भारत की एक और उपलब्धि, वासेनार अरेंजमेंट में जगह मिली

another-feather-in-india-cap-finds-place-in-the-vasanar-arrangement
नयी दिल्ली 08 दिसंबर, भारत के परमाणु अप्रसार को लेकर बेदाग़ रिकॉर्ड को देखते हुए उसे एक और महत्वपूर्ण निर्यात नियंत्रण व्यवस्था “वासेनार अरेंजमेंट” में शामिल कर लिया गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आज यहां नियमित ब्रीफिंग में बताया कि छह-सात दिसंबर को विएना में वासेनर अरेंजमेंट की महासभा की बैठक हुई जिसमें भारत काे सदस्य के रूप में शामिल करने का निर्णय लिया गया। भारत इस व्यवस्था में 42वां सदस्य होगा। भारत की सदस्यता की प्रक्रियाएं जल्द ही पूरी कर ली जाएंगी। प्रवक्ता ने कहा कि इस व्यवस्था का अंग बन जाने पर भारत को रक्षा एवं अंतरिक्ष कार्यक्रमों के लिए अत्याधुनिक एवं संवेदनशील प्रौद्योगिकी का आदान प्रदान करने तथा संयुक्त उत्पादन उपक्रम करने की छूट मिल सकेगी।  इस व्यवस्था में शामिल होने वाले देशों को वैश्विक अप्रसार संधियों के दायरों का अनुपालन करना होगा जिसमें परमाणु अप्रसार संधि शामिल है। भारत ने हालांकि परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। लेकिन उसके बेदाग़ रिकॉर्ड को देखते हुए उस संधि पर हस्ताक्षर करने की कोई नयी शर्त नहीं लागू की गयी है। गौरतलब है कि भारत गत वर्ष एक अन्य महत्वपूर्ण मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) में शामिल हुआ है जिसमें चीन को भी जगह नहीं मिल पायी है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...