आलाकमान का अध्यक्ष पद से हटाने का तरीका दुखद : अशोक

presidents-way-of-removing-from-the-post-is-tragic-says-ashok
 पटना 26 सितंबर, बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाये गये श्री अशोक चौधरी ने आज कहा कि पार्टी आलाकमान की यह कार्रवाई अपेक्षित थी लेकिन जिस तरह से उन्हें हटाया गया उससे वह आहत हैं। श्री चौधरी ने यहां बातचीत में कहा कि अध्यक्ष पद से हटाये जाने की जानकारी उन्हें अभी तक आधिकारिक तौर पर प्राप्त नहीं हुई है। पार्टी की इस कार्रवाई की खबर उन्हें मीडिया से ही मिली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जो निर्णय लिया है उसका वह स्वागत करते हैं लेकिन जिस तरीके से उन्हें हटाया गया वह दुखद है। कांग्रेस नेता ने कहा कि वह पिछले 25 वर्षों से पार्टी के लिए ईमानदारी से काम करते रहे हैं और इस तरह से उन्हें हटाना ठीक नहीं था। पिछले साढ़े चार वर्षों से वह प्रदेश अध्यक्ष के पद पर बने हुये थे और उन्होंने स्वयं ही इस पद से हटने की पेशकश आलाकमान से की थी। उल्लेखनीय है कि प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष कौकव कादरी को कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। साथ ही पार्टी की सभी कमेटियों को भंग कर दिया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि महागठबंधन टूटने के बाद से श्री चौधरी को गुटबाजी और पार्टी विरोधी कार्य के लिए पद से हटाया गया है। उन्होंने चार दिन पूर्व ही कहा था कि पार्टी जल्द फैसला ले कि उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाये रखना है या नहीं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...