मंदी पर प्रधानमंत्री आगे आकर सवालों का जवाब दें-शत्रुघ्न

prime-minister-should-come-forward-to-answer-on-recession-says-shatrughn-sinha
पटना 29 सितम्बर, मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना करने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा का सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने एक बार फिर समर्थन किया और कहा कि अब सही वक्त आ गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगे आकर मंदी को लेकर उठ रहे सवालों का जवाब दें । श्री सिन्हा ने आज माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्वीटर पर किये ताबड़तोड़ ट्वीट में कहा, “ यह सही वक्त है, जब आदरणीय प्रधानमंत्री और इस डेमोक्रेसी के हेड सामने आएं। जनता और मीडिया के सवालों का सामना करें। उम्मीद है कि हमारे पीएम दिखाएंगे कि वे देश भर के मिडिल क्लास, कारोबारियों और छोटे व्यापारियों का ख्याल रखते हैं ।” पटना साहिब से लोकसभा के सदस्य श्री सिन्हा ने इससे पूर्व ट्वीट में कहा, “ देश की इकोनॉमी पर मिस्टर यशवंत सिन्हा के सुझावों का मैंने, साथ ही दूसरे विचारशील नेताओं और हमारी पार्टी के और बाहरी लोगों ने पुरजोर समर्थन किया। उन्हें लगातार दो दिन से समर्थन मिल रहा है।” उन्होंने आगे लिखा, “ हम आने वाले दिनों में राष्ट्रीय महत्व के इस गंभीर मुद्दे को नेताओं और कामगारों के सभी वर्गों से समर्थन मिलता देख रहे हैं। ” श्री सिन्हा ने कहा , “इस मामले को सरकार और यशवंत सिन्हा या यशवंत सिन्हा और अरुण जेटली के बीच का बताकर कमजोर नहीं करना चाहिए, जैसा कि किया जा रहा है। नहीं तो...जगजीत सिंह के शब्दों में- बात निकलेगी तो फिर...दूर तलक जाएगी।” उन्होंने कहा , “उम्मीद और प्रार्थना करता हूं कि हमारे पीएम कम से कम एक बार तो बताएंगे कि वे पूरे देश के, खासतौर पर गुजरात के जहां विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, मिडिल क्लास, ट्रेडर्स, छोटे बिजनेसमैन का ख्याल रखते हैं। बीजेपी/एनडीए लंबे समय तक रहे, जय बिहार, जय महाराष्ट्र, जय गुजरात और जय हिंद।” गौरतलब है कि श्री सिन्हा ने पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के समर्थन में कल भी ट्विट किया था और कहा था कि पूर्व वित्त मंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था की हालत पर नीति-निर्माताओं को आइना दिखाया है और उनके विचारों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। सांसद श्री सिन्हा ने कहा था , “श्री यशवंत सिन्हा एक कुशल राजनेता है और स्वयं को एक सर्वश्रेष्ठ एवं सफल वित्तमंत्री के रूप में साबित कर चुके हैं। अपने कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए उन्होंने अन्य से बेहतर काम किया है। अपने विचारों के माध्यम से उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति को लेकर आइना दिखाया है। पूर्व वित्त मंत्री का किसी भी विषय पर व्यक्त किया गया विचार पूर्णता लिये होता है इसलिए उनके विचारों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। यदि कोई उनके विचारों को खारिज करता है तो इसे बचपना ही समझा जाएगा।”

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...