झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 दिसंबर

ग्रामीण मंडल किसान मोर्चे के पदाधिकारी व कार्यकारिणी घोषित

झाबुआ। भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष दौलत भावसार द्वारा किसान मोर्चे के जिलाध्यक्ष श्री छगनलाल जायसवाल से विचार विमर्श करने के बाद मदरानी मंडल के पदाधिकारी व कार्यकारिणी की घोशणा विधिवत रुप से आज कर दी है। किसान मोर्चे के मंडल मदरानी के पदाधिकारी व कार्यकारिणी इस प्रकार रहेगे, अध्यक्ष - श्री पांगला चारेल, उपाध्यक्ष - श्री बदिया बारीया, धारु भूरिया, कसना भूरिया, बच्चु निनामा, रणछोड बारीया, महामंत्री - श्री नटवरलाल गारी, जगु भुरिया, मंत्री - श्री मकन डामोर, भावसिंह भूरिया, हुका दाहमा, हुरसिंह गरवाल,नुरा बारिया, कोशाध्यक्ष - सुश्री रेषमा भूरिया, सदस्य - श्री अर्जुन कटारा, बाबु भूरिया, कल्ला गजिया मेडा, मोहन मैडा, जामु भूरिया, सोमेश भूरिया, नरसिंह खराडी, चंदुभाई माना, भारत गारी, पुनिया भूरिया, गोरसिंह डामोर, रालु सुरसिंग, धारु सुरसिंह,मुलिया परमार, रमीया मावी, मानसिंह पारगी, बसुभाई पारगी, रमसु परमार, रसीया डामोर, सांतु मुणिया, खीमा डामोर, रामा कटारा, राकु नरसिंह, रमेष डामोर, महिला सदस्य - तोला गालिया, होमली अपसिंह, बचुडी रमसु, नुरा खुषाल, कांता चारेल, उक्त जानकारी भाजपा किसान मोर्चा मिडिया प्रभारी आषिश षर्मा द्वारा हमारे प्रतिनिधि को दी गई।

विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर काॅलेज ग्राउण्ड पर हुआ निःशक्तजनों के खेलकूद एवं विकलांग पुनर्वास केन्द्र में हुआ सामथ्र्य एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं का आयोजन
  • उत्साह और उमंग से दिव्यांगजनों ने भाग लिया

