झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 26 नवम्बर

रोजाना लगती हे रेत की मण्डी: खनिज विभाग मोन 

jhabua news
पारा-- प्रदेश मे रेत के खनन पर लगे प्रतिबंध हटने के बाद अवेध बालु रेत परिवहन कर्ताओ की तो चल निकली हे। बिना रायलटी के प्रति दिन दर्जनो वाहन इस पुनित कार्य मे लगे हंे। जिला खनिज अधिकारी को इससे कोई वास्ता नही हे। अवेध रेत परिवहन की सुचना मिलने के बाद भी खनिज अधिकारी अपने आपसी सदभावना के चलते कारवाही करने मे रुची नही रखते। पारा नगर से प्रति दिन दर्जनो की तादाद मे अवेध बालु रेत का परिवहन किया जा रहा हे। इस अवेध रेत का परिवहन प्रति दिन चोबीसो घण्टे मे 40 से 50 ट्रक, ट्रालो, डम्फरो व टेक्टरो के माध्यम से बिना किसी रायलटी के किया जा रहा हे। अलीराजपुर जिले के अम्बुआ कठ्ठीवाडा, बोरझर आदी ओर से प्रति दिन तडके चार बजे से लेकर देर रात्री तक इन अवेध रेत परिवहन कर्ता वाहनो का आवगमन चलता रहता हे। इस बाबात खनिज अधिकारीयांे को कारवाही करने की सुचना भी आमजनो द्वारा दिजाती हे तब खनिज अधिकारी बडी ढीलाई से मोके पर पहुचते तब तक वाहन अपने गंतव्य की ओर निकल जाते हे या अपने  उपलब्ध नही होने का बहाना बनाते हे। यहा लगती हे रेत मण्डी-- अलीराजपुर जिले से अवेध रुप से बिना रायलटी के परिवहन होने वाली बालु रेत की मण्डी पारा नगर मे बस स्टेण्ड के निचे शंकर मंदिर वाले चोक पर ,राजगढ रोड पर होली चोक व हायर सेकेण्ड्री स्कुल मेदान के सामने प्रति दिन सुबह 6 बजे से 8 बजे तक लगती हे। वही अलीराजपुर व राणापुर की तरफ से आने वाले कुछ वाहन रजला मे भी खडे रहते हे । जहा टेक्टरो द्वारा आई रेत की मण्डी सजती हे व दलालो के द्वारा ओने पोने दामो आई रेत  का एक टेक्टर 6 से 7 हजार रुपए मे बिकता हे। दोपहर पश्चात उक्त सभी वाहन उपयोग कर्ता के यहा खाली होकर पुनः अपने मुकाम पर पहुच जाते हे। वही कोई कोई वाहन तो अपने तय शुदा भाव के अनुसार व उपयोग कर्ता की मांग पर एक दो फेरे ज्यादा भी लगा लेता हे। यह हे रेत के बढे दामो का कारण--देश भर मे ग्रामीण विकास व प्रधानमंत्री आवास योजना के चलते बालु रेत की मांग बढने से रेत का भाव आज दुने से भी ज्यादा होगया हे। सरकार की मंशा अनुरुप गांव गांव मे बनने वाले प्रधान मंत्री आवास की सहायता राशी के चक्क्र मे कई लोग जुगाड लगा कर अपने पुराने मकानो को तुडवा कर नवीन भवन बना रहे हे। वही जिन लोगो को इस का लाभ मिला रहा हे। उनकी संख्या भी बहुत मात्रा मे हे। जिनको की एक निश्चित अवधि मे अपना भवन पुर्ण कर सरकारी सहायता राशी प्राप्त करना हे। इसी भागम भाग व मोके का फयदा उठाते हुए रेत माफीयाओ ने अपने एक टेक्टर के दाम इतने ज्यादा बढा दिए कि जितने मे एक वर्ष पहले एक ट्रक भर कर रेत आजाती थी। सडक से गुजरते हे ओवरलोड रेत वाहन--पारा स्थित राजगढ राणापुर रोड प्रधान मंत्री सडक मे बनी हे जिसकी लोड वहन क्षमता 8 टन से ज्यादा की नही हे। इस सुचना का बोर्ड भी प्रधानमंत्री सडक विभाग ने पारा स्थित वन विभाग के आफिस के सामने लगा रखा हे बावजुद इसके प्रतिदिन रेत भरे 40 टन से भी ज्यादा के अवेध रेत से भरे ट्रक ट्राले व डम्फर इस रोड पर से गुजरते हे। जो इस हलकी रोड का दम निकालने पर तुले हुवे हे। पुलिस की उदासीनता का आलम यह हेकि वे भी इस मार्ग से निकले ने वाले ओवर लोड वाहनो पर कोई कारवाही नही करते हे। पुलिस की इसी उदासीनता चलते रेत माफीयाओ के होसले बुलंद हे व बिना कीसी रुकावट के ओवरलोड वाहन इस सडक से निकले मे कोई भय महसुस नही करते हे। 

