बिहार : ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने निकाला आक्रोश मार्च

  • न्यायपालिका की स्वायत्तता लोकतंत्र पर मंडराते खतरे और बक्सर में पुलिसिया दमन के खिलाफ दिखा आक्रोश।

aisf logo
पटना, 13जनवरी,  न्यायपालिका की स्वायत्तता व लोकतंत्र पर मंडराते खतरे और बक्सर में पुलिसिया दमन के खिलाफ आज आॅल इण्डिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ;।प्ैथ्द्ध के छात्रों ने आक्रोश मार्च निकाला। पटना वि॰वि॰ गेट पर ए॰आई॰एस॰एफ॰ के कार्यकत्र्ता आक्रोश मार्च को लेकर जुड़ना शुरू किये थे तभी अचानक राज्यपाल के काफिले को लेकर पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने रोकने की कोशिश की लेकिन ए॰आई॰एस॰एफ॰ के कार्यकत्र्ताओं के तीखे विरोध के कारण जुलूस आगे बढ़ा। पीयू गेट से आक्रोश मार्च निकल पी॰एम॰सी॰एच॰, सिविल कोर्ट, बी॰एन॰ काॅलेज होते हुए शहीद भगत सिंह चैक पहुँचा। न्यायपालिका की स्वतंत्रता के लिए बढ़े चलो, लोकतंत्र खतरे में, मोदी सरकार शर्म करो, सुप्रीम कोर्ट पर संकट के खिलाफ हल्ला बोला, जस्टिस लोया को न्याय दो, आर॰एस॰एस॰ के कब्जे से संवैधानिक संस्थाओं को मुक्त करो, आदि रोषपूर्ण नारे लगाए। शहीद भगत सिंह चैक पर पहुंच कर आक्रोश मार्च सभा में तब्दील हो गया। सभा को संबोधित करते हुए पटना हाईकोर्ट के वरीय अधिवक्ता मदन प्रसाद सिंह ने कहा कि ताजा घटनाक्रम से जाहिर है कि पानी सर से ऊपर निकल चुका है। देश के सर्वोच्च न्यायालय के चार जजों की पीड़ा सर्वोच्च न्यायालय के आंतरिक स्थिति को बयां करने के लिए काफी है। जस्टिस लोया के साथ न्याय की भी बात सामने आई है तो सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस पी॰ सदा शिवम का अमित शाह के पक्ष में फैसला देने पर राज्यपाल बना केन्द्र सरकार ने उन्हें खुश किया है। जबकि राज्यपाल का पद चीफ जस्टिस से छोटा है। सामाजिक कार्यकत्र्ता अक्षय कुमार ने कहा कि इसे मात्र चार जजांे का मसला कहकर इस ऐतिहासिक कदम को छोटा मानना होगा। यह पूरा मसला आर॰एस॰एस॰ जैसे खतरनाक संगठन का संवैधानिक संस्थाओं पर कब्जा के तौर पर भी देखना होगा। केदार दास श्रम संस्थान के अशोक कुमार ने कहा कि मौजूदा दौर में चार जजों का कदम साहसिक है। इस पूरे मