विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 07 सितम्बर

नया सशक्त भारत का निर्माण-प्रभारी मंत्री श्री सिंह

vidisha news
गृह एवं परिवहन मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह आज  ‘‘संकल्प से सिद्वि अभियान’’ के तहत आयोजित जिला स्तरीय सम्मेलन में शामिल हुए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नया सशक्त भारत के निर्माण को पूरा करने के लिए संकल्प से सिद्वि अभियान की परिकल्पना की है। जिसे प्रदेश में सार्थक किया जा रहा है। उक्त आश्य के विचार प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि देश का प्राचीन परम वैभव इतिहास पुनः स्थापित हो। इसके लिए जिस प्रकार देश को आजाद करने का संकल्प लिया गया था। ठीक वैसे ही अब गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, जातिवाद, सांप्रदायिकता और आंतकवाद की चुनौतियों का सामना कर उन पर विजय प्राप्त करना है। देश की चुनौतियों को परास्त करने के लिए हम सबको मिल-जुलकर काम करने होंगे। सरकार ने भ्रष्टाचार को कम करने के लिए पारदर्शिता के सिद्वांत को अपनाया है। जिसका लाभ नागरिकों को मिलने लगा है। जीएसटी लागू कर सरकार को टैक्स के रूप में राशि जो प्राप्त होगी उससे आमजनों को और अधिक बुनियादी सुविधाए मुहैया कराई जा सकेगी। उन्होंने सभी नोटबंदी को रेखांकित करते हुए इन्कमटैक्सधारियों से कहा कि वे ईमानदारी से अपना टैक्स जमा कर नए भारत, सशक्त भारत के निर्माण के सहयोगी बनें। भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष पूर्ण होने एवं देश की स्वतंत्रता के 70 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में संकल्प से सिद्वि अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के तहत प्रत्येक ग्राम पंचायत, विकासखण्ड स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है। आज गुरूवार को ततसंबंधी कार्यक्रम जिला मुख्यालय पर आयोजित किया गया था। जिसमें विदिशा विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर, कुरवाई विधायक श्री वीर सिंह पवार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, काॅ-आपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्यामसुन्दर शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री दिनेश सोनी, दीनदयाल अन्त्योदय जिला स्तरीय समिति के उपाध्यक्ष श्री मनोज कटारे, पूर्व विधायक द्वय श्री मोहर सिंह, श्री हरिसिंह रघुंवशी, श्री प्रकाश चैधरी के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। 

संकल्प पत्र
संकल्प से सिद्वि अभियान के तहत प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने संकल्प पत्र का वाचन किया। जिसका अन्य अतिथि एवं कार्यक्रम मंे मौजूद सभी ने दोहराया। 

सम्मान
प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कार्यक्रम के दौरान स्वतंत्रता सेनानी वायोवृद्व श्री रघुवीरचरण शर्मा और समाजसेवी श्री विकास पचैरी का सम्मान शाल, श्रीफल एवं प्रतीक चिन्ह भेंटकर किया। जालोरी गार्डन में हुए उक्त कार्यक्रम में कलेक्टर श्री अनिल सुुचारी, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत कपूर, एडीएम श्री एचपी वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विनोद कुमार चैहान के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, युवाजन, स्वंयसेवी संस्थाआंे के प्रतिनिधि मौजूद थे। कार्यक्रम के शुभारंभ में जन अभियान परिषद की जिला समन्वयक श्रीमती पूजा बंधैया ने आयोजन के उद्वेश्यों को रेखांकित किया और कार्यक्रम के अंत में आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

