झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 13 दिसंबर

जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति की बैठक में भडके सांसद भूरिया
  • आधे से अधिक अधिकारी बैठक से नदारद रहे  ।
  • कागजी कार्यवाही  की बजाय धरातल पर कार्य करने की दी नसीहत ।

jhabua news
झाबुआ । बुधवार को कलेक्टोरेट सभा कक्षा मे ं सांसद कांतिलाल भूरिया की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं मूल्याकन समिति ( दिशा) की बैठक का आयोजन  किया गया इस अवसर पर  प्रभारी कलेक्टर श्रीमती जमुना भिडे के अलावा रेल्वे विभाग के मंडल रतलाम के अधिकारी, नेशलन हाई वे- अथारिटी के अधिकारियों के अलावा जिला मुख्यालय के सभी विभागों के अधिकारी, कांग्रेस नेता प्रकाश रांका, रूपसिंह डामोर, गेंदाल डामोर,देवल परमार, हर्ष भट्ट के अलावा शासकीय विभागों के प्रतिनिधि उपस्थित थे । बैठक में सांसद कांतिलाल भूरिया ने कई विभागों के अधिकारियों के उपस्थित नही रहने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि जिला प्रशासन की मनमानी के चलते यदि इसी प्रकार का काम चलता रहा तथा सांसद की बैठक में अधिकारियों का उपस्थित नही रहना बडा ही गंभीर सवाल है ।यदि ऐसा ही चलता रहा औ र महत्व नही दिया गया तो वे  आगामी 15 दिसम्बर से शुरू हो रहे  संसद के सत्र में इस बात को उठायेगे । मध्यप्रदेश विद्युत मंडल की समीक्षा करते हुए श्री भूरिया को बताया गया कि जिले भर में 5632 ट्रासंफार्मर लगाये गये है जिसमें 556 असफल होने पर पर उनमें 551 को बदला जाचुका है एवं 5 को बदलने की कार्यवाही इसी सप्ताह में पूरी हो जावेगी ।हर घर मे बिजली देने की योजना के तहत 40 करोड का प्राक्कलन बनाकर स्वीकृति के लिये भेजा गया है । जून 2108 तक जिले के प्रत्येक घर मे बिजली देने का लक्ष्य शतप्रतिशत पूरा कर लिया जावेगा ।श्री भूरिया ने आज भी कई गांवों में बिजली नही होने की बात की गंभीरता को बताते हुए कहा कि कई जगह पोल लगाने के बाद भी बिजली की लाईन नही डाली गई है। जिले में सर्वे कार्य को तेजी से पूर्ण करने की भूरिया ने हिदायत दी । रेल्वे लाईन के बारे मे समीक्षा करते हुए श्री भूरिया को बताया गया कि  दाहोद इन्दौर रेल्वे लाईन के लिये भूमि अधिग्रहण के लिये 13 करोड की राशि जिला प्रशासन के माध्यम से वितरित करने के लिये जमा की गई है जिसमें से 14 लाख की मुआवजा राशि का भुगतान करना बाकी है । दाहोद कतवारा तक रेल पटरी का काम पूरा हो चुका है । कतवारा से पिटोल  तक की जमीन का मूल्यांकन  के बाद वेल्यूएशन के लिये गुजरात सरकार से त्वरित कार्यवाही करवाने के श्री भूरिया ने निर्देश दिये । पिटोल से झाबुआ तक की जमीन मिल चुकी है और 42 करोड की राशि का टेंडर बुलाये गये है  । इसके लिये 14 फर्मोसे आफर प्राप्त हो चुके है  और गुजरात की एक फर्म को इसके लिये वर्कआर्डर जारी किये जारहे है । दाहोद से  झाबुआ तक की रेल पटरियों के बिछाने का काम 2019 तक होने की जानकारी श्री भूरिया कोदी गई । नेशनल हाईवे अथारीटी के  सुमीत कुमार ने बैठक में जानकारी दी कि इन्दौर से पिटोल तक 134 किलो मीटर के फोर लेन कार्य में झाबुआ जिले का 45 किलो मीटर के सडक निर्माण में 43 किलो मीटर का काम पूरा हो चुका है। अनास नदी ब्रिज एवं माईनर ब्रिज का काम एवं 5 हकिलोमीटर का काम प्रगति पर है । माछलिया घाट का 2 किलो मीटर का मार्ग टू लेन ही रहेगा । इस तरह कुल 139 किलोमीटर फोर लेन निर्माण का काम पूरा हो चुका है ।श्री भूरिया ने हाईवे अथारीटी के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए देवझिरी से फलमाल रोड तक 13 किलोमीटर के मार्ग का काम प्रारंभ करने की बात कहीं । लोकनिर्माण विभाग के सहयोग से इस मार्ग के लिये आबण्टित 19 करोड की राशिके काम की ढिलाई एवं देरी से काम करने तथा ब्लेक लिस्टेड ठेकेदार को फिर से काम देने पर नाराजगी जताते हुए घटिया पुलिया बनाये जाने पर आपत्ति ली । उन्होने दो दिन में सभी गड्ढो को भरने तथा पेंच वर्क करने के निर्देश लोक निर्माण विभाग को दियंे । बैठक मे एनएच के अधिकारी सुमीत कुमार ने बताया कि केन्द्र सरकार ने झाबुआ पेटलावद-बामनिया-रतलाम के लिये स्टेट हाई वे को फोर लेन बनाने की स्वीकृति प्रदान करदी है ।  बैठक में पब्लिक कंसलटेंट कमेटी बनाने के लिये  भी अधिकारियों ने कलेक्टर को पत्र लिखने की बात कहीं । श्री भूरिया ने प्रधानमंत्री सडक योजना की भी समीक्षा की जिसमे बताया गया कि इस योजना में 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है । श्री भूरिया ने प्रधानमंत्री सडक के अनुबंध के अनुसार 5 साल तक ठेकेदार द्वारा रखरखाव नही करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इसे धरोहर राशि से विभागीय स्तर पर करवाने के निर्देश दिये । सिंचाई विभाग की समीक्षा करते हुए सांसद भूरिया को बताया गया कि तालाब निर्माण में भूमि अधिग्रहण में 130 किसानों में से 120 को मुआवजा राशि का वितरण किया जाचुका है । वर्तमान में रतनपाडा, आम्बापाडा एवं बखतपुरा में 3 लघ्रु सिंचाई योजनाओं के निर्माण कार्य चलने की जानकारी दी गई ।