राजनीतिक दलों के अांतरिक लोकतंत्र का अध्ययन हो : मोदी

modi-speaks-at-diwali-mangal-milan-on-political-parties-internal-democracy
नयी दिल्ली 28 अक्टूबर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज किसी दल का नाम लिए बिना कहा कि देश की राजनीतिक पार्टियों के अंदर आंतरिक लोकतंत्र का अध्ययन किया जाना चाहिये ताकि सच्चे लोकतांत्रिक मूल्यों को मजबूत किया जा सके । श्री मोदी ने यहां भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों के साथ दीपावली मंगल मिलन कार्यक्रम में कहा कि राजनीतिक दलों में आंतरिक लोकतंत्र , सांगठनिक व्यवस्था , चुनाव प्रणाली ,पार्टी नेतृत्व आदि पर अध्ययन किया जाना चाहिये जिससे लोगों को वास्तविक स्थिति की जानकारी मिल सके । वह मानते हैं कि देश के भविष्य और लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने के लिए ऐसा करना जरुरी है । उन्हें विश्वास है कि एक दिन राजनीतिक दलों में स्वस्थ लोकतांत्रिक व्यवस्था को लेकर मीडिया में व्यापक चर्चा होगी । उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों के चंदे को लेकर मीडिया में अच्छी चर्चा हुयी है लेकिल उनमें सच्चे लोकतांत्रिक मूल्यों को लेकर भी चर्चा की जानी चाहिये । प्रधानमंत्री ने कहा कि जब जनता पार्टी थी तो उसका स्वरुप छोटा था और किसी घटना पर केन्द्रीय नेतृत्व की जो प्रतिक्रिया होती थी पार्टी के छोटे कार्यकर्ता की भावना भी ठीक उसी प्रकार की होती थी भले ही शब्दों के प्रयोग में अंतर होता था । उससे अलग होनेके बाद बनी भाजपा का स्वरुप बहुत व्यापक हो गया है और विभिन्न मुद्दे पर अलग अलग स्वर निकलने लगे हैं ।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...