ये कहना हे इनका--हम समय समय पर कारवाही करते रहते हे।  खनिज वाले इस पर ध्यान नही देते हे व बुलाने पर भी समय पर नही आते हे। : बी एस बघेल, पुलिस चोकी प्रभारी पारा

29 नवंबर को मुख्यमंत्री के शासन के 12 साल पूर्ण होने पर भाजपा मुख्यालय पर करेगी कार्यक्रम

झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष दौलत भावसार ने एक जानकारी में बताया कि मध्यप्रदेश सरकार के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान के शासन के 12 साल पूर्ण होने पर झाबुआ जिला मुख्यालय पर भाजपा संगठन कार्यक्रम आयोजित करेगा। इस अवसर पर शासन की विभिन्न योजनाओ के हितग्राहियो का सम्मान भी किया जावेगा। ओर आतिशबाजी भी की जावेगी जिलास्तरीय वृहद बैठक का आयोजन भी किया जावेगा। जिसमें समस्त जिला पदाधिकारी कार्यकारिणी सदस्य मोर्चा के जिला कार्यकारिणी मंडल कार्यकारिणी भाजपा सहित मोर्चो की एवं प्रकोष्ठो के संयोजन एवं सारे जनप्रतिनिधि अपेक्षित व आमंत्रित रहेगे। उक्त जानकारी जिला भाजपा मिडिया प्रभारी अंबरीष भावसार द्वारा हमारे प्रतिनिधि को दी गई।

कड़कड़ाती ठंड से राहत दिलाने के लिए  मालवा जैन महासंघ एवं रोटरी क्लब द्वारा जरूरतमंदों को वितरित किए गए कंबल

jhabua news
झाबुआ। मालवा जैन महासंघ एवं रोटरी क्लब झाबुआ द्वारा रविवार को दोपहर 12 बजे एक कार्यक्रम का आयोजन कर बाजार में घूमने वाले जरूरतमंदों एवं गरीबजनों को निःषुल्क कंबल का वितरण किया गया, ताकि उन्हें शीत ऋतु मंे लगने वाली कड़ाके की ठंड में ठिठुरन से राहत मिल सके। कार्यक्रम में उपस्थित मालवा जैन महासंघ के केंद्रीय प्रवक्ता यषवंत भंडारी ने बताया कि उनके एवं उनके पुत्र निखिल भंडारी द्वारा प्रतिवर्ष शीत ऋतु मंे बाजार में घूमने वाले जरूरतमंदों एवं गरीबजनों को कंबल, शाल, स्वेटर आदि का वितरण किया जाता है। सुबह एवं रात्रि के दौर में लगने वाली ठंड के दौरान फुटपाथ एवं अन्यत्र जगहों पर गरीबो ंएवं निराश्रितों को विश्राम करते समय काफी परेषानी होती है एवं उनके स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचता है। उन्हें मद्द की दरकार रहती है।

कंबलों का किया वितरण
इस उद्देष्य से मालवा जैन महासंघ एवं रोटरी क्लब के बेनर तले केंद्रीय प्रवक्ता यषवंत भंडारी एवं रोटरी क्लब के युवा सदस्य निखिल भंडारी तथा उनके परिवारजनों द्वारा 20 से अधिक गरीबांे एवं जरूरत मंदो को कंबलों का वितरण किया गया। इस अवसर पर रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल एवं उपाध्यक्ष दौलत गोलानी भी उपस्थित थे।

दोे चरणों में मनाई जावेगी गीता जयंती महोत्सव, श्री रामानुजजी के मुख से प्रवाहित होगी श्री मदभागवत कथा
बैठक का हुआ आयोजन, दिये गये सुझाव ।

jhabua news
झाबुआ । नगर में पिछले 52 बरसों से गीता जयंती महोत्सव का आयोजन एक पंरपरा बन चुकी है । नगर के इतिहास में गीता जयंती के समारोह में देश के ख्यातनाम संतो एवं महात्माओं ने  इस धरा पर आकर अपनी अमृतवाणी से इस आयोजन को सार्थक किया है । पिछले कुछ अर्से से हालांकि कुछ शिथिलता आई जरूर है किन्र्तु िफर से  इस बार नगर की परंपरा स्थापित हो कर यहां की सामाजिक,धार्मिक संस्थाओं एवं धर्मप्रेमियों ने इसे  यादगार बनाने के लिये  गीता जयंती समारोह को भव्य पैमाने पर दो चरणों में आयोजित करने की योजना को साकार किया जारहा है। 27 नवम्बर से  29 नवंबर तक स्थानीय दशा नीमा समाज के श्री चारभूजा नाथ मंदिर में पण्डित विश्वनाथ शुक्ला गीता महात्म्य पर चर्चा कर धर्म सन्देश प्रवाहित करेगें । गीता विश्व का सर्वोच्च आध्यात्मिक ग्रंथ होकर यह सर्वकालिक है , इसमें हर धर्म के लोगों की बातों एवं उपदेशो का समावेश है। एकेश्वरवाद का भंडार है जिसमें परमात्मा का स्वरूप जड चेतन सबमे व्याप्त है । दूसरे चरण में  इसी कडी में प्रकांड विद्वान आचार्य रामानुजजी जो पूज्य स्वामी सत्यमित्रानंदजी के शिष्य एवं स्वामी श्री अवधेशानंदजी के गुरूभाई है, के मुखरबिंद से श्रीमद भागवत कथा की निर्झरिणी 24 दिसंबर से 31 दिसम्बर तक पैलेस गार्डन में सुसज्जित पाण्डाल में धर्मप्रमियों के बीच प्रवाहित होगी । भगवार वेदव्यासजी के श्रीमुख से निकली श्री मदभागवत कथा का सुंदर विश्लेषण कर आम लोगो ं के जन जीवन को स्रुखद बनाना ही  मुख्य उद्देश्य है। उक्त उदगार इतिहासवेत्ता प्रो. केके त्रिवेदी ने शनिवार की रात्री को  गीता जयंती समारोह के आयोजन समिति द्वारा आयोजित बैठक में कार्यक्रम का संचालन करते हुए नगर के समाजसेवियो, धार्मिक संस्थाओ,प्रबद्धजनो एवं धर्मप्रमियों की आयोजन को लेकर आहूत बैठक को संबोधित करते हुए कही । पैलेस गार्डन में आयोजित इस वृहद बैठक में रानापुर के समाजसेवी एवं सनाधर्म संस्था के अध्यक्ष गंभीरमल राठी ने संबोधित करते हुए पूज्य रामनुजजी के जीवन वृत की जानकारी देते हुए बताया कि  गुजरात के सुरेन्द्र नगर के गदडा गांव में एक गरीब शिक्षक परिवार के यहां जन्म रामानुजजी ने मात्र 10 वर्ष की आयु में ही संुदरकांड कों कंठस्थ कर लिया एवं 12 वर्ष की आयु मे अहमदाबाद में दादा कृष्णदेवजी से आध्यात्मिक शिक्षा ग्रहण की थी । 