मानवतावादी शक्तियां आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हों : मोदी

humanist-forces-against-terrorism-united-modi
नयी दिल्ली 26 नवंबर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में नौ साल पहले आज ही के दिन हुए आतंकवादी हमले में मारे गये लोगों के प्रति भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए विश्व समुदाय की मानवतावादी शक्तियाें से एकजुट होकर आतंकवाद से मुकाबला करने का आह्वान किया है। श्री मोदी ने आकाशवाणी से आज प्रसारित ‘मन की बात ’ कार्यक्रम के जरिये देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकवादियों ने 26 नवंबर 2008 में मुंबई पर हमला बोल दिया था। उन्होंने इस हमले में जान गंवाने वाले बहादुर नागरिकों तथा पुलिस एवं सुरक्षाकर्मियों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि देश उनके बलिदान को कभी भूल नहीं सकता है । श्री मोदी ने कहा कि आतंकवाद ने विश्व की मानवता को ललकारा है और वह मानवीय शक्तियों को नष्ट करने पर तुला है और इसलिए विश्व की सभी मानवतावादी शक्तियों को एकजुट होकर इसे पराजित करना होगा । उन्होंने कहा कि आतंकवाद और उग्रवाद सामाजिक ताने-बाने को कमज़ोर कर, उन्हें छिन्न-भिन्न करने की नापाक कोशिश करते हैं। इसलिए यह समय की मांग है कि मानवतावादी शक्तियां इसे लेकर जागरूक हों और मिलकर इसका मुकाबला करें।  श्री मोदी ने कहा कि आज विश्व के हर भू-भाग में आये दिन आतंकवादी हमले हो रहे हैं और इसने भयंकर रूप ले लिया है । उन्होंने कहा कि भारत के लोग तो गत 40 वर्ष से आतंकवाद को झेल रहे हैं और हजारों बेगुनाह लोगों ने अपनी जानें गंवाई है। कुछ वर्ष पहले, भारत जब दुनिया के सामने आतंकवाद की चर्चा करता था तो बहुत से लोग इसे गंभीरता से लेने को तैयार नहीं थे। लेकिन आज जब आतंकवाद उनके अपने दरवाज़ों पर दस्तक दे रहा है तब दुनिया की हर सरकारों ने आतंकवाद को एक बहुत बड़ी चुनौती के रूप में देखना शुरू कर दिया है।  श्री मोदी ने कहा कि भारत की धरती से भगवान बुद्ध, भगवान महावीर, गुरु नानक और महात्मा गांधी ने अहिंसा और प्रेम का संदेश दुनिया को दिया है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...