भव्य रोड शो के साथ आबे के दौरे की शुरूआत

red-carpet-welcome-accorded-japanese-pm-joins-modi-for-roadshow
अहमदाबाद, 13 सितंबर, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आज से अपनी दो दिवसीय गुजरात यात्रा की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खुली जीप में करीब आठ किलोमीटर लंबे एक भव्य रोड शो के साथ की जिस दौरान उन्होंने तथा उनके साथ मौजूद उनकी पत्नी अकी आबे ने भारतीय परिधान पहन रखे थे। करीब आधे घंटे के इस आठ किमी लंबे रोड शो के दौरान हवाई अड्डे से साबरमती आश्रम तक हजारों लोगों की भीड ने उनका अभिवादन किया। श्री आबे ने नीले रंग की कोटी और मलाईनुमा ऊजले रंग का कुर्ता पजामा पहन रखा था। जब वह विमान से उतरे थे उन्होंने सूट पहना था। श्रीमती आबे ने भी दुपट्टे के साथ मरूननुमा लाल रंग का कुर्ता और नीचे से चौडी सलवार पहन रखी था। रोड शो के दौरान श्री मोदी, श्री आबे और श्रीमती आबे लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन करते रहे। इस दौरान देश के 28 राज्यों के कलाकारों ने उनका स्वागत करते हुए प्रस्तुति भी दी। यह भारत में दो प्रधानमंत्रियों का अब तक पहला ऐसा संयुक्त रोड शो था। रोड शो साबरमती रिवरफ्रंट तथा सुभाष ब्रिज और आरटीओ सर्किल होते हुए साबरमती आश्रम पहुंचा। इसके बाद तीनों ने पारंपरिक रूप से महात्मा गांधी के वहां के मूल निवास हृदय कुंज में पारंपरिक अंदाज में उनके तैल चित्र को सूत की माला पहनायी। बापू के प्रिय भजनों के बीच तीनों ने उनकी प्रतिमा पर पुष्प चढाये। रोड शो और आश्रम में श्री मोदी आबे दंपति को कई चीजों के बारे में खुद जानकारी देते दिखे। तीनो ने आश्रम में गांधीजी के चरखे के साथ तस्वीर भी खिचाई। वे वहां से दिखने वाले साबरमती रिवरफ्रंट के हिस्से की तरफ एक चबूतरे पर थोडी देर तक कुर्सियों पर बैठे। आबे दंपति ने आश्रम की आगंतुक पुस्तिका में हस्ताक्षर भी किये। इससे पहले आज टोक्यो से विशेष विमान से सीधे यहां पहुंचे श्री आबे का उनसे थोडी देर पहले ही नयी दिल्ली से आये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड कर खुद हवाई अड्डे पर उनकी अगवानी की। श्री आबे का विमान जब दोपहर करीब साढे तीन बजे तय कार्यक्रम के अनुसार यहां सरदार वल्लभभाई पटेल हवाई अड्डे पर उतरा तो इसके ऊपर भारत और जापान के झंडे उभर आये। विमान में लगने वाली सीढी के जापानी प्रधानमंत्री के विमान से जुडने में मामूली तकनीकी दिक्कत के बाद जब श्री आबे अपनी पत्नी अकी आबे के साथ विमान से बाहर निकले तो श्री मोदी ने उनसे पहले हाथ मिलाया और फिर गले लगा लिया। चीन के साथ डोकलाम विवाद में जापान की ओर से भारत के मजबूत समर्थन की पृष्ठभूमि में हो रहे इस दौरे के दौरान चारो तरफ भारत-जापान मैत्री का माहौल दिख रहा था। श्री आबे को हवाई अड्डे पर ही पारंपरिक गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और सेना के तीनो अंगो थल सेना, वायु सेना और नौसेना की टुकडियों की बैंड की धुन से भी उनका स्वागत किया गया। श्री आबे और उनकी पत्नी की अगवानी करने वालों में गुजरात के राज्यपाल ओ पी कोहली, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी, विदेश सचिव एस जयशंकर, मुख्य सचिव जे एन सिंह भी शामिल थे। बाद में हवाई अड्डा परिसर में ही रास गरबा के जरिये श्री आबे का स्वागत किया गया। बादलयुक्त मौसम और बरसात की संभावना के बीच दोनो नेता खुली जीप में यहां हवाई अड्डे से आठ किमी लंबा रोड शो करते हुए साबरमती आश्रम के लिए निकल पडे। खुली जीप में शुरू हुए रोड शो में श्री आबे, उनकी पत्नी श्रीमती अकी आबे और श्री मोदी सवार थे। सूट पहन कर विमान से उतरे श्री आबे ने रोड शो के लिए नीले रंग की कोटी और ऊजला खादी का कुर्ता पहन लिया। उनकी पत्नी ने भी भारतीय वेशभूषा के अनुरूप सलवार कमीज पहनी थी। इस दौरान रास्ते में 28 जगह इतने ही भारतीय राज्यों की झांकी प्रस्तुत की गयी। शाम को दोनो सोलहवी सदी की मस्जिद सीदी सैयद नी जाली का अवलोकन करेंगे और पास ही अगासिये रेस्त्रां में रात्रिभोज करेंगे। कल दोनो मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्यास यहां साबरमती एथलेटिक्स स्टेडियम में करेंगे। इसके बाद वे गांधीनगर के महात्मा मंदिर में 12 वीं जापान भारत शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे। श्री आबे के दौरे के लिए अहमदाबाद और इसका जुडवा शहर कहे जाने वाले राजधानी गांधीनगर को दुल्हन की तरह सजाया गया है। पूरे शहर को जापान और भारत के झंडो से पाट दिया गया है। इस दौरान सुरक्षा के भी कडे प्रबंध किये गये हैं। श्री आबे यहां हयात होटल में रात्रि विश्राम करेंगे जबकि श्री मोदी गांधीनगर के राजभवन में रहेंगे। कल अन्य कार्यक्रमाें शिरकत के बाद दोनो नेता मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की ओर से दिये गये रात्रिभोज में भाग लेगे और इसके बाद रात करीब साढे नौ बजे श्री आबे वापस टोक्यो तथा श्री मोदी नयी दिल्ली रवाना हो जायेंगे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...