विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितम्बर

निकायों को सड़के सौंपने का निर्णय

vidisha news
सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव की अध्यक्षता में आज दिशा की बैठक सम्पन्न हुई। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में हुई  इस बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर के अलावा समिति के अन्य सदस्य एवं कलेक्टर श्री अनिल सुचारी, जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि लोक निर्माण विभाग की ऐसी सड़के जो निकाय क्षेत्रों में आती है वे सभी सड़के निकायो को सौंपी जाए। सांसद श्री यादव ने जिले के ग्राम डंगरबाडा में 24 प्रधानमंत्री आवासों को सामूहिक रूप से बनाए जाने के माॅडल का अन्य ग्रामों में भी क्रियान्वयन करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि हितग्राहियों को आवास निर्माण कराने में रेत की दिक्कते ना हो इसके लिए पर्ची सिस्टम का क्रियान्वयन किया जाए। पर्ची संबंधित पंचायत के सरपंच और हितग्राही के संयुक्त हस्ताक्षर से जारी हो जिसमें वाहन का क्रमांक भी अंकित किया जाए। रेत परिवहन के उपरांत पर्ची जनपद में रखी जाए। ग्रीष्मकाल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल संकट उत्पन्न ना हो इसके लिए अभी से कार्ययोजना बनाने पर बल दिया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में खनन किए जाने वाले हेण्डपंपो में कितने पाइप डाले गए है का पंचनामा अब से तैयार किया जाएगा। इसी प्रकार ऐसी नलजल योजना जो स्त्रोतों के कारण बंद है उनकों शीघ्रतिशीघ्र ठीक कराने के निर्देश दिए गए है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई जाने वाली सड़को की जानकारी देते हुए बताया गया कि द्वितीय फेस में आठ नवीन सड़कों का डीपीआर स्वीकृति हेतु शासन को प्रेषित किया गया है। भारत सरकार की नवीन योजना के तहत ऐसी पुल-पुलियाएं जो प्रधानमंत्री सड़क मार्ग में आती है और बारिश में डूब जाती है उन्हें ऊंचा करने के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे है। इसी प्रकार एकीकृत बाल विकास सेवाएं विभाग के माध्यम से क्रियान्वित कार्यो की जानकारियां प्रस्तुत की गई। विभाग का खण्ड स्तरीय अमला खासकर सुपरवाइजर और परियोजना अधिकारी अपने मुख्यालय पर निवास करें इसके लिए क्रास मानिटरिंग की व्यवस्था का क्रियान्वयन किया जा रहा है। आंगनबाडी केन्द्रों में नाश्ता और खाना अलग-अलग समय पर बच्चों को वितरित किया जा रहा है कि नही इसकी माॅनिटरिंग के लिए वाट्स-अप पर फोटो मंगाए जा रहे है। जिले में कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराने का कार्य सतत क्रियान्वयन है। कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को भी माॅटिवेंट किया जा रहा है। बैठक में लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि समय सीमा में सड़कों के कार्य पूर्ण नही करने पर जिले में 23 ठेकेदारों को ब्लैकलिस्टेड करने की कार्यवाही की गई है। जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य ने बताया कि अब प्रत्येक गांव में एक-एक खेल मैदान बनाया जाएगा। उन्होंने जिले में दुग्ध संकलन हेतु किए गए प्रयासों को रेखांकित करते हुए बताया कि अब हर रोज 36 हजार नौ सौ लीटर दूध समितियों के माध्यम से संकलित किया जा रहा है। बैठक में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के माध्यम से क्रियान्वित मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यो का ब्यौरा प्रस्तुत किया गया। कुरवाई जनपद पंचायत के अध्यक्ष श्री प्रेमनारायण तिवारी ने बताया कि ग्राम सिरावली में बनी पुलिया बिना वाहन निकले इस बारिश में ध्वस्त हो गई है। सांसद श्री यादव ने संबंधित ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश आरईएस के कार्यपालन यंत्री को दिए है। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने विभागों के अधिकारियों से कहा कि समिति के सम्माननीय सदस्यों द्वारा जो प्रस्ताव, सुझाव दिए गए है उनका पालन किया जाए। उन्होंने जिले में औसत से कम हुई बारिश से कही भी पेयजल के संकट की स्थिति निर्मित ना हो इसके लिए अभी से प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। उन्होंने किसानों को इस बात से अवगत कराया जाए कि कम पानी में ली जाने वाली फसलों की ही बोनी करें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक जल संचय की संरचनाओं का निर्माण कराने पर बल देते हुए बोरीबंधान के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा कराया जाए।


