नोटबंदी और जी एस टी जनहित में नहीं : मनमोहन सिंह

demonetization-gst-anti-public-manmohan-singh
आर्यावर्त डेस्क,सूरत,3 दिसंबर,2017, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने सूरत,गुजरात में एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कालाधन के बहाने नोटबंदी से  देश की वित्तीय व्यवस्था को लगभग डेढ़ लाख करोड़ प्रतिवर्ष का नुकसान हुआ है.  डॉ सिंह ने कालाधन के खिलाफ मुहीम को सही ठहराया पर नोटबंदी को गलत निर्णय की संज्ञा दी. मनमोहन सिंह ने व्यापारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि व्यापारी और आम जनता नोटबंदी एवं जी एस.टी. की मार से त्राहिमाम कर रहे हैं पर सरकार अपनी पीठ थपथपाने में जुटी है.पूर्व प्रधानमंत्री ने निजी निवेश को इस वक्त पिछले २५ वर्षों में सबसे कम बताया .श्री सिंह ने गाँधी जी को उद्धृत करते हुए कहा कि गाँधी जी हमेशा कहते थे कि कोई भी फैसला लेने से पहले सरकार को गरीबों की चिंता करनी चाहिए.पूर्व प्रधानमंत्री ने अपने शासन  काल में करोड़ों लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकालने  का दावा भी किया.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...