श्री भूरिया ने माही सहित जिले की विभिन्न डेमेज हो चुकी नहरों को दुरूस्त करवाने तथा किसानों को इसका लाभ दिये जाने के बारे मे निर्देश दिष्ये । श्री भूरिया ने पूरे जिले में आगामी ग्रीष्मकाल में पानी की किल्लत को देखते हुए पेयजल के लिये पानी को आरक्षित करने के बारे में निर्देशित करते हुए तालाबों के गहरीकरण तथा तालाब की मिट्टी को किसानों के खेतों में डालने के लिये परिवहन साधन उपलब्ध कराने के प्रशासन को निर्देश दिये । मनरेगा  योजना में जिले में वर्तमान में प्रगतिरत 21701 काम चलने की जानकारी दी गई ।तिथा जिले में 14335 मजदूरों को काम दिये जाने की जानकारी दी गई । श्री भूरिया  को बताया गया कि जिले में 137 तालाबों का काम चल रहा है। श्री भूरिया ने प्रशासन को मजदूरों को भुगतान नही मिलने तथा 137 तालाब काम चलने के बाद भी लाखों की संख्या में पलायन होने के मुद्दे पर प्रशासन को आडे हाथ लिया । श्री भूरिया ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली में 2666 दुकानों में गा्रमीण गरीबों को अनाज आदि नही मिलने के बारे मे सवालिया निशान उठाया बैठक में बताया गया कि पीओएस मशीन के माध्यम से ही जिले में वितरण व्यवस्था चल रही है और अुगुठा लगाने पर ही सामान उसी व्यक्ति को मिलता है । पात्रता पर्चिया पिछले एक साल से नही मिलने के बारे में शिकायत के बारे में भी श्री भूरिया ने बताया । बैठक में बताया कि जिले में 39 सार्वजनिक उचित मूल्य की नइ्र दुकाने खोली जारही है और प्रत्येक दुकान के लिये सेल्समेन रखा जावेगा ।हर प्रचायत में दुकानों की व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गई  । आदिवासी विकास विभाग में अभी तक पुस्तके नही मिलने के बारे में नाराजगी व्यक्त की । 110 स्कूलों में 55 लाख की पुस्तको के प्रदाय के बारे में हुई शिकायत की जांच केनिर्देश भी प्रशासन को दिये । कृशि विभाग की समीक्षा करते हुए श्री भूरिया को अधिकारियों ने बताया कि जिले में रबि में 23 हजार मी टन यूरिया खाद एवं खरीफ फसल के लिये 14240 टन खाद प्रदाय का लक्ष्य हे ।भावांतर योजना में दो चरणा में 38494 किसानों को पंजीयन करके  1127 किसानों को 74 लाख की रकम का भुगतान उनके खातों मे कर दिया गया है । 3550 किसानों को 2 करोड 62 लाख की रकम भुगतान करने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है । बैठक मे हार्टिकल्चर, विभाग की समीक्षा के अलावा लोक स्वास्थ्य यांत्रि.की विभाग की भी समीक्षा की गई जिसमें 400 बसाहटों 600 हेंड पंपों के खनन की बात बताई गई वही वाटर लेवल कम होने  वाले स्थानों पर 10 हजार मीटर राईजर पाईपो ं की व्यवस्था की बात कहीं । जिले में 128 में से103 नल जल योजनायें चलने की बात बताई गई । महिला एवं बाल विकास विभाग मेंजिले मे 6 विकासखडो में 2706 आंगनवाडियों के संचालित होने के बारे में जानकारी दी गई । सुपरवाईजरों द्वारा आंगनवाडियों का निरीक्षण नही करने पर भी नाराजगी व्यक्त की गई । स्वास्थ्य विभाग की जानकारी देते हुए सीएमएचओ डा. चैहान ने सिलोकिसीस बीमारी से 154 लोगों की मृत्य होने तथाउनके परिजनों को 3-3 लाख की अनुग्रह राशि दिये जाने की जानकारीके अलावा बताया कि 137 बीमारों का निशुल्क उपचार  दिया जारहा है तथा उन्हे गरीबी रेखा से नीचे का मान कर पूरी सुविधायें दी जारही है ।श्री भूरिया ने जिले में 240 उपस्वास्थ्य केन्द्रों में से 56 के रिक्त रहने तथा 33 में से 17 पद डाक्टरो ं के रिक्त रहने पर नाराजगी व्यक्त की । श्री भूरिया खनिज विभाग की समीक्षा करते हुए जिले मे रेत की कालाबाजारी पर भी आका्रेश व्यक्त किया । नगरपालिका सीएमओे ने पेयजल योजना झाबुआ, थांदला, पेटलावद के कार्य प्रगति के ेबारे में जानकारी दी । उन्होने झाबुआ की  जल परियोजना एवं पाईप लाईन बिछाने के कार्य की प्रगति के बारे मे बताया । श्री भूरिया ने विभिन्न विभागों की समीक्षा करते हुए जिले मे कागजी कार्यवाही पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि आदिवासी प्रघान इस जिले के उत्थान के लिये ईमानदारी से काम करना अधिकारियों का दायित्व है । उन्होने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा इस प्रकार ढिलाई बरतने को लेकर वे लोकसभा में मुद्दा उठायेगें ।