आम्र्स लायसेंस निलंबित

जिला दण्डाधिकारी श्री अनिल सुचारी ने पुलिस अधीक्षक श्री विनीत कपूर के प्रतिवेदन पर एक आम्र्स लायसेंस को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए है। जारी आदेश में उल्लेख है कि थाना बासौदा देहात में आम्र्स एक्ट का फरियादी सीताराम की रिपोर्ट पर आरोपी नबाव खां, शखावत खां, अमीन खां निवासीगण दाउदबासौदा के विरूद्व पंजीबद्व किया गया है। अभियुक्त ने उक्त अपराध में लायसेंसी बंदूक का दुरूपयोग करने पर लायसेंस निरस्त करने संबंधी प्रतिवेदन पुलिस अधीक्षक के द्वारा प्रस्तुत किया गया था जिस पर जिला दण्डाधिकारी द्वारा कार्यवाही की गई है। लायसेंसी का शस्त्र तत्काल थाना बासौदा देहात में जमा कराने का आदेश दिया गया है। साथ ही लायसेंसी को आदेश प्राप्ति के सात दिवस में अपना जबाव प्रस्तुत करने का अवसर दिया गया है। 

जिला बदर के आदेश जारी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री अनिल सुचारी ने पुलिस अधीक्षक के पालन प्रतिवेदन पर एक प्रकरण मंे जिला बदर के आदेश जारी कर दिए है। जारी आदेश मंे उल्लेख है कि थाना सिविल लाइन विदिशा में अनेक आपराधिक मामलों में दर्ज अनावेदक भारत उर्फ विक्की पुत्र खुशीलाल चिढार उम्र 26 वर्ष निवासी अहमदपुर कलारी के पीछे शिवनगर के खिलाफ जिला बदर की कार्यवाही की गई है। पुलिस अधीक्षक के प्रतिवेदन पर मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत जिला बदर की कार्यवाही एक वर्ष के लिए की गई है। उक्त अवधि में विदिशा जिला एवं सीमावर्ती जिले क्रमशः रायसेन, भोपाल, गुना, अशोकनगर, सागर, राजगढ की राजस्व सीमा से एक वर्ष की कालावधि के लिए उसे निष्कासित किया गया है। 

एनसीपीसीआर के सदस्य द्वारा समीक्षा बैठक 22 को

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्री प्रियंक काननूगो द्वारा 22 सितम्बर को बासौदा में समीक्षा बैठक आहूत की गई है। यह बैठक महावीर बिहार धर्मशाला मील रोड बासौदा में दोपहर 12 बजे से शुरू होगी। बैठक में राजस्व अधिकारियों के साथ-साथ विभिन्न विभागों में पंजीकृत एनजीओ, सिविल सोसायटी संगठनों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।

रोजगार मेला आज विदिशा में

जिले के शिक्षित युवाओं को निजी कंपनियों में रोजगार मुहैया कराने के उद्वेश्य से 21 सितम्बर को विदिशा में एवं 22 को बासौदा में रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। विदिशा जिला मुख्यालय पर गुरूवार को जालोरी गार्डन में तथा 22 को संजय गांधी स्मृति महाविद्यालय में रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। यह मेला नियत स्थल एवं तिथि को प्रातः 11 बजे से शुरू होगा। जिले के ऐसे युवाजन जो उच्चतर माध्यमिक से लेकर ग्रेजुएट है और उनकी आयु 18 से 35 वर्ष है वे आवश्यक दस्तावेंजो के साथ रोजगार मेले में शामिल हो सकते है। अन्य विस्तृत जानकारी के लिए जिला रोजगार कार्यालय का दूरभाष क्रमांक 07592-232848 पर सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है।

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना, द्वारका और रामेश्वरम् तीर्थ दर्शन हेतु आवेदन आमंत्रित  

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत जिले के तीर्थ यात्री द्वारका के लिए नौ नवम्बर को तथा रामेश्वरम् तीर्थ दर्शन के लिए 15 नवम्बर को रवाना होंगे। दोनो तीर्थ दर्शन के लिए पात्रताधारी अपने आवेदन पत्र नजदीक के तहसील कार्यालय में नियत तिथि तक जमा कर सकते है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के संचालक ने बताया कि विदिशा जिले के तीर्थ यात्री द्वारका तीर्थ दर्शन हेतु आवेदन पत्र 26 अक्टूबर तक और रामेश्वरम हेतु आवेदन दो नवम्बर 2017 तक जमा कर सकते है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजन के नोड्ल अधिकारी ने बताया कि तीर्थ दर्शन येाजना के तहत आवेदनकर्ताओं को अपनी समग्र आईडी भी आवेदन में अंकित करनी होगी। ताकि उक्त यात्रा का लाभ दुबारा ना उठा सकें। द्वारका और रामेश्वरम के लिए तीर्थ यात्री स्पेशन टेªन से नियत तिथि को रवाना होंगेे। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत किसी भी एक यात्रा का लाभ उठा चुके वे तीर्थ यात्री पुनः आवेदन प्रस्तुत ना करें। संबंधित तीर्थ दर्शन के लिए निर्धारित लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होते है तो तीर्थ यात्रियों का चयन कम्प्यूटर रेण्डमाइजेशन प्रणाली से किया जाएगा।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...