jhabua news
विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर के अवसर पर जिला स्तर पर कलेक्टर श्री आषीष सक्सैना के मार्गदर्शन में जिला स्तर पर विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर 2017 के अवसर आयोजन किया गया कार्यøम में अमिथि के रूप् में सम्मिकलत थे झाबुआ विधानसभा के लोकप्रिय विधायक शांतिलाल बिलवाल, जिलाध्यक्ष भाजपा दौलत भावसार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमति जमना भिड़े, महिला आयोग सखी श्रीमति अर्चना राठौर, उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःषक्तजन कल्याण श्री अषफाक अली सैयद । प्रातः 11 बजे से स्थानीय महाविद्यालय प्रांगण में खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें निःषक्तजनों में उत्साह देखा गया प्रातः से ही विभिन्न विकासखण्डों से निःशक्तजनों ने शासकीय महाविद्यालय खेल प्रांगण में आयोजित निःशक्तजनों के सामथ्र्य प्रदर्शन प्रतियोगिताओं में शामिल होकर आयोजित विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं जलेबी दौड़, निम्बु दौड़, थैला रेस, चेयर रेस, 50 मीटर, 100 मीटर 200 मीटर दौड़ बैसाखी दौड़ गोला फेंक भाला फेंक, लम्बी एवं उॅची कूद में मुक बधिर, अस्थिबाधित दृष्टिबाधित, एवं मानसिक स्प से निःषक्तजन बड़ी संख्याॅं में महाविद्यालय प्रांगण में पहुॅचेे और बढ़ चढ़ कर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया । उपरान्त दोपहर 3.30 बजे से जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र कल्याणपुरा रोड़ रंगपुरा झाबुआ में जिला स्तरीय चित्रकला,एकल समूह गायन, एकल समूह नृत्य मोनोएक्टिंग ,इत्यादि ,का आयोजन किया गया जिसमें दिव्रूांग बच्चों ने बड़े उत्साह एवं उमंग से भग लिया और अपनी विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से अतिथियों व उपस्थित जनमानस को दाॅंतो तले अंगुलियाॅं दबाने पर मजबुर कर दिया । खेलकूद एवं सांस्कृतिक व सामथ्र्य प्रतियोगिता में जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र में संचालित अनुभूति सी डब्ल्यू एसन छात्रावास के बालक-बालिका, श्रुति मूक बधिर संस्था अंतरवेलिया, आज़ाद विकलांग कल्याण समिति मेघनगर, समन्वय सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्था झाबुआ, पेरेन्ट्स सोसायटी फाॅर वेल्फेयर आॅफ पर्सन्स विथ डिसएबिलिटीज़ शासकीय व अषासकीय विद्यालयों के निःषक्त छात्र-छात्राओं ने भाग लिया । उक्त समस्त प्रतियोगिताएॅ सम्पन्न करवाने हेतु सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ने खेल शिक्षकों की प्राथमिकता से व्यवस्था की थी जिसमें कुलदीप धाबाई, ए एस खान योगेश गुप्ता और नरेष राजपुरोहित ने पुरे मनोयोग से समस्त प्रतियोगिताओं के लिए एक दिवस पूर्व विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं के लिए मैदान बनाया, और जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र व सी डब्ल्यू एस एन छात्रावास में अरूण महाकुड मयूर  वैंषम्पायन, प्रवीण भाबोर, मुकेष बुन्देला, एलिजाबेथ रावत, सरिता डांेडियार, संगीता परमार, बी एल अहिर, रामसिंह मोहनिया, महेष देवदा की सहायता से खेलकूद प्रतियोगिताए सम्पन्न करवाई । साथ ही सर्व षिक्षा अभियान के जिला समन्वयक एल एन प्रजापति, खण्ड स्त्रोत समन्वयक झाबुआ मानसिंह हटीला, मनीष पंवार, दिलीप जोषी एम आर श्रीमति दीप्ती अग्रवाल, राजेष्वर शरणागत, दीपक साहु, मुबीन खान, सुभाष पाटीदार, इलियास खान एम एस डब्ल्यू विद्याार्थी बच्चुसिह भूरीया, दूलेसिंह मोरी, राकेष डामोर, हंसा भूरीया ने उपस्थित रहकर विषेष सहयोग प्रदान किया । उसके उपरान्त खेलकूद सामथ्र्य एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में प्रथम व द्वितीस स्थान प्राप्त करने वाले प्रतियोगी निःषक्तजनों को अतिथियों के द्वारा पुरस्कृत किया गया, साथ ही अतिथियों ने बच्चें को आषिर्वाद स्वरूप् उद्बोधन दिया कहा कि नर सेवा नारायण सेवा का रूप है दिव्यांगजनों की सेवा में रत सेवक जनो का सौभाग्य है कि उन्हे इन दिव्य आत्माओं की सेवा करने का सौभग्य प्राप्त हुआ है और आपकी सेवा प्रत्यक्ष रूप से इन बच्चों की प्रस्तुतियों में दृष्टिगोचर हो रही है । बच्चों से पहले उनके षिक्षकों उनके अभिभावकों का   साधुवाद । इस हेतु जिले की समस्त जनपद मुख्यालयों से निःशक्तजनों के आवागमन की व्यवस्था हेतु खण्ड स्त्रोत समन्वयक, एवं जिला परियोजना समन्वयक सर्व षिक्षा अभियान एवं विकलांगता के क्षेत्र में कार्य कर रही संस्थाओं से इस आयोजन को सफल बनाने हेतु सहयोग कर कार्यक्रम के सफल आयोजन में पूर्ण सहयोग किया । कार्यक्रम का संचालन शैलेन्द्र सिंह राठौर व प्रवीण भाबोर ने एवं उपसंचालक सामाजिक न्याय सैयद अषफाक अली ने आभार माना ।

विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर हुआ अनुभूति छात्रावास एवं प्राथमिक षाला रंगपुरा के बालक-बालिकाओं का स्वास्थ्य परीक्षण

झाबुआ । विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर के अवसर पर जिला स्तर पर कलेक्टर श्री आषीष सक्सैना के मार्गदर्शन में जिला स्तर पर विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर 2017 के अवसर पर दो दिवसीय (दिनांक 3 व 4 दिसम्बर 2017) आयोजन किया गया । आयोजन के द्वितीय दिवस 4 दिसम्बर 2017 को प्रातः 10.30 बजे से निःषक्तजनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया जिसमें कुल 51 बाहरी निःषक्तजनों का परीक्षण कर उनके प्रमाण पत्र बनाये गये साथ ही अनुभूति सी डब्ल्यू एस एन छात्रावास एवं प्राथमिक शाला रंगपुरा केन्द्र के 68 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया षिविर में जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन एवं नाक कान गला रोग विषेषज्ञ डाॅ आर एस प्रभाकर, डाॅ0 विजय सिंह निनामा अस्थिरोग विषेषज्ञ डाॅ जी एस आवासिया नेत्र रोग विशेषज्ञ, डाॅ आय एस चैहान बाल रोग विषेषज्ञ, ने निःषक्तजनों एवं छात्रावासी व शालेय बालक-बालिकाओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवष्यकतानुसार परामर्ष प्रदान किया और जिला चिकित्सालय से आवष्यक दवाए प्राप्त करने हेतु उपस्थित स्टाफ एवं पालकों को निर्देषित किया । सिविल सर्जन एवं डाॅक्टर आर एस प्रभाकर ने उपस्थित निःषक्तजनों व बच्चों को नाक-कान व गला के असम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि शरीर के तीनों अंग एक दूसरे से मिले हुए है और इन पर शीघ्र ही इंन्फेषन होने की संभावना होती है उन्होने बच्चों को सर्दी से बचने के उपाय के बारे में बताया कि इन दिनों हमें अपने कान व शरीर उनी कपड़ो से ढॅंकना आवष्यक है जिससे शरीर व उक्त अंगों को संक्रमण से बचाया जा सके । डाॅ अवासिया ने बालक-बालिकाओं को आॅखों की देखभाल के प्रति आवष्यक जानकारी उपलब्ध कराते हुए कहा कि हमें हरी सब्जीयाॅ अपने भोजन में अवष्यक शामिल करना चाहिए । डाॅ निनामा ने बालकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि, हमें प्रतिदिन दूध व उससे बने हुए पदार्थो का सेवान करना चाहिए जिससे हमारी हड्डीया मजबुत हो । कार्यक्रम को सफल बनाने में जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र व सी डब्ल्यू एस एन छात्रावास में अरूण महाकुड मयूर वैषंपायन, प्रवीण भाबोर, मनोज वसुनिया, सरिता डोडियार, संगीता परमार एलिजाबेथ रावत, जीवन परमार कसरा डोडवा, महेष देवदा धनसिंह कमलेष नायक, ने पूर्ण सहयोग प्रदान किया । कार्यक्रम का संचालन संस्था के मैनेजर शैलेन्द्र सिंह राठौर ने किया । अंत में प्रवीण भाबोर उपस्थित डाॅक्टर्स एवं स्टाफ का आभार माना ।

