व अधिकारियों की बैठक आयोजित कर जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में अविवादित नामांतरण बंटवारे, सीमांकन के प्रकरणो का त्वरित निराकरण करे। विवादित प्रकरणो में भी नियमानुसार कार्यवाही करते हुए तार्किकता के साथ निराकृत करे। बैंक आर आर सी वसूली के प्रकरणो में वसूली की कार्यवाही प्राथमिकता पर करे। राजस्व एवं कृषि अधिकारी संयुक्त टीम के रूप में फसल कटाई प्रयोग करे, बी-1 का वाचन शत-प्रतिशत सुनिश्चित करें। पटवारी अपने नियत मुख्यालय पर निवास करे। किसान के खेत में बोई गई फसल की प्रविष्टि गिरदावरी मोबाईल एप से समय पर पूर्ण करे। बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने स्वयं टीएसएम सीमांकन मशीन चलाकर राजस्व अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया एवं कहा कि काम आसानी से त्वरित गति से हो इसके लिए काम करने के रास्ते निकाले काम आपका है और आप ही को करना है इसलिए काम को करने की मानसिकता बनाकर काम करे। बैेठक में सभी एसडीएम, तहसीलदार, आर आई, पटवारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

खसरा-नक्शा अपडेशन में झाबुआ जिला प्रदेश में अव्वल, मिलेगा सम्मान
बैठक में कलेक्टर श्री सक्सेना ने राजस्व अमले की सराहना करते हुए कहा कि आप सभी के प्रयासों से प्रदेश के पिछडों जिलो में शुमार होने और स्टाॅफ की कमी के बावजूद खसरा-नक्शा अपडेशन कार्य में झाबुआ प्रदेश में सबसे आगे रहा है। मुख्य सचिव बीपीसिंह ने भी इसकी सराहना करते हुए सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख को पुरस्कुत करने की अनुशंसा की है। उन्होंने बताया कि झाबुआ जिले में राजस्व के प्रकरणो का निराकरण प्राथमिकता से किया गया। सभी सायबर रिकार्ड रूम में अच्छे से काम हो रहा है। डिजीटाईजेशन का काम भी लगभग-लगभग पूरा हो गया है। इसी वजह से जिले को यह उपलब्धि प्राप्त हुई है। झाबुआ जिले में करीब डेढ लाख किसान है। आप सभी ने अभियान चलाकर सिर्फ एक महीने में 1 लाख 42 हजार 293 किसानो के खसरा -नक्शा अपडेशन के कार्य को प्राथमिकता से ईमानदारी से करने पर राज्य के सारे जिलों में सबसे पहले यह कार्य झाबुआ जिले में हुआ। इसके लिये सभी को बहुत-बहुत बंधाई।

छूटे हुए पात्र परिवारों के डाटाबेस में आधार सीडिंग का काम त्वरित गति से होगा
  • जारी हुई छूटे हुए सदस्यों की ग्रामवार सूची

झाबुआ । जिला आपूर्ति अधिकारी श्री त्यागी ने बताया कि जिले के पात्र परिवारो के सदस्यों केे डाटाबेस में आधार सीडिंग का काम जिले में तीव्र गति से चल रहा है, जिले में अब तक कुल 1229141 सदस्यो के डाटाबेस में आधार नम्बर की प्रविष्टि कर दी गई है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 अन्तर्गत सम्मिलित पात्र परिवारो में से 377783 सदस्यों के आधार नम्बर की प्रविष्टि समग्र पोर्टल पर होना शेष है। उक्त 377738 सदस्यों की सूची ग्राम पंचायत वार, परिवार वार सहकारी उचित मूल्य की दुकानों पर भेज दी गई है। अब सेल्समेन सिर्फ शेष छूटे हुए सदस्य के आधार की छायाप्रति संबंधित से प्राप्त कर डाटाबेस में प्रविष्टि का काम करेगे। इससे काम त्वरित गति से होगा। शासन के निर्देशानुसार खाद्यान्न सामग्री प्राप्त करने एवं शासकीय योजनाओं का लाभ लेने हेतु आधार नम्बर की प्रविष्टि समग्र पोर्टल पर कराने से कार्य में सुलभता होगी। पात्र परिवारो के आधार नम्बर की डाटाबेस में सिडिंग से शेष रहें सदस्यों की विकासखण्डवार सूची जनप्रतिनिधियों को भी भेजी गई है एवं सदस्यों के आधार नम्बर की सीडिंग में सहयोग के लिए उनसे अपील की गई है। जिले में आधार सीडिंग से शेष छूटे 377783 सदस्यों में विकासखण्ड झाबुआ में 87340, रामा में 62109, रानापुर में 64195, मेघनगर में 48229, थांदला में 63372, पेटलावद में 52538 सदस्यो  के आधार नम्बर की प्रविष्टि डाटाबेस में किया जाना शेष है।

