बड़ी कारों, एसयूवी पर जीएसटी उपकर में सात प्रतिशत तक वृद्धि

upto-seven-percent-increase-in-gst-cess-on-big-cars-suvs
हैदराबाद, 09 सितंबर, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने मझौली और बड़ी कारों के साथ ही एसयूवी पर जीएसटी उपकर में दो से सात प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी करने कर निर्णय लिया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में जीएसटी परिषद की आज यहां हुई 21 वीं बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक के बाद श्री जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि छोटी कारों, हाई ब्रीड कारों और 13 सीटर वाहनों पर जीएसटी उपकर में काेई बदलाव नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि मझौली कारों पर जीएसटी उपकर में दो प्रतिशत, बड़ी कारों में पांच प्रतिशत और एसयूवी पर सात प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है। इस बढ़ोत्तरी के बावजूद इन वाहनों पर कर का प्रभावी दर जीएसटी लागू होने के पहले के स्तर से कम है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही जीएसटी परिषद ने डोसा बैटर और रेनकाेट जैसे 30 उत्पादों पर जीएसटी दरों में कमी करने करा निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने गत चार जुलाई को एक अध्यादेश जारी कर जीएसटी परिषद को कारों पर कर में 10 प्रतिशत तक बढ़ोत्तरी करने के लिए अधिकृत किया था। परिषद ने 20 लाख रुपये के हस्तशिल्प निर्माताओं को दूसरे राज्यों से उत्पाद बेचने के लिए अस्थाई पंजीकरण कराने में छूट देने का निर्णय लिया है। खादी एवं ग्राम उद्योग आयोग द्वारा बेचे जा रहे खादी वस्त्रों पर लगने वाले पांच प्रतिशत जीएसटी को भी समाप्त कर दिया गया है। जीएसटी परिषद ने जीएसटीएन पोर्टल में आ रही तकनीकी खामियों की निगरानी के लिए मंत्रियों का एक समूह बनाने का निर्णय लिया है। इसके अतिरिक्त परिषद ने जीएसटीएन पोर्टल की तकनीकी खामियों को ध्यान में रखते हुए जुलाई महीने के लिए भरे जाने वाले जीएसटी रिर्टर्नाें की तिथि बढ़ाने का भी निणर्य लिया है। श्री जेटली ने कहा कि जुलाई महीने में जीएसटी से करीब 95 हजार करोड़ रुपये का राजस्व मिला है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...