संासंद भूरिया ने अधिकारियों के बैठक से गायब रहने परकिया आक्रोष व्यक्त
  • राहूल  गांधी के नेतृत्व में 2018 एवं 2019 के चुनाव जीत कर कांग्रेस बनायेगी सरकार

jhabua news
झाबुआ । जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति की बैठक संपन्न होने के बाद सांसद कांतिलाल भूरिया ने बुधवार को कलेक्टर कार्यालय परिसर में मीडिया से मुखातिब होने हुए बताया कि  इतनी महत्वपूर्ण बैठक में जिला मुख्यालय के आधे  से अधिक विभागों के अधिकारियों का बैठक से गायब रहना बडा ही शर्मनाक कृत्य है तथा इसे बर्दास्त नही किया जासकता है  । अधिकारियों के छुट्टी एवं बाहर होने का कारण बताया जाना जिला प्रशासन का गैर जिम्मेदाराना कृत्य है । श्री भूरिया ने कहा कि एक माह पूर्व ही बैके लिये जिला प्रशासन को अवगत कराने के बाद भी आधे से अधिक विभागों के अधिकारियों की अनुपस्थिति बताती है कि जिला प्रशासन एवं प्रदेश सरकार का सांसद के प्रति यह रवेया सहयोगात्मक नही है । श्री भूरिया ने कहा कि सामान्य प्रशासन विभाग का सर्कुलर है कि आदिवासी प्रधान जिलों में कोइ्र भी पद रिक्त नही रहना चाहिये किन्तु यहां तो प्रभारियों एवं बाबुओं के भरोसे ही प्रशासन चलाया जारहा है । श्री भूरिया ने बतापया कि जिले में कागजी विकास के अलावा कुछ नही बताया जारहा है । जिले से 2 लाख से अधिक संख्यां मे आदिवासीयों का पलायन काम की तलाश मे हो चुका है औ र जिले में मात्र 14 हजार ही लोगों को काम दिया जाना बताया जारहा है । मनरेगा एवं विकास कार्यो में मशीनों से  काम कराया जारहा है तथा आदिवासी मजदुरों के नाम से पेमेंट निकाला जा रहा है ।आलीराजपुर जिले से भी 1.50 लाख से अधिक लोग पलायन कर चुके है । इस मुद्दे को 15 दिसम्बर से प्रारंभ हो रहे संसद के सत्र में इस बात को पूरजोर तरिके से उठायेगें । श्री भूरिया ने कहा कि लोकसभा सदस्य के नेतृत्व में गठित समिति की बैठक के प्रति जिला प्रशासन का ध्या नही नही है  । कागजी योजनाओं का संचालन हो रह ा है  इसकी विस्तृत जांच करवाई जाना चाहिये । एक सवाल के उत्तर में श्री भूरिया ने कहा कि गुजरात में परिवर्तन की लहर साफ दिखाई दे रही है । राहूल गांधी के अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बनने के बाद देश के युवाओं सहित सभी लोगो में उर्जा का संचार हुआ है ।मतदाताओं का व्यापक समर्थन मिला है । 9 दिसम्बर को हुए मतदान में लोगों का कांग्रेस के प्रति आकर्षण सार्फ दिखाई दिया है  वही 14 दिसम्बर को होने वाले मतदान में भी लोग कांग्रेस के प्रति व्यापक समर्थन देते दिखाई दे रहे है । गुजरात मे 22 साल के भाजपा के शासनकाल से लोग त्रस्त हो चुके है  । हर वर्ग परेशान दिखाई दे रहा है  । आगामी 2018 एवं 2019 के विधानसभा एवं लोकसभा के चुनाव में प्रदेश एवं देश में कांग्रेस प्रचण्ड बहुमत से अपनी सरकार बना कर जन सेवा में तत्पर होगी । श्री भूरिया ने राहूल गांधी के कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने  पर कहा कि हमारे पूरे देश की जनता सोनिया गांधी एवं राहूल गांधी के नेतृत्व में एक नई उर्जा का संचार करेगी और 18 दिसम्बर कोराहूल गांधी विधिवत राष्ट्रीय अध्यक्ष का चार्ज ग्रहण कर लेगें । उन्होने कहा कि राहूल गांधी के प्रति युवाओं मे बेहद उत्साह का संचार दिखाई देरहा है और भाजपा को कडी चुनौति देने में कांग्रेस पार्टी सफल होगी ।

महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं की समस्याओं का निराकरण निर्धारित समय सीमा में हो -ः जनभागीदारी समिति अध्यक्ष यषवंत भंडारी
  • काॅलेज मंे 5 हजार छात्र-छात्राओं की दर्ज संख्या को देखते हुए फनिर्चर की व्यवस्था होगी
  • जनभागीदारी समिति की प्रथम बैठक में छात्र-छात्राओं के हित में हुए अनेक प्रस्ताव पारित
  • नवीन सदस्यों का संकल्प एवं सम्मान समारोह हुआ

jhabua news
झाबुआ। शासकीय शहीद चन्द्रषेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ की जनभागीदारी समिति की प्रथम बैठक बुधवार को दोपहर 12 बजे संस्था के हाॅल में संपन्न हुई। जिसमें काॅलेज में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की सुविधाओं एवं उनकी समस्याओं को दूर करने के लिए अनेक प्रस्ताव सर्वानुमति से पारित हुए। बैठक मंे मुख्य अतिथि के रूप में जनभागीदारी समिति के वरिष्ठ सदस्य दौलत भावसार उपस्थित थे। अध्यक्षता जनभागीदारी समिति अध्यक्ष यषवंत भंडारी ने की। बैठक से पूर्व समिति के नवीन सदस्यांे ने संकल्प लिया एवं उनका सम्मान भी हुआ। कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर मुख्य अतिथि श्री भावसार एवं जनभागीदारी समिति अध्यक्ष श्री भंडारी के साथ विषेष अतिथि के रूप में उपस्थित उमंग सक्सेना, अर्चना राठौर, जयेन्द्र बैरागी तथा हिमांषु त्रिवेदी द्वारा किया गया। पश्चात् अतिथियो के साथ ही इस अवसर पर उपस्थित छात्र संघ अध्यक्ष कैलाष मेड़ा, सचिव सिमरन पालिवाल, उपाध्यक्ष रामसिंह भूरिया, सह-सचिव कु. प्रियंका भूरिया का भी पुष्पमाला पहनाकर स्वागत किया गया। उपस्थित सभीजनों ने अपना परिचय दिया। कार्यक्रम का संक्षिप्त विवरण जनभागीदारी समिति प्रभारी डाॅ. गोपाल भूरिया ने प्रस्तुत किया।

समिति सदस्यों का हुआ सम्मान
कार्यक्रम में समिति सदस्यों में वरिष्ठ सदस्य दौलत भावसार, प्रतापसिंह सिक्का, जयेन्द्र बैरागी, उमंग सक्सेना, नीरजसिंह राठौर, अंकुर पाठक, हिमांषु त्रिवेदी, योगेन्द्र नाहर एवं श्रीमती अर्चना राठौर का सम्मान पुष्पमाला पहनाकर महाविद्यालय प्राचार्य एचआर अनिजवाल, वरिष्ठ प्राध्यापक रविन्द्रसिंह, मंजुला गरवाल, अंजना मुवेल, डाॅ. जेसी सिन्हा आदि द्वारा किया गया। इस दौरान सभी सदस्यों को मनोनयन के प्रमाण-पत्र भी प्रदान किए गए। पश्चात् सभी सदस्यों ने अपने कर्तव्य को पूरी ईमानदारी के साथ निर्वहन करने का संकल्प दोहराया।

यह प्रस्ताव हुए पारित
बैठक शुरू करते हुए महाविद्यालय प्राचार्य श्री अनिजवाल ने एजेंडा प्रस्तुत किया। जिसमें पूर्व में बैठक में लिए गए निर्णय एवं पारित प्रस्ताव को यथावत रहने दिया गया। महाविद्यालय में कार्यरत अतिथि विद्वान एवं लिपिक के मानदेय वृद्धि के संबंध में चर्चा में समिति अध्यक्ष श्री भंडारी ने घोषणा की कि अतिथि विद्वानों का वेतनमान पहले 12 हजार था, जिसे बढ़ाकर अब 15 हजार रू. कर दिया गया है। वहीं लिपिक का वेतन जो पूर्व में 7 हजार था, जिसे बढ़ाकर 9 हजार रू. किया गया।  महाविद्यालय मंे पेयजल व्यवस्था के अंतर्गत नल, पाईप आदि का रिपयेरिंग के एजेंडे पर भी सहमति बनी और प्रस्ताव पारित हुआ। काॅलेज में स्थापित जीम के चल रहे कार्य के बारे में निर्णय लिया गया कि इसके लिए एक समिति का गठन किया जाएगा। जिसके प्रमुख प्रतापसिंह सिक्का एवं सांसद प्रतिनिधि गौरव सक्सेना रहेंगे। इसके लिए खेल प्रभारी को भी पत्र लिखकर व्यवस्थित करने हेतु सूचित किया जाएगा। वनस्पति विभाग मंे प्रायोगिक कार्य के तहत नवीन माइक्रो स्कोप क्रय करने एंव पुराने माइक्रोस को रिपयेरिंग करने का प्रस्ताव भी बैठक में पारित हुआ। काॅलेज में फनिर्चर की समस्या होने की बात सामने आने पर प्राचार्य श्री अनिजवाल ने बताया कि संस्था मंे वर्तमान में करीब 5 हजार छात्र-छात्राएं अध्ययनरन है, जिसके मुताबिक फनिर्चर कम पड़ता है। इसके लिए प्रस्ताव हुआ कि फनिर्चर की व्यवस्था कर दी जाएगी। काॅलेज परिसर में छात्र‘-छात्राओं के बैठने के लिए चेयर भी लगाई जाएगी। काॅलेज में विभिन्न संकायों के छात्र-छात्राओं के लिए पुस्तके नहंी होने की समस्या रखी गई। जिस पर समिति अध्यक्ष श्री भंडारी ने कहा कि किताबे वहीं खरीदी जाए जो उनके विषयानुसार हो, इसके अलावा बेवजह दूसरी किताबे नहीं क्रय की जाए। इस दौरान सांसद प्रतिनिधि गौरव सक्सेना ने महाविद्यालय मंे एमएसडब्ल्यू खोलने की मांग की।

