डेरा मुख्यालय में तलाशी अभियान खत्म

search-in-dera-ends
सिरसा/चंडीगढ. 10 सितंबर, हरियाणा के सिरसा में डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय के परिसरों में तीन दिनों से चल रहा तलाशी अभियान पूरा हो गया है। इसके साथ ही, यह भी पता चला कि इसके अंदर चल रहे अस्पताल से भेजे जाने वाले शवों का कोई उपयुक्त रिकार्ड नहीं रखा जाता था और एक ‘स्किन बैंक’ बगैर लाइसेंस के चलाया जा रहा था। इस बीच, हरियाणा पुलिस ने कहा है कि पंचकूला हिंसा के सिलसिले में डेरा के एक वरिष्ठ सदस्य गोविंद को गिरफ्तार कर लिया है जबकि डेरा प्रमुख की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां को पकड़ने के लिए छापे मारे जा रहे हैं। हरियाणा सरकार के जन संपर्क विभाग के उप निदेशक सतीश मेहरा के मुताबिक तलाशी अभियान में दो गुप्त सुरंगों का पता चला। इनमें से एक सुरंग डेरा प्रमुख के आवास को साध्वियों के हॉस्टल से जोड़ती है जबकि दूसरी सुरंग एक अवैध पटाखा फैक्टरी से जुड़ती है। एक अवैध फैक्टरी की मौजूदगी का पता चला और एके 47 कारतूस का एक खाली डब्बा जैसी स्तब्ध करने वाली चीजें भी मिली हैं। अवैध फैक्टरी से 84 कार्टन पटाखे और रसायन भी मिले हैं। इसके अलावा डिजाइनर कपड़े और टोपियां मिली हैं। मेहरा ने बताया कि मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रीगनेंसी (एमटीपी) अधिनयिम को डेरा द्वारा लागू करने में अनियमितता होने का भी पता चला है।


उन्होंने बताया कि तलाशी अभियान में कई सरकारी एजेंसियां शामिल थी। इसके पूरा होने के बाद अब मोबाइल इंटरनेट और ट्रेन सेवाएं कल से बहाल हो जाएंगी, जो अब तक स्थगित थी। हालांकि, उन्होंने कहा कि डेरा सच्चा सौदा परिसर के पास कर्फ्यू लगा रहेगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय बाशिंदों को रोजमर्रा की जरूरत की चीजें खरीदने के लिए इसमें ढील दी जाएगी। सुरक्षा बलों और विभिन्न सरकारी विभागों ने सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त के साथ आठ सितंबर को एक समन्वित तलाशी अभियान शुरू किया था। इसमें पुलिस, अर्द्धसैनिक बल और नागरिक प्रशासन के कर्मियों को शामिल किया गया था। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के एक निर्देश पर इसे शुक्रवार को शुरू किया गया था। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की गिरफ्तारी के दो हफ्ते बाद यह तलाशी अभियान किया गया। बलात्कार के दो मामलों में डेरा प्रमुख को एक विशेष अदालत ने दोषी और 20 साल की जेल की सजा सुनाई थी। मेहरा ने आज शाम यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘डेरा में तलाशी अभियान प्रक्रिया आठ सितंबर से शुरू हुई थी और इसकी निगरानी अदालत आयुक्त एकेएस पवार कर रहे थे। तलाशी अभियान आज तक जारी रहा और यह प्रक्रिया अब पूरी हो गई है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘अभियान सुगम और शांतिपूर्ण रहा। ’’ तलाशी अभियान अब 100 फीसदी पूरा हो गया है। मेहरा ने कहा , ‘‘इस अभियान में लगाई टीमों ने अपनी - अपनी रिपोर्ट अदालत आयुक्त को सौंप दी है, जो अब अपनी रिपोर्ट पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय को सौंपेंगे। ’
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...