पाकिस्तान ने गलत फोटो दिखाकर संरा को भी किया गुमराह

pak-mislesd-unga-with-froge-photo
संयुक्त राष्ट्र, 24 सितम्बर, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के करारे प्रहार से तिलमिलाया पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र जैसे अंतरराष्ट्रीय मंच को भी गुमराह करने से बाज नहीं आया और उसने कश्मीर में मानवाधिकार के कथित उल्लंघन के प्रमाण के तौर पर जिस महिला की तस्वीर दिखाई , वह भारतीय थी ही नहीं। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने भारत पर बढ़त बनाने की कोशिश में गाजा पट्टी से ली गई तस्वीर को ‘भारतीय लोकतंत्र का चेहरा’ बताने की गलती कर डाली। श्रीमती स्वराज द्वारा पाकिस्तान को ‘आतंकवाद निर्यात का प्रमुख कारखाना’ बताये जाने पर वह अपनी प्रतिक्रिया दे रही थीं। सुश्री लोधी ने भारत पर जम्मू एवं कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पैलेट गन की शिकार एक लड़की की तस्वीर दिखाई। हालांकि उन्होंने इस अंतरराष्ट्रीय मंच पर जो तस्वीर पेश की, वास्तव में वह भारत की नहीं, बल्कि गाजा पट्टी की 17 साल की राव्या अबु जोम की थी। राव्या 2014 में गाजा पर इजरायल के हवाई हमले के दौरान घायल हुई थीं। इस हमले में उनके घर को निशाना बनाया गया था। जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए सुश्री लोधी ने भारत पर ‘मानवता के खिलाफ अपराध करने’ और कश्मीर घाटी के आवाम के उत्पीड़न का आरोप लगाया। अपनी बात को साबित करने के लिए उन्होंने उस लड़की की तस्वीर दिखाई जिसका चेहरा जख्म से भरा था। राव्या की इस तस्वीर को न्यूयार्क टाइम्स और गार्जियन सहित कई ऑनलाइन फोटो गैलरीज में दिखाया गया था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...