महिला सरपंच समेत 10 ग्रामीणों का अपहरण

women-sarpanch-with-10-kidnappen-in-cg
रायपुर, 20 सितंबर, छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलियों ने ​महिला सरपंच और महिला उपसरपंच समेत लगभग 10 ग्रामीणों का अपहरण कर लिया है। अपहृत महिला सरपंच बुरकापाल हमले में शामिल आत्मसमर्पित नक्सली की पत्नी है। सुकमा जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला ने आज ‘भाषा’ को दूरभाष पर बताया कि ​नक्सलियों ने इस महीने की 16 तारीख को चिंतागुफा ग्राम पंचायत की महिला सरपंच पोड़ियम मूये, उसका बेटा पोड़ियम कोसा, पति के भाई पोड़ियम कोमल और महिला उपसरपंच समेत 10 ग्रामीणों का अपहरण कर लिया है। शुक्ला ने बताया कि पोड़ियम मूये आत्मसमर्पित नक्सली पोड़ियम पांडू उर्फ पंडा :45: की पत्नी है। पंडा ने इस वर्ष मई महीने में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। अधिकारी ने बताया कि पंडा नक्सलियों के जनमिलिशिया का डिप्टी कमांडर था। वह इस वर्ष 24 अप्रैल को बुरकापाल में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के दल पर नक्सली हमले में शामिल था। इस हमले में 25 जवानों की मौत हो गई थी। उन्होंने बताया कि आत्मसमर्पण के बाद पंडा ने माओवादियों के शहरी नेटवर्क को लेकर कई अहम खुलासे किए थे। वर्तमान में पंडा जिले के अंदरूनी क्षेत्रों में ग्रामीणों की बैठक लेने में जिला प्रशासन की मदद कर रहा है। शुक्ला ने बताया कि पंडा के आत्मसमर्पण करने और जिला प्रशासन की मदद करने से माओवादी बौखला गए हैं और इसी बौखलाहट में उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है। पुलिस को जानकारी मिली है कि इस घटना के पीछे नक्सली नेता रमन्ना और हिड़मा का हाथ है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने अपहृत ग्रामीणों की तलाश शुरू कर दी है तथा उन्हें रिहा कराने में स्थानीय लोगों की भी मदद ली जा रही है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...