भांवातर भुगतान योजना की तैयारियों की जायजा

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने आज अपने चैम्बर में ‘‘भावांतर भुगतान योजना’’ के क्रियान्वयन के संबंध में जिले में की जा रही तैयारियों का जायजा लिया। ज्ञातव्य हो कि किसानों को कृषि उपज का उचित मूल्य प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा पायलेट आधार पर खरीफ 2017 के लिए किसानों के द्वारा अधिसूचित कृषि उपज मंडी समिति के प्रागंण में विक्रय किए जाने पर राज्य शासन द्वारा विहित प्रक्रिया अपनाकर न्यूनतम समर्थन मूल्य तथा भौतिक मंडियों की माॅडल विक्रय दर के अंतर की राशि को भावांतर भुगतान योजना अंतर्गत किसानों के बैंक खातों में जमा किया जाएगा। उक्त योजना के तहत 11 सितम्बर 17 से अक्टूबर 17 तक किसानों का पंजीयन भावांतर भुगतान योजना के पोर्टल पर किया जाएगा। योजना का लाभ केवल मध्यप्रदेश के किसानों को दिया जाएगा। कलेक्टर श्री सुचारी ने मंडी सचिव को निर्देश दिए कि योजनाओं के क्रियान्वयन में जिले की मंडियों की महती भूमिका है। उन्होंने व्यवस्थाओं का सुचारू रूप से क्रियान्वयन हो इसके लिए पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधितों को दिए है। बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी श्री मोहन मारू, किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री पीके चैकसे, काॅ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह, विदिशा कृषि मंडी के सचिव श्री राकेश अग्रवाल, पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उप संचालक श्री राकेश गौर मौजूद थे।

सूखा पूर्वानुमान की समीक्षा

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने आज जिला स्तरीय पर सूखा पूर्वानुमान एवं माॅनिटरिंग प्रबंधक समिति की बैठक आहूत की। उन्होंने कहा कि जिले में औसत से कम वर्षा हुई है। ऐसी विषम परिस्थितियों में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित ना हो इसके लिए अभी से व्यापक प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। कलेक्टर श्री सुचारी ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से जिले के सभी छोटे-बडे़ डेमो में संग्रहित जल की जानकारी प्राप्त की। कार्यपालन यंत्री श्री मजहर खाॅन ने बताया कि जिले के सगड़ एवं संजय सागर डेम में ही लगभग पचास प्रतिशत जल भण्डारित हुआ है शेष अन्य डेमों में भराव जल की मात्रा कम है। हलाली डेम के एसडीओ श्री राजीव जैन ने बताया कि हलाली से किसानों को पलेवा के लिए ही पानी दिया जा सकता है। कलेक्टर श्री सुचारी ने ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के लिए अभी से प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। ततसंबंध में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री अजय दिवाकर ने बताया कि विभाग के द्वारा अब तक 144 बसाहटें चिन्हित की है। जहां पेयजल संकट की स्थिति निर्मित हो सकती है। उन्होंने 14वें वित्त की राशि से पेयजल आपूर्ति के लिए किए जाने वाले प्रबंधों को भी रेखांकित किया। इसी प्रकार पशुओं के लिए पेयजल की उपलब्धता बनी रहें इसके लिए सभी स्टाॅप डेमों में गेट लगाने की कार्यवाही शीघ्र करने के निर्देश दिए गए है। बैठक में पशुओं के लिए चारा प्रबंध के संबंध में भी चर्चा की गई है। कलेक्टर श्री सुचारी ने किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक को निर्देश दिए है कि किसानों को इस बात से भलीभांति अवगत कराया जाए कि कम वर्षा में ली जाने वाली फसलों के बीज बोए। जिसमें खासकर चना, मसूर इत्यादि शामिल है। कलेक्टर ने प्रत्येक विकासखण्डों में किसान सम्मेलन आयोजित कर किसानों तक यह संदेश अनिवार्यतः पहुंचाने के भी निर्देश दिए है। 

प्रेस कांफ्रेस आज

परिवार नियोजन की गतिविधियों को बढावा देने एवं प्रचार-प्रसार के उद्वेश्य से प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन आठ सितम्बर को किया गया है। उक्त कार्यक्रम जिला अस्पताल परिसर में दोपहर 12 बजे से आयोजित किया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ बीएल आर्य ने बताया कि कार्यक्रम में परिवार नियोजन के नवीन साधन (अंतरा-इंजेक्टबिल तथा छाया-साप्ताहिक ओरल पिल्स) का भी शुभांरभ किया जाएगा। इसके अलावा आमजनों को स्वाईन फ्लू, डेंगू व चिकनगुनिया के लक्षण, बचाव व उपचार के संबंध में भी जानकारी दी जाएगी।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...