छात्र-छात्राओं की समस्याओं का हो समय पर निराकरण
बैठक में जनभागीदारी समिति अध्यक्ष श्री भंडारी ने कुछ अन्य प्रस्ताव भी अपनी ओर से पारित किए। जिसमें महावि़द्यालय में छात्र-छात्राओं की समस्याओं का निराकरण निर्धारित समयावधि में करने, संस्था मं चल रहे निमार्ण कार्यों की निगरानी के लिए समिति का गठन करने, काॅलेज के मैदान को किसी को भी देने से पूर्व जनभागीदारी समित से अनुमति लेेने,े वरिष्ठ प्राध्यापकों को दूसरे दायित्व ना सौंपते हुए उन्हें केवल महाविद्यालय मंे आवष्यक रूप से क्लाॅस लेने। छात्र-छात्राआंे की निरंतर बढती संख्या को देखते हुए फर्निचर की अतिषीघ्र व्यवस्था करने के निर्देष संस्था प्राचार्य श्री अनिजवाल को प्रदान किए। इस अवसर पर समिति के कार्यकारिणी सदस्यों में वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. रविन्द्र सिंह, डाॅ. मंजुला गरवाल, अंजना मुवेल को भी शामिल किया गया।

प्राध्यापकों ने भी रखी मांग
बैठक के दौरान प्राध्यापक डाॅ. सिन्हा ने अध्यक्ष श्री भंडारी एवं वरिष्ठ सदस्य श्री भावसार के समक्ष मांग रखी कि आज महाविद्यालय को 60 वर्ष हो चुके है, छात्रों की निरंतर बढ़ती संख्या अनुसार लंबे समय से प्राध्यापकों की कमी है, जिसकी पूर्ति की जाए, एमएससी की मात्र 3 कक्षाएं एवं जूलाॅजी, बाटनी एवं गणित में स्नातकोत्तर नहीं है। महाविद्यालय में माइक्रो बायोलाॅजी एवं बायो टेक्नालाजी की सख्त जरूरत है। काॅलेज मे ंष््राोध केंद्र नहीं होने से भी काफी परेषानी आती है। इस दौरान संस्था में जनरेटर की व्यवस्था के लिए भी प्रस्ताव पारित हुआ। निर्माण कार्यों में देरी के लिए लोक निर्माण विभाग को पत्र लिखकर अतिषीघ्र कार्य पूर्ण करवाने के लिए निर्देषित किया गया। महाविद्यालय मैदान पर बन रहे स्टेडियम को यथावत रखते हुए इसे आगे पूर्ण करने के लिए भी इस दौरान सहमति बनी। महावि़द्यालय में जनभागीदारी मद से कार्यरत कर्मचारियों को नहीं हटाते हुए उन्हें यथावत रखने के निर्देष भी समिति अध्यक्ष द्वारा प्राचार्य को दिए गए। साथ ही संस्था में केटिंग चालू करने के लिए कमेटी गठित करने का निर्णय लिया गया। इस अवसर पर रोटरी क्लब से अमितसिंह जादौन (यादव), दौलत गोलानी एवं राकेष पोतदार सहित महाविद्यालय के प्राध्यापकगण उपस्थित थे। संचालन प्रो. विनोद खत्री ने किया एवं आभार प्रो. रविन्द्रसिंह ने माना।

जिला चिकित्सालय में रोगियों को किया गया फल एवं बिस्कीट का वितरण, मरीजों की कुषलक्षेम पूछी गई

jhabua news
झाबुआ। अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल द्वारा अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस के अवसर पर आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम के तीसरे एवं अंतिम दिन बुधवार को दोपहर जिला चिकित्सालय में रोगियों को फल एवं बिस्कीट का वितरण किया गया एवं उनका स्वास्थ्य भी जाना। इस अवसर पर अतिथि के रूप में जिला क्षय एवं नियंत्रण अधिकारी डाॅ. जितेन्द्र बामनिया उपस्थित थे। अध्यक्षता अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल के जिलाध्यक्ष रामप्रसाद वर्मा ने की। अतिथियों के साथ काउंसिल के जिला उपाध्यक्ष कमता मेड़ा, जिला सचिव दौलत गोलानी, जिला कोषाध्यक्ष रवि बारिया, कार्यकारिणी सदस्य सचिन बामनिया आदि द्वारा सर्वप्रथम चिल्ड्रन वार्ड जाकर फल एवं बिस्कीट का वितरण किया गया। इसके पश्चात् कुपोषण वार्ड में भर्ती कुपोषित बच्चों एवं उनकी माताओं को भी पोष्टीक आहार के रूप में फल एवं बिस्कीट प्रदान किए गए। उक्त आयोजन में विषेष सहभागिता जिला कोषाध्यक्ष रवि बारिया की रहीं। साथ ही सहयोग वार्ड की नर्सेस द्वारा भी प्रदान किया गया। तीन दिवसीय उत्सव का इसी के साथ समापन हुआ।

भारतीय जनता पार्टी जिला युवा मोर्चा के ग्रामीण मंडल झाबुआ कार्यकारिणी व पदाधिकारीयो की घोषणा भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा की गई

झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी जिला युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष श्री भानु भुरिया से विचार विमर्श कर युवा मोर्चा ग्रामीण मंडल झाबुआ के पदाधिकारीयो व कार्यकारिणी की घोषणा भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार ने आज विधिवत रुप से घोषणा कर दी है जो इस प्रकार है- अध्यक्ष - श्री सुरबान गुण्डिया ग्राम उमरियावेजेन्त्री, उपाध्यक्ष - श्री अनिला डामोर करडावद बडी, संयज भूरिया बिलीडोज, अतुल चैहान, पिटोलबडी, गीताराम भूरिया टिकडीमोती, महामंत्री - श्री तानसिंह वसुनिया सरंपच सालकीया, कानजी भूरिया सरंपच कालापीपल, मंत्री -   श्री नरेन्द्र भूरिया कुण्डला, राजू डामोर कुशलपुरा, रामसिंह भाबोर नल्दीछोटी, कमल, डामोर विजीयाडुंगरी, पंकज डामोर गोलाछोटी, सोमजी डामोर गडवाडा, कोषाध्यक्ष- श्री राकेश डामोर सरंपच उमरीयासालम, कार्यालय मंत्री- श्री अनिल डामोर कुशलपुरा, मीडिया प्रभारी - श्री कार्तिक खतेडिया पिटोलबडी, सह प्रभारी - श्री भमरसिंह गुण्डिया ढेकलबडी, मंडल कार्यकारिणी सदस्य, साहदर भूरिया सरंपच फुलधावडी, जोगावर डामोर विजीयाडुगरी, कमलेश डामोर कुशलपुरा, बाबु गुडिया पिपलीपाडा, रवि गारी पिटोलबडी, मोहन बबेरिया बावडी बडी, राजेश गुंडिया खेडी, अमरसिंह भूरिया कालापीपल, मलिया भाबोर गेहलरबडी, दिलीप भूरिया डुमपाडा, आरेस भुरिया पिटोलबडी, महेश वसुनिया उमरीयासालम, कैलाश भूरिया पिपलीपाडा, कालु सिंगाड नल्दीछोटी, विजय भाबोर बिलीडोज, थावरिया अमलियार ढेकलबडी, पंकज डामोर उमरीया दरबार, तानसिंह बबेरिया बावडी बडी, अमितभूरिया ढेकलबडी, फाकरी बोहरा पिटोलबडी। उक्त जानकारी भाजपा मिडिया प्रभारी अंबरीश भावसार ने दी है।

भारतीय जनता पार्टी जिला युवा मोर्चा के नगर मंडल पेटलावद कार्यकारिणी व पदाधिकारीयो की घोषणा भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा की गई

झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी जिला भाजयुमो के जिलाध्यक्ष श्री भानु भुरिया से विचार विमर्श कर युवा मोर्चा पेटलावद के पदाधिकारीयो व कार्यकारिणी की घोषणा भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार ने आज विधिवत रुप से घोषणा कर दी है जो इस प्रकार है- अध्यक्ष - श्री करण व्यास पेटलावद, उपाध्यक्ष - श्री दिपक राठौर, हरदेव परमार, राहुल राठौर, नवदीत गुगलिया, महामंत्री -श्री कुंदन विश्वकर्मा, सूरज पंवार, मंत्री -श्री शरद काजु मेहता, नितिन पीपलोदिया, रविराज पुरोहित, हर्षदीप पटवा, विजय गेहलोद, सुदिप सतोगिया, कोषाध्यक्ष- श्री गौरव मुण्डत, कार्यालय मंत्री - श्री सचिन परमार, मिडिया प्रभारी- श्री तनमय चतुर्वेदी, सह मिडिया प्रभारी- श्री हेमंत राठौर, सोशल मिडिया प्रभारी- श्री शेलेन्द्र गौड, सह मिडिया प्रभारी - श्री रचित गादिया, उक्त जानकारी भाजपा मिडिया प्रभारी अंबरीश भावसार ने दी है।

19 दिसम्बर को होगा पंेशनर दिवस का आयोजन, सम्मान समारोह का होगा कार्यक्रम

झाबुआ। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 19 दिसम्बर मंगलवार को दोपहर 1 बजे जिला पेंशनर कार्यालय एकलव्य भवन थांदला गेट पर पेंशनर दिवस के रूप में मनाया जायेगा। जिसमें समस्त पेंशनर एसोसिएशन के सभी सदस्यो जो 75 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके हो का सम्मान किया जायेगा। पेंशनर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर द्वारा बताया गया कि नगर के समस्त पेंशनरों के स्वागत सम्मान के लिये पेंशनर दिवस 19 दिसम्बर के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। जिसमें वरिष्ठ पेंशनरों का कार्यक्रम के मुख्य अतिथियों के द्वारा स्वागत एवं सम्मान किया जायेगा। जिलाध्यक्ष राठौर द्वारा समस्त पेंशनर एसोसिएशन के समस्त पेंशनरों से कार्यक्रम में उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की है।

पीडी रायपुरीया बने सर्वानुमति से अध्यक्ष, दोहरे समाज संगठन का हुआ गठन

jhabua news
झाबुआ। नगर में स्थानिय अम्बेडकर पार्क में बुधवार को जिला स्तरीय दोहरे समाज के गठन हेतु आंमत्रित बैठक मै समाजजनों ने समाज संगठन के विस्तार, प्रचार-प्रसार, कुरीतियों के विरूद्ध जागरूकता एवं परिचय सम्मेलन के विचार के साथ ही जिला कार्यकरीणी का गठन किया गया। कार्यक्रम के सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद हेतु पीडी रायपुरीया का नाम घोषित किया गया। साथ ही उपाध्यक्ष पद हेतु प्रेम शरण खरे, सचिव विजेन्द्र सिंह, सहसचिव महेन्द्र कुमार दोहरे, कोषाध्यक्ष प्रहलाद सिंह चैहान एवं 6 कार्यकरीणी सदस्यों को मनोनित किया गया। कार्यकरीणी सदस्यों में सुरेश चन्द्र दोहरे, निर्मल कुमार, विद्यासागर चिप्पल, राजवीरसिंह दोहरे, महावीरसिंह दोहरे, समेत कतरोलिया, आदिराम परासर चुने गये। इस अवसर पर समस्त समाजजनो के द्वार एक दुसरे को बधाईयां प्रस्तुत की।

