विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 दिसंबर

परीक्षण नही निरीक्षण करें अधिकारी : कलेक्टर

vidisha-news
कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने लंबित आवेदनों की समीक्षा की। उन्होंने जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जिले की ऐसी पंजीकृत संस्थाएं जहां बच्चे रह रहे है उन सभी संस्थाओं का परीक्षण नही निरीक्षण के उपरांत वरिष्ठ अधिकारियों को रिपोर्ट प्रेषित करें ताकि ऐसी संस्थाओं को नियमानुसार शासन स्तर से समयावधि में मदद मिल सकें। कलेक्टेªट के सभाकक्ष में हुई उक्त बैठक में विभिन्न विभागों में लंबित आवेदनों की बिन्दुवार समीक्षा की गई है। कलेक्टर श्री सुचारी ने कहा कि जिले के ऐसे एनआरसी केन्द्र जहां लक्ष्य से कम बच्चे भर्ती है उन क्षेत्रों के परियोजना अधिकारी समेत अन्य को शोकाॅज नोटिस जारी करने के निर्देश एकीकृत बाल विकास सेवाएं के जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए है। स्वास्थ्य और महिला बाल विकास के लक्ष्यपूर्ण कार्य नही होने पर नीति आयोग की रिपोर्ट में जिला पिछडा हुआ है। उन्होंने स्वास्थ्य और महिला बाल विकास के अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि लक्ष्य प्राप्ति में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नही की जाएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के अब तक दो हजार हितग्राही ही लाभांवित होने पर असंतोष जाहिर करते हुए इस ओर विशेष बल देने की बात उन्होंने कही है। बैठक में श्रम कल्याण विभाग की योजनाओं से हितग्राहियों को अधिक से अधिक लाभ मिले इसके लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश कलेक्टर द्वारा विभाग के अधिकारी को दिए गए है। कलेक्टर श्री सुचारी ने मुख्यमंत्री भावांतर योजना के द्वितीय चरण तहत किसानो के पंजीयन के संबंध में भी पूछताछ की गई। इस दौरान बताया गया कि द्वितीय अवधि में नौ हजार 354 किसानों का पंजीयन किया गया है। उन सभी का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत भी बीमा कराया गया है। कलेक्टर द्वारा विभिन्न विभागों के माध्यम से वितरित की जाने वाली छात्रवृत्ति की अद्यतन स्थिति का भी जायजा लिया गया। कलेक्टर श्री सुचारी ने हितग्राहीमूलक योजनाओं में स्टेट बैंक की विभिन्न शाखाओ के द्वारा वित्त पोषण में बरती जा रही ढीला ढाला रवैया पर अप्रसन्नता जाहिर करते हुए उन्होंने लीड बैंक आफीसर श्री विजय गुप्ता को निर्देश दिए कि स्टेट बैंक की किन-किन शाखाओं के द्वारा प्रकरण स्वीकृति के उपरांत अभी तक वित्त पोषण नही किया गया है कि जानकारी आगामी बैठक में स्पष्ट कारणों सहित लेकर आए। टीएल बैठक में आधार पंजीयन, जाति प्रमाण पत्र, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की अद्यतन प्रगति की भी समीक्षा की गई। इसके अलावा बैठक में मुख्यमंत्री हेल्प लाइन, मानव अधिकार आयोग, पीजी सेल, समाधान आॅन लाइन और जन शिकायत निवारण के प्राप्त आवेदनों के साथ-साथ पेपर कंटिग पर अब तक संबंधित विभागों के अधिकारियों द्वारा की गई कार्यवाहियों की बिन्दुवार जानकारियां प्रस्तुत की गई। उक्त बैठक में एसडीएम श्री रविशंकर राय, संयुक्त कलेक्टर श्री आरडीएस अग्निवंशी, डिप्टी कलेक्टर श्री एके मांझी के अलावा, विभिन्न विभागों के जिलाधिकारी मौजूद थे। 

