गुजरात में कांग्रेस असली विजेता है : शिवसेना

congress-real-winner-shivsena
मुंबई, 18 दिसंबर, शिवसेना ने आज कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस चुनाव में ‘‘असली विजेता’’ के तौर पर सामने आयी है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि सत्ता में आना कोई ‘‘बड़ी बात’’ नहीं है। कांग्रेस चुनाव बेशक हार गई है लेकिन उसने भाजपा को ‘‘हरा’’ दिया। राउत ने कहा, ‘‘आपने देखा कि भाजपा सत्ता में आ रही है लेकिन असली विजेता कांग्रेस पार्टी है। वे बेशक हार गए हैं लेकिन उन्होंने भाजपा को हरा दिया है।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा पिछले 20 वर्षों से अधिक समय से गुजरात में सत्ता में है। राउत ने कहा, ‘‘सत्ता में आना बड़ी बात नहीं है।’’ शिवसेना नेता ने यह भी कहा कि भाजपा का गुजरात मॉडल विफल हो गया है। राउत ने दावा किया, ‘‘भाजपा को देश में सत्ता की राह पर लाने वाला मॉडल विफल हो गया है। इसका कारण यह है कि आपने (भाजपा ने) राज्य और देश को जो सपने दिखाए उनमें से कोई भी पूरा नहीं हुआ।’’ राज्यसभा सदस्य ने कहा कि भाजपा ने नोटबंदी से गरीबों की पॉकेटों को खाली कर उन्हें और गरीब बना दिया। उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘इसका नतीजा गुजरात में देखा गया।’’ उन्होंने कहा कि चुनाव नतीजे दिखाते हैं कि गुजरात में लोग भाजपा से खुश नहीं है। शिवसेना नेता ने कहा कि भाजपा ‘गुजरात के विकास मॉडल’ की बात करते हुए देश में सत्ता में आई थी। उन्होंने कहा, ‘‘अगर गुजरात में आवाम भाजपा से खुश नहीं हैं तो उनका मन-मानस समझें, समझें कि देश में लोग क्या महसूस करते हैं। भाजपा को गुजरात के लोगों का मन-मानस तथा उनके खुश नहीं होने का कारण समझना चाहिए।’’ राज्यसभा सदस्य ने दावा किया कि चाहे वह सुरक्षा का मामला हो या कश्मीर, पाकिस्तान, नोटबंदी, बेरोजगारी अथवा किसान आत्महत्या का मुद्दा, नरेंद्र मोदी की सरकार ने किसी भी मुद्दे पर सफलता नहीं पायी है। राउत की यह टिप्पणी शिवसेना द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ करने के बाद आयी है। शिवसेना ने राहुल की तारीफ करते हुए कहा है कि वह नतीजे की परवाह किये बगैर गुजरात में चुनावी जंग लड़ रहे थे और यही आत्मविश्वास राहुल को आगे ले जायेगा। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने कहा कि अमेठी से सांसद 47 वर्षीय राहुल गांधी ने बेहद नाजुक मोड़ पर इस सबसे पुरानी पार्टी की बागडोर संभाली है। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय में लिखा है, ‘‘राहुल गांधी ने बेहद नाजुक मोड़ पर कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर जिम्मेदारी स्वीकार की है। उन्हें शुभकामना देने में कोई हिचक नहीं होनी चाहिए।’’
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...