सुशील ने सुषमा से विदेशी दंपत्तियों को बच्चा गोद देने के नियमों पर पुनर्विचार का किया आग्रह

sushil-modi-talks-to-sushms-swaraj-on-adoption-issue
पटना 27 अक्टूबर, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से विदेशी दम्पत्तियों को भारतीय बच्चा गोद देने के नियमों पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया । श्री मोदी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से टेलीफोन पर बातचीत की और कहा कि नालंदा की एक संस्था से गोद ली गई तीन साल की बच्ची सरस्वती उर्फ शेरिन मैथ्यू की अमेरिका के टेक्सास में हुई हत्या के मद्देनजर विदेशी दम्पतियों को भारतीय बच्चों को गोद लेने के नियमों पर पुनर्विचार करना चाहिए क्योंकि विदेश गए भारतीय बच्चों की ट्रैकिंग संभव नहीं हो पाती है। उन्होंने श्रीमती स्वराज से इस मामले को तार्किक परिणति तक पहुंचाने और बच्ची को गोद लेने वाले पिता को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का भी आग्रह किया। गौरतलब है कि बिहार के गया शहर में लावारिस मिली बच्ची को 14 फरवरी, 2015 को नालंदा स्थित ‘मदर टेरेसा अनाथ सेवा संस्थान’ को सौंपा गया था। गोद देने वाली इस संस्था को इसी वर्ष 15 सितम्बर को वित्तीय अनियमितता और कुप्रबंधन के आरोप में बंद कर दिया गया। डेढ़ साल की बच्ची को इस संस्थान से 23 जून 2016 को केरल के अप्रवासी अमेरिकी दम्पति ने गोद लिया और उसका नाम सरस्वती से बदलकर शेरिन मैथ्यू कर दिया था। शेरिन का शव रविवार को अमेरिका के रिचर्डसन स्थित उसके घर से करीब एक किलोमीटर दूर एक पुलिया के नीचे से मिला था। बच्ची को गोद लेने वाले पिता वेस्ली मैथ्यू ने पहले पुलिस को बताया था कि दूध नहीं पीने पर उसने सजा देने के लिए शेरिन को सात अक्टूबर की रात के तीन बजे घर के बाहर खड़ा कर दिया था, कुछ देर बाद वह लापता हो गई थी। लेकिन शेरिन का शव मिलने के बाद उसने अपना बयान बदल दिया और कहा कि शेरिन ने जब दूध नहीं पिया तो उसने जबर्दस्ती दूध पिलाने की कोशिश की थी। वह खांस रही थी और उसकी सांस उखड़ती जा रही थी। बाद में जब उसकी नब्ज भी डूब गई और उसे लगा कि वह मर चुकी है तो उसने उसका शव घर से हटा दिया। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...