दस्तक अभियान का शुभांरभ

विदिशा जिले में दस्तक अभियान की आज से शुरूआत हुई है यह अभियान जिले में 27 जनवरी तक क्रियान्वित किया जाएगा। शुभांरभ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कहा कि टीकाकरण मानव सेवा का सबसे बडा काम है बच्चे स्वस्थ रहे इसके लिए उनका टीकाकरण कराया जाना अति आवश्यक है । उन्होंने इस पुण्य कार्य को पूर्ण ईमानदारी से करने की सलाह स्वास्थ्य विभाग के अमले को दी। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने कहा कि सभी घरों में दस्तक देकर बच्चो का टीकाकरण अनिवार्यतः कराया जाए। इस कार्य मंे स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ एकीकृत बाल विकास सेवाएं की महती भूमिका है। बीमारियों के खिलाफ लड़ने में टीकाकरण अति आवश्यक है जिन बच्चों को समय अंतराल पर टीका लग जाते है तो वे अनेक बीमारियों से बचे रहते है। शासन प्रशासन का मुख्य उद्वेश्य है कि जनोमुखी योजनाओं का लाभ अविलम्ब समय सीमा में संबंधितों को मिले इसके लिए हम सबको अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन करना होगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ बीएल आर्य ने दस्तक अभियान की आवश्यकता जिले में क्यो हुई है कि बिन्दुओं को रेखांकित करते हुए उन्होंने बताया कि इंटेंसफाइड मिशन इन्द्रधनुष वाले 13 जिलों में दस्तक अभियान 27 जनवरी तक संचालित होगा जिसमें विदिशा भी शामिल है। पांच वर्ष से छोटे उम्र के बच्चों वाले परिवारों के घरों मंे स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की दस्तक दी जाएगी। जिसका मुख्य उद्वेश्य है कि बाल मृत्यु दर में वांछित कमी लाना है। जिला टीकाकरण अधिकारी प्रमोद मिश्रा ने अभियान आयोजन के दौरान क्रियान्वित प्रमुख गतिविधियों पर गहन प्रकाश डाला। उन्होंने आशा, आंगनबाडी कार्यकर्ता, एएनएम, एमपीडब्ल्यू के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अमले की भूमिका को भी रेखांकित किया। जिला चिकित्सालय परिसर में सम्पन्न हुए उक्त कार्यक्रम में एसडीएम श्री रविशंकर राय, सिविल सर्जन सह अधीक्षक श्री डाॅ संजय खरे के अलावा अन्य चिकित्सकगण एवं प्रशिक्षणार्थी मौजूद थे।

अनंतिम चयन सूची जारी

एकीकृत बाल विकास परियोजना विदिशा शहरी क्षेत्र के अंतर्गत आंगनबाडी केन्द्रों में रिक्त कार्यकर्ता एवं सहायिका की चयन प्रक्रिया खण्ड स्तरीय समिति के द्वारा की गई है। एसडीएम श्री रविशंकर राय की अध्यक्षता में चयन समिति के द्वारा अनंतिम चयन सूची जारी की गई है जिसके अनुसार वार्ड क्रमांक 16 में कार्यकर्ता पद पर सपना भार्गव, वार्ड 21 में सहायिका पद पर रजनी सेन, वार्ड 24 में सहायिका पद पर नेहा वंशकार का चयन सूची में नाम शामिल है। उक्त चयन प्रक्रिया के विरूद्व दावे आपत्तियां 22 दिसम्बर तक आमंत्रित की गई है। 

सफलता की कहानी : दिव्यांगो को पहली बार मिले लेपटाॅप

vidisha news
विदिशा जिले में दिव्यांगो को पहली बार लेपटाॅप प्रदाय किए गए है। जनसुनवाई कार्यक्रम में लश्करपुर के श्री रामू अहिरवार और बासौदा की ग्राम सिरनोटा के दशरथ सिंह अहिरवार ने कलेक्टर को आवेदन प्रस्तुत करते हुए लेपटाॅप दिलाए जाने का आग्रह किया था। मुख्यमंत्री निःशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत जिले के दोनो हितग्राहियों को लेपटाॅप दिलाए गए है। श्री रामू अहिरवार जो कक्षा बारहवीं में इन्दौर के शासकीय सुभाष उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बडा गणेश में अध्ययनरत है। उन्होंने चर्चा के दौरान बताया कि लेपटाॅप मिल जाने से जहां पढाई में सहूलियत होगी वही पार्ट टाइम जाॅब कर सकूंगा। इसके लिए श्री रामू के द्वारा प्रतिष्ठित संस्थानों को अपना मोबाइल नम्बर 9754236305 दर्ज कराया गया है। ताकि आवश्यकता पड़ने पर वे रामू से सीधा सम्पर्क कर सकें। पांच भाई और एक बहन में सबसे ज्यादा पढाई अब तक रामू ने की है। रामू ने बताया कि पांचवीं तक आंखो से मुझे दिखाई देता था उसके बाद पता नही कौन से बीमारी हुई कि मुझे आंखो से पूर्णतः दिखना बंद हो गया। शिक्षा के प्रति रामू का रूझान देखते हुए कलेक्टर ने दृष्टिबाधित अक्षम रामू को लेपटाॅप दिलाने के लिए विशेष पहल की है। हितग्राही रामू लेपटाॅप पाकर प्रसन्नचित मुद्रा में अपने घर की ओर रवाना हुआ। ग्राम सिरनोटा के दशरथ अहिरवार ने बताया कि वर्तमान में बीए पाचवें सेमेस्टर में अध्ययनरत हूं। संजय गांधी स्मृति महाविद्यालय में पढाई लिखाई मेरी जारी है। मेरा एमपी पीएससी परीक्षा के माध्यम से प्रशासानिक पद पर चयन हो इस कार्य में शासन की योजना के तहत मुझे प्रदाय किया गया लेपटाॅप मेरा सारथी बनेगा। श्री दशरथ को अभी से छोटे-छोटे काम के लिए उनके मोबाइल नम्बर 8871245375 पर सम्पर्क करने लगे है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...