शिक्षक दिवस पर झाबुआ के शिक्षक हरिश कुण्डल को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

झाबुआ । भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं शिक्षक के रूप में विख्यात सर्वपल्ली डाॅ. राधाकृष्णन के जन्म दिवस को आज पूरे देश में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया गया। आज स्कूलों में विद्यार्थियों द्वारा शिक्षकों को सम्मानित किया गया एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को राष्ट्र एवं राज्य स्तर पर सम्मानित किया गया। झाबुआ जिले के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाबुआ के वरिष्ठ अध्यापक श्री हरिश कुण्डल को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैेहान ने राज्य स्तरीय समारोह में शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र तथा सम्मान निधि 25 हजार रूपये भेंट कर सम्मानित किया। जिला कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमना भिडे, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री गणेश भाभर, जिला शिक्षा अधिकारी श्री सोलंकी सहित जिला अधिकारियों ने उन्हें सम्मान प्राप्त करने पर बहुत-बहुत बधाई दी।

अवेध संबध होने की शंका के चलते की हत्या 
     
झाबुआ । आरोपी मेता उर्फ मेहताब पिता नरू भुरिया व अन्य 06 निवासीगण वानियापाडा ने मृतक अमरसिंह उर्फ अमरू पिता भुरजी उम्र 35 साल निवासी जामनिया को मजदुरी के पैसे देने रोशनी के घर गया था कि आरोपी मेता उर्फ मेहताब ने पत्नी रोशनी के साथ अवैध संबंध की शंका कर पत्थर सिर पर मारा व अन्य आरोपीगणों के साथ मिलकर जान से मारने की नियत से पत्थर व लात घूसों से मारपीट कर हत्या कर दी। प्रकरण में थाना मेघनगर में अपराध क्रमांक 310/17 धारा 302,147,149,506 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

तलवार मार कर किया हत्या प्रयास 
     
झाबुआ । फरि. खेतूबाई पति सोमला निनामा उम्र 40 साल निवासी ढाढनिया ने बताया कि आरोपी जवला पिता रामचंद्र भाबोर व अन्य 03 ने फरि. के पति सोमला को तेरा लड़का मेरी लड़की अंजू की इज्जत ली थी कहकर अश्लील गालिया देकर मारपीट की व आरोपी जवला ने जान से मारने की नियत से तलवार मारी जिससे सोमला के दाहिने गाल पर चोंट आयी व जान से मारने की धमकी दी। प्रकरण में थाना मेघनगर में अपराध क्रमांक 311/17 धारा 294,307,506,34 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

अपहरण के दो अपराध पंजीबद्ध
    
झाबुआ । फरि. मुकेश पिता बादु भाभर उम्र 26 साल निवासी बोचका ने बताया कि मेरी बहन काली उम्र 14 साल घर के सामने गणेश जी देखने गयी थी जिसे आरोपी तेजिया पित तोलसिंह भुरिया निवासी बोचका ने उसके दोस्त के साथ आया व काली को जबरन पकड़ कर अपहरण कर ले गया। प्रकरण में थाना कालीदेवी में अपराध क्रंमाक 169/17 धारा 363 भादवि. का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। फरि. भावचन्द पिता गुमानसिंह मईडा उम्र 39 साल निवासी चिकलिया ने बताया कि मेरी लड़की खुशबु उम्र 16 साल घर से थांदला कोचिंग जाने का कहकर गयी थी जिसे आरोपी गोविन्द पिता मानसिंह सिंगाड निवासी बोयडी ने बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया। प्रकरण में थाना काकनवानी में अपराध क्रंमाक 285/17 धारा 363 भादवि. का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

अवैध शराब का अपराध पंजीबद्ध
      
झाबुआ। आरोपी माधू पिता अमरसिंह सिंगाडिया उम्र 30 साल निवासी शेरानी मोहल्ला मेघनगर अवैध कब्जे से 1200/-रू0 की महुआ की कच्ची शराब जप्त कर गिर. किया गया। प्रकरण में थाना मेघनगर में अपराध क्रं0 309/17 धारा 34(2),36 आब. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

चोर लेगए मवेशी 
       
झाबुआ। फरि. रमेश पिता सोमला डाबी उम्र 42 साल निवासी सेमरोड ने बताया कि अज्ञात बदमाश ने टापरी में बांधे 01 गाय व 01 बैल चुराकर ले गया। प्रकरण में थाना रायपुरिया में अपराध क्रमांक 292/17 धारा 379 भादवि में पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

गुम इंसान का प्रकरण कायम
      
झाबुआ । वेस्ता पिता ठुमलिया उम्र 45 साल निवासी सारसवाट ने घर से बिना बताये कही चला गया जो वापस नही आया। थाना रानापुर में गुम इंसान क्रंमाक 48/17 में कायमी की गयी।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...