चुनाव प्रचार के लिए मोदी ने 'अब तक की पहली' सीप्लेन उड़ान ली

modi-campaigned-through-floating-plan
अहमदाबाद/पालनपुर, 12 दिसंबर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र माेदी ने उनके लिए ‘प्रतिष्ठा की जंग’ बने गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार के अंतिम दिन अहमदाबाद में साबरमती नदी से पहली बार सी-प्लेन के जरिये उड़ान भरी और बाद में तैरते विमान से रिवरफ्रंट पर खड़े लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। श्री मोदी ने यहां से इस विमान से धरोई तक की यात्रा की और वहां से रोड शो की शक्ल में 45 किमी की दूरी तय कर स्वर्ण जड़ित शिखर वाले प्रसिद्ध शक्ति पीठ अंबाजी मंदिर में पूजा की। श्री मोदी ने अहमदाबाद शहर में आज रोड शो की इजाजत नहीं मिलने के कारण अपने कार्यक्रम में बदलाव कर अहमदाबाद में सरदार ब्रिज के पास से अमेरिका निर्मित सी प्लेन क्वेस्ट कोडियाक के जरिये उड़ान भरी। उनका विमान करीब 20 से 25 मिनट की उड़ान के बाद इसी नदी में उत्तर गुजरात के धरोई डैम के पास उतरा। पॉयलट जॉन गोलेट ने कहा कि प्रधानमंत्री के साथ उड़ान भरना बहुत ही सुखद अनुभव रहा। उन्होंने एक बहुत अनुशासित यात्री की तरह सुरक्षा संबंधी जानकारी को सुना। ऐसे विमान कई अन्य देशों में सामान्य हैं भारत में बड़े तट क्षेत्र और नदी, झील आदि के चलते यहां भी ये खासे लोकप्रिय हो सकते हैं। श्री मोदी धरोई से सड़क मार्ग से करीब 45 किमी दूरी तय कर अंबाजी मंदिर पहुंचे। इस दौरान सड़क के किनारे खड़े लोगों का उन्होंने चलती गाड़ी से दरवाजा खोल सीट पर खड़े होकर हाथ हिला अभिवादन किया। बहुत से लोग उनकी झलक पाने के लिए आसपास की पहाड़ी पर चढ़ गये थे और कुछ स्थानाें पर श्री मोदी के मुखौटे पहने भाजपा के कार्यकर्ता भी खड़े थे। मुस्लिम समुदाय के लोगों को भी इस दौरान कई स्थानों पर सड़क किनारे खड़े देखा गया।

रोड शो के बाद पह अंबाजी मंदिर पहुंचे। बतौर प्रधानमंत्री इस प्रसिद्ध मंदिर की उनकी पहली यात्रा थी। उन्होंने शास्त्रोक्त विधि से मंत्रोच्चार के बीच पूजा और आरती की। उत्तर गुजरात के बनासकांठा जिले में स्थित यह मंदिर अहमदाबाद से करीब 198 किमी दूर राजस्थान की सीमा के निकट स्थित है। बाद में वह सड़क मार्ग से धरोई और फिर वहां से सी प्लेन में वापस अहमदाबाद पहुंचे। यहां विमान उतरने पर साबरमती नदी में तैरते विमान में आधे घंटे से अधिक समय तक खड़े होकर दोनो तरफ खड़ी भीड़ का अभिवादन करते रहे। इसके बाद वह वापस नयी दिल्ली रवाना हो गये। ज्ञातव्य है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भी अहमदाबाद में आज प्रस्तावित रोड शो को इजाजत नहीं मिली और वह शहर के ऐतिहासिक जगन्नाथ मंदिर में पूजा करने के लिए गये थे। श्री मोदी और श्री गांधी ने चुनाव प्रचार में कई मंदिरों के दौरे किये हैं। श्री गांधी ने गुजरात में 27 मंदिरों के दौरे किये हैं। राज्य में दूसरे और अंतिम चरण में 14 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए प्रचार अभियान आज शाम समाप्त हो जायेगा।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...