1996 में पहली बार सागर आश्रम बडौदा मे प्रथम कथा का आयोजन किया था । हरिद्वार भारत माता मंदिर में स्वामी सत्यमित्रानंद जी इनकी कथा से प्रभावित होकर इन्हे शिष्य बनाया औ र गुरूदीक्षा प्रदान की । इनके पिताजी भी प्रतिदिन 108 हनुमान चालिया का नियमित पाठ करते है। इनकी कथाओं का आयोजन अमेरिका, ब्रिटेन सहित कई देशो में हुआ है । श्री राठी ने बताया कि व्यासपीठ पर कोई भी धनराशि ग्रहण नही करते है और प्राप्त धनराशि का उपयोग इनके द्वारा जन कल्याण के क्षेत्र तथा स्वास्थ्य एवं शिक्षा मे किया जाता है । समय की पाबंदी इनकी विशेषता है । अतः आयोजित कथा में मर्यादा का पालन प्रथम शर्त रहती है। उन्होने कहा कि भागवत ऐसा ग्रंथ है जिसे पैसों से नही तोला जासकता हैै । झाबुआ नगर हमेशा सेही धर्मक्षेत्र में अग्रणी रहा है । इस अवसर पर किन्नर समाज की प्रमुख रानी बहिन ने भी संबोधित करते हुए आगामी 1 से 15 दिसम्बर तक वृहद किन्नर सम्मेलन आयोजित करने की जानकारी देते हुए 28 नवम्बर को किन्नर समाज द्वारा नगर भोज के आयोजन की जानकारी देते हुए भागवत कथा में सहयोग देने की बात कहीं । पाटीदार समराज के नाथुलाल पाटीदार, भगवतीलाल शाह ने भी अपने विचार व्यक्त किये । सुश्री कीर्ति देवल ने नगर में हिन्दुओं के बच्चों के लिये संस्कृमत पाठशालाा खाले जाने  पर विचार रखे । राजेन्द्र सोनी ने भी मीडिया की भूमिका पर विचार व्यक्त किये । एडवोकेट जगदीशचन्द्र नीमा ने भगवत गीता के सन्देशो ं को आत्मसात करने वाला बताते हुए आत्बल बढाने वाला बताया तथा कथा के दौरान बच्चों के लिये तथा महिलाओं के लिये  एक एक सत्र पृथक से आयोजित करने की बात कहीं ।श्रीमती नीलीनी बैरागी ने भागवत कथा को आत्म शोधन का साधन बताया । अरोडा खत्री समाज के अरूण अरोडा ने पूर्ण सहयोग देने तथा सौपे गये दायित्वों का निर्वाह करने की बात कहीं । घनश्याम बैरागी ने भी भागवत कथा के दौरान गायत्री परिवार द्वारा पूर्ण सहयोग देने की बात कहीं ।कीर्ति भावसार ने भी पूर्ण सहयोग देने का संकल्प दुहराया । नीरजसिंह राठौर से बताया कि कथा के आयोजन मे 5 से 10 लाख तक का व्यय होगा  । बैठक केदौरान ही 1 लाख 85 हजार से अधिक की राशि संकलित होने की जानकारी देते हुए नगर में सकल हिन्दू संगठन के गठन की आवश्यता बताई जिसका करतल ध्वनि से अनुमोदन किया गया । कथा पैलेस गार्डन में 24 से 31 दिसम्बर तक दोपहर 1 बजे से सायंकाल 5 बजे तक आयोजित होगी । भागवत कथा के र्सफल आयोजन को लेकर आगामी बैठक 16 दिसम्बर को आयोजित होगी जिसमे विभिन्न समितियों के गठन के बारे में निर्णय को अन्तिम रूप दिया जावेगा । अन्त मे आभार प्रदर्शन कन्नु भाई राठौर ने व्यक्त किया ।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...