‘प्रद्युम्न गाइडलाइन’ बनाने के लिए जावड़ेकर को ज्ञापन

letter-to-javdekar-for-pradyuman-guideline
नयी दिल्ली, 13 सितम्बर, देश के स्कूलों में छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के लिए ‘प्रद्युम्न गाइडलाइन’ बनाये जाने की मांग आज केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से की गयी। मैथिल पत्रकार ग्रुप ने मंत्रालय जाकर श्री जावड़ेकर को आज आठ-सूत्री ज्ञापन सौंपा और पिछले दिनों हत्या के शिकार हुए रेयान इंटरनेशनल स्कूल, गुरुग्राम की दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न के नाम पर गाइडलाइन बनाने का उनसे अनुरोध भी किया। ज्ञापन में कहा गया है कि ‘विशाखा गाइडलाइन’ की तर्ज पर ‘प्रद्युम्न गाइडलाइन’ बनाना हत्या के शिकार हुए इस सात वर्षीय छात्र को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। समूह ने स्कूलों के लिए रेग्यूलेटर का गठन करने और उनमें अभिभावकों और शिक्षाविदों को शामिल किये जाने, प्रत्येक स्कूल में नियमित सुरक्षा ऑडिट कराने, अभिभावक शिक्षक एसोसिएशन (पीटीए) का गठन करने और इस संबंध में स्कूल तथा रेग्यूलेटर की वेबसाइटों पर जानकारी उपलब्ध कराने तथा प्राइमरी, मिडिल और सीनियर सेकेण्ड्री के आधार पर अलग-अलग शौचालय बनाये जाने की मांग की है। ज्ञापन में कहा गया है कि प्राइमरी कक्षाओं के छात्र-छात्राओं के लिए निर्धारित शौचालयों के बाहर आयाएं तैनात की जानी चाहिए और स्कूल बसों के ड्राइवर, कंडक्टरों अौर मालियों आदि के लिए अलग-अलग शौचालय होने चाहिए। स्कूल के सभी कर्मचारियों का पुलिस सत्यापन कराना और इनकी जवाबदेही स्कूल द्वारा उठाये जाने के अलावा, सभी कक्षाओं के आसपास और अन्य जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने, सभी स्कूल बसों में स्कूल स्टाफ तैनात किये जाने तथा बाहरी व्यक्तियों को स्कूल बिल्डिंग में प्रवेश न करने देने की मांग भी ज्ञापन के माध्यम से की गयी है। समूह के महासचिव संतोष कुमार ठाकुर के नेतृत्व में सात पत्रकारों का एक दल श्री जावड़ेकर से मिला, जिनमें मिथिला क्षेत्र के अलावा हरियाणा और उत्तराखंड के पत्रकार भी शामिल थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...