चिकित्‍सकों को नैतिक मूल्यों को तव्वजो देनी चाहिए: वेंकैया

doctors-moral-values-tavjjo-venkaiah
देहरादून 05 दिसंबर, उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज कहा कि चिकित्सकों को मरीजों की भलाई और कल्‍याण को ध्‍यान में रखते हुए अपने काम में नैतिक मूल्यों को भी तव्वजो देनी चाहिए। श्री नायडू उत्‍तराखंड के देहरादून में स्‍वामी राम हिमालयन विश्‍वविद्यालय के दूसरे दीक्षांत समारोह में संबोधन दे रहे थे। उन्होंने कहा कि हिमालयन चिकित्‍सा विज्ञान संस्‍थान (एचआईएमएस )स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के क्षेत्र में एकीकृत और किफायती दृष्‍टिकोण विकसित कर रहा है, जिससे न केवल स्‍थानीय आबादी की जरूरतें पूरी होंगी, बल्‍कि यह पूरे देश के लिए मानक के रूप में कार्य करेगा। उन्‍होंने कहा कि एचआईएमएस और इससे जुड़े राज्‍यों की ग्रामीण आबादी के लिए मल्‍टी सुपर स्‍पेशलिटी स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल सेवाएं प्रदान कर रहा है। उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि विश्‍वविद्यालय का कैंसर अनुसंधान संस्‍थान, कैंसर नियंत्रण के सभी पहलुओं पर गंभीरता से काम कर है।आने वाले दिनों में यह क्षेत्र का प्रमुख कैंसर केंद्र तथा कैंसर के मरीजों के लिए महत्‍वपूर्ण स्‍थान बन सकता है। उन्‍होंने कहा कि मरीजों की देखभाल एवं इलाज में नर्स की महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है। यह जानकर अत्‍यंत प्रसन्‍नता हुई है कि हिमालयन नर्सिंग कॉलेज स्‍नातक और स्‍नातकोत्‍तर नर्सिंग डिप्‍लोमा प्रदान कर रहा है। इस अवसर पर उत्‍तराखंड के राज्‍यपाल कृष्‍णकांत पॉल, मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, राज्‍य के उच्‍च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, स्‍वामी राम हिमालयन विश्‍वविद्यालय के कुलपति विजय देशमान और अन्‍य गणमान्‍य उपस्‍थित थे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...