एकात्म यात्रा के लिए अपर कलेक्टर नोडल अधिकारी नियुक्त
    
झाबुआ । जिले मे आदि गुरू शंकराचार्य की प्रतिमा के लिए धातु संग्रहण और जन जागरण अभियान के लिए एकात्म यात्रा 2 से 4 जनवरी 2018 तक निकाली जाएगी। इसके लिए जिले के अपर कलेक्टर श्री एस.पी.एस.चैहान को कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। एकात्म यात्रा के दौरान ओंकारेष्वर में आदि शंकराचार्य की धातु की 108 फीट ऊंची प्रतिमा बनाने के लिए धातु इकठ्ठा की जानी है। जागरूकता फैलाने के लिए निकाले जाने वाली इस यात्रा को एकात्म यात्रा नाम दिया गया है। यह यात्रा झाबुआ जिले में दिनांक 02 जनवरी 2018 को, जोबट अलिराजपुर से रानापुर होते हुए झाबुआ जिले में प्रवेष करेगी। यात्रा 04 जनवरी 2018 तक जिले में रहेगी। इसके संबंध में अधिकारियों को आवष्यक दायित्व भी सौंपे गए है। धातु पात्र में ग्राम की मिट्टी जनसंवाद स्तर पर ले जाए जाने के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत से एक प्रतिनिधि नामांकित किया गया है। एकात्म यात्रा के लिए गठित जिला आयोजन समिति की बैठक 6 दिसम्बर को सायं 4 बजे कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष मे आयोजित की जाएगी।

किसान कपास में डेण्डू की तुडाई करे

झाबुआ । कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ द्वारा किसानो को सलाह दी गई है कि किसान रबी फसलों चना व सरसो के उपरी तने की कोपलो की हल्की तुडाई शीघ्रता से पूर्ण करे,ताकि अधिक शाखाए निकल सके और फसल का उत्पादन बडे। बीज व उर्वरक को मिश्रित कर बुआई नहीं करे। कपास की फसल में रसचूसक कीट के नियंत्रण के लिये इमिडाक्लोप्रिड या थायोमिथाक्सिन दवा 0.35-0.45 ग्राम/ली की दर से छिडकाव करे। कपास में डेण्डू खिलने की अवस्था को देखते हुए खेत की सफाई करे तथा कपास की चुनाई करे, अरहर की फसल में फूल व फली लगने की अवस्था को देखते हुए छेदक इल्ली की रोकथाम के लिए ट्रायजोफास दवा 2.0 मिली/ली का छिडकाव करे।

स्वच्छ भारत मिशन अभियान अंतर्गत शौचालय निर्माण जनवरी तक पूर्ण करे
  • कलेक्टर ने कहा ग्रामीणो को शौचालय का उपयोग करने के लिए समझाये

झाबुआ । कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने आज स्वच्छ भारत मिशन अभियान अंतर्गत शौचालय निर्माण की प्रगति को गति प्रदान करने के लिए प्रेरको, सीईओ जनपद एवं ग्रामीण विकास विभाग के अमले को शौचालय निर्माण कार्य मे ग्रामीणो का सहयोग लेते हुए जल्द से जल्द कार्य पूर्ण करवाने के लिए आर सेटी प्रशिक्षण केन्द्र पर आयोजित कार्यक्रम मे निर्देशित किया। कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने कहा कि ग्रामीणो से चर्चा कर शौचालय का निर्माण एवं उपयोग करने के लिए समझाईश दे।
  ग्रामीणो को शौचालय का उपयोग करने के फायदे बताते हुए समझाये कि बाहर शौच करने जाने से जहरीले जानवरो के काटने का खतरा बना रहता है । वर्षा काल में बहुत परेशानी होती है एवं गाव के आसपास गंदगी बने रहने से डायरिया टायफाइड इत्यादि घातक बीमारियो हो सकती है। इसलिए आप लोग शौच के लिए शौचालय का ही उपयोग करे । शौचालय का उपयोग करने में आप कई बीमारियो से बचे रहेगे और बीमार होने के कारण दवाईयो एवं ईलाज पर होने वाला खर्च भी बचेगा । शौचालय के फायदे ही फायदे है नुकसान कुछ भी नही । अतः सभी ग्रामीण जन शौच के लिए शौचालय का उपयोग करे एवं अपने गाव को स्वच्छ बनाये तथा परिवार के सभी सदस्यो का मान बढाये 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...