नाेटबंदी में छह लाख करोड़ रुपये का कालाधन सफेद हुआ : कांग्रेस

black-money-worth-rs-6-lakh-crore-was-white-in-the-nathbandi-congress
अहमदाबाद 10 दिसम्बर, कांग्रेस ने पिछले वर्ष नोटबंदी के दौरान छह लाख करोड़ रुपये के कालेधन को सफेद करने का आज आरोप लगाते हुए कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करायी जानी चाहिए तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को इसका जवाब देना चाहिये ।  कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां संवाददाता सम्मेलन में नोटबंदी के दौरान कालेधन को सफेद करने को लेकर 11 उदाहरण देते हुए कहा कि इस संबंध में प्रधानमंत्री और भाजपा को इसका जवाब देना चाहिये। उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबंदी के दौरान गरीब और साधारण लोग बुरी तरह परेशान हुए।  उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक के आकड़ों के अनुसार नोटबंदी के पहले सितम्बर में बैंकों में पांच लाख 88 हजार करोड़ रुपये जमा कराये गये थे और तीन लाख करोड़ रुपये का फिक्स डिपोजिट कराया गया था। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दिन भाजपा की ओर से कोलकाता के एक बैंक में एक करोड़ रुपये जमा कराये गये थे। इससे पूर्व भाजपा की ओर से ही तीन करोड़ रुपये जमा कराये गये थे ।  श्री सुरजेवाला ने कहा कि एक अक्टूबर से छह नवम्बर के दौरान भाजपा ने बिहार में आठ स्थानों पर और ओडिशा में 18 स्थानों पर सम्पत्ति की खरीद की थी जिसका जवाब पार्टी को देना चाहिये । इसी प्रकार से अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक में नोटबंदी के तीन दिन पहले 500 करोड़ रुपये जमा कराये गये थे। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस बैंक के निदेशक हैं ।  उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबंदी के पूर्व गाजियाबाद में एक कार से तीन करोड़ रुपये पकड़े गये थे जो भाजपा के उत्तर प्रदेश कार्यालय ले जाये जा रहे थे। इसके अलावा भाजपा के अनेक वरिष्ठ नेताओं के पास से करोड़ों रुपये पकड़े गये थे । कांग्रेस नेता ने इन सभी मामलों की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की और कहा कि इससे सच्चाई सामने आ जायेगी ।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...