जिले में घर-घर विद्युत व्यवस्था करना सुनिश्चित करे --सांसद
  • जिला स्तरीय विकास समन्वयक एवं मूल्यांकन समिति की बैठक संपन्न

jhabua news
झाबुआ । कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आज जिला स्तरीय विकास समन्वय एवं सतर्कता मूल्यांकन समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता सांसद रतलाम क्षेत्र श्री कांतिलाल भूरिया ने की। बैठक में प्रभारी कलेक्टर एवं सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने जिले की विकास योजनाओं की जानकारी दी। बैठक में अपर कलेक्टर श्री एसपीएस चैहान सहित समिति के सदस्य उपस्थित थे। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कृषि, महिला एवं बाल विकास विभाग, पीएचई, लोक निर्माण विभाग की समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिये गये। बैठक में कुपोषण की और अग्रसर होने वाले बच्चे की जानकारी एकत्रित कर बच्चो को संबंधित आंगनवाडी कार्यकत्र्ता एवं सुपरवायजर के माध्यम से एनआरसी में भर्ती करवाने एवं सभी आंगनवाडियों में पोषण आहार नियमित वितरण करवाने के लिए सांसद श्री भूरिया ने महिला एवं बाल विकास अधिकारी को निर्देशित किया। बैठक में विद्युत मण्डल की समीक्षा करते हुए ई.ईएमपीबी को निर्देशित किया कि शासन के निर्देशानुसार घर-घर बिजली कनेक्शन पहंुचाने का काम समयसीमा में सुनिश्चित करे। बैठक में दाहोद-झाबुआ-इन्दौर रेल लाईन के कार्य की प्रगति की भी समीक्षा की गई एवं काम तीव्र गति से करने के निर्देश रेलवे के संबंधित अधिकारी को दिये गये। दाहोद से झाबुआ तक रेलवे लाइन का काम वर्ष 2019 तक पूर्ण हो जाने संबंधी जानकारी रेलवे के संबंधित अधिकारी ने दी। पिटोल से झाबुआ रेवले लाईन का काम 1 माह के अंदर शुरू हो जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्ग की समीक्षा के दौरान एनएच के अधिकारी ने बताया कि जिले में फोरलेन का निर्माण 5 कि.मी. ही शेष बचा है जो कि फरवरी माह तक पूर्ण हो जाएगा। माछलिया घाट में फोरलेन निर्माण कार्य करने का काम बाद में किया जाएगा। बैठक में सांसद श्री भूरिया ने सड़क निर्माण कार्य से संबंधित अधिकारियो को निर्देशित किया कि दुर्घटना संभावित स्थलो पर सुरक्षा संबंधी उपाय किये जाये। गांव से आकर फोरलेन पर मिलने वाली सड़क पर फोरलेन से मिलने वाले स्थान पर रम्बल स्ट्रीट अवश्य बनवाये। दुर्घटना संभावित क्षेत्रो में संकेतक बोर्ड लगवाये। देवझिरी पण्डा रोड का निर्माण कार्य ठीक नहीं करने वाले ठेकेदार को बदलने एवं काम जल्द से जल्द पूर्ण करवाने के लिए ई.ई. पीडब्ल्यू डी को निर्देश दिये गये। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान सीएमएचओ को निर्देश दिये गये कि जिले में डाॅक्टरों के रिक्त पदो पर भर्ती के लिए शासन को प्रस्ताव भेजे। बैठक में कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान भावांतर भुगतान योजना में किये गये भुगतान की जानकारी प्राप्त की एवं रबी फसल के लिए उर्वरक की पर्याप्त व्यवस्था रखने के लिए निर्देश दिये। उद्यानिकि विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि जिले के हर ब्लाक में कम से कम एक किसान के पास पाॅली हाउस बनाये। एक प्रगतिशील किसान को माॅडल के रूप में उन्नत करे, ताकि उसे देखकर आसपास के किसान भी उन्नत खेती करे। आबकारी अधिकारी को अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने एवं अवैध शराब विक्रय करने वालो पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। बैठक में आभार प्रदर्शन सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने किया।

जवाहर नवोदय विद्यालय झाबुआ-1 में प्रथम पी.टी.सी. बैठक का आयोजन हुआ

झाबुआ । जवाहर नवोदय विद्यालय झाबुआ-1 में प्रथम पी.टी.सी. बैठक का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के वरिष्ट शिक्षक श्री रोनक पण्ड्या द्वारा किया गया। प्रांरभ में अपने स्वागत उद्बोधन में प्राचार्य श्री अब्दुल हमीद ने विद्यालय की स्थापना एवं नियम के बारे में अभिभावको को जानकारी दी। विद्यालय की शिक्षिका सुश्री नुपुर सिंह द्वारा अभिभावको को विद्यालय की गतिविधियों के बारे में अवगत कराया गया। बैठक में पालक एवं शिक्षक प्रतिनिधियों का चयन किया गया। उन्हें उनके कार्यो से अवगत कराया गया। शिक्षको एवं पालकों से बच्चों के सर्वोंगीण विकास के लिए चर्चा की गई। बैठक में विद्यालय के अन्य शिक्षक श्री गोविंद चैहान, श्री मोनू कुमार सुश्री मेहरा, सुश्री लक्ष्मी मधुकर उपस्थित रहे। आभार प्रदर्शन शिक्षक श्री सुयश तिवारी द्वारा किया गया।

खनन क्षेत्रो में 16 से 31 दिसम्बर तक स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा

झाबुआ । स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शासन के निर्देशानुसार जिले में खान मंत्रालय द्वारा स्वच्छता पखवाडा 16 से 31 दिसम्बर 2017 तक आयोजित किया जाएगा। इस दौरान स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत जिले में स्वच्छता के संबंध में उत्खनिपट्टा क्षेत्रो में खनन क्षेत्र को साफ एवं स्वच्छ किया जाएगा, स्वच्छ भारत मिशन के तहत खनन क्षेत्र के आसपास के गांवो/कस्बों/क्षेत्रो में लोगो को इस बात के लिए जागरूक किया जाएगा कि गांव को खुले में शौच मुक्त करने के लिए सभी घर में शौचालय निर्माण करे एवं उनका उपयोग करे, जिससे हमारा स्वास्थ्य एवं वातावरण स्वच्छ रहे। खनन क्षेत्र में खनन के दौरान अपशिष्ट/वेष्ट मटेरियल पूर्णतः पायलट योजना का शुभारंभ किया जायेगा। खनन क्षेत्र के आसपास के गावो/कस्बो/क्षेत्रो में लोगो को स्वच्छता का संदेश देने के लिए बेनर/पोस्टर/इत्यादि प्रचार-प्रसार सामाग्री का वितरण भी किया जाएगा। खनन क्षेत्र की वास्तविकता को रैंिकंग किया जाएगा। खनन क्षेत्र में कार्य करने वाले मजदूरो को स्वच्छता किट प्रदान कर उपयोगिता से अवगत कराया जाएगा।

सफलता की कहानी :  गौ संवर्धन योजना से वालसिंह की आय हुई 6 लाख सालाना

झाबुआ । गरीब किसानो के जीवन में खुशहाली लाने के लिए फसल उत्पादन के साथ-साथ पशुपालन के लिए शासन द्वारा संचालित योजनाओ से किसानो की आय में वृद्धि हो रही है एवं उनके जीवन स्तर में भी सुधार हो रहा है। झाबुआ जिले के रामा ब्लाक के ग्राम बलोला बडी के किसान वालसिंह सुमेरसिंह मसानिया के जीवन में आचार्य विद्यासागर गौसंवर्धन डेयरी योजना वरदान बनकर आई और उन्हें सामान्य किसान से धनवान लखपति किसान बना दिया। पषु पालन विभाग द्वारा संचालित आचार्य विद्यासागर गौसंवर्धन डेयरी योजना के बारे में जानकारी देते हुए वालसिंह ने बताया कि वे एक सामान्य किसान की तरह भूमि पर सिर्फ फसल उत्पादन करते थे, फसल उत्पादन से होने वाली आमदनी से जैसे-तैसे जीवनयापन हो रहा था, फिर उन्हे पषु चिकित्सा विभाग द्वारा संचालित योजना के बारे में पता चला और संगोष्ठी में वैज्ञानिक की परिचर्चा में भाग लेने पर पता चला कि कैसे फसल उत्पादन के साथ पशुपालन व्यावसाय आसानी से किया जा सकता है। वालसिंह ने बताया कि फिर उन्होने पशु चिकित्सा विभाग में संपर्क कर पषु चिकित्सक से इस योजना का आवेदन प्राप्त कर जानकारी भर कर बैंक आॅफ बडौदा शाखा पारा विकास खण्ड रामा में प्रस्तुत किया। पशुपालन के लिए आचार्य विद्यासागर गौ संवर्धन डेयरी योजना में 6.40 लाख रूपये ऋण स्वीकृत हुआ व 2.00 लाख रूपये पषु पालन विभाग द्वारा अनुदान दिया गया। जिससे गुजरात के कच्छ व भुज क्षैत्र से 10 दुधारू मुर्रा भैंसें उन्होने क्रय की एवं खेत में भैसो को खिलाने के लिए हरा चारा का उत्पादन शुरू किया साथ ही फसल से निकलने वाले भूसे  एवं अन्य फसल अपशिष्टो का भी भैसो के आहार के रूप में उपयोग किया। वर्तमान में भैंसों द्वारा लगभग 80 लीटर दुग्ध प्रतिदिन दिया जा रहा है जिसे सहकारी दुग्ध संघ में दुग्ध विक्रय कर प्रतिदिन राषि रूपये 4000/-  प्राप्त  होते है। प्रतिमाह 60.000 रूपये का लाभ प्राप्त हो रहा है, जिसमें 15000/- रूपये प्रतिमाह बैंक ऋण की किष्त जमा हो जाती है। योजना से वालसिंह सुमेरसिंह मसानिया की आय 10 हजार प्रतिमाह से बढकर 60 हजार प्रतिमाह हो गई और इस वर्ष औसत 6 लाख शुद्ध लाभ हुआ। वालसिंह ने बताया कि योजना किसानो के लिए बहुत अच्छी है एवं इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है वर्तमान में मेरे पास 10 पषु है भविष्य में दुधारू पषुओं की संख्या बढाकर बडे स्तर पर डेयरी फार्म एवं दुग्ध उत्पादन का  काम करूगाॅ एवं इस योजना का लाभ अन्य पषु पालाकों को लेने के लिये भी प्रेरित करूगा। वालसिंह आस पास के किसानो को भी पशु पालन की जानकारी दे रहे है। ताकि वे भी पशु पालन कर उन्नत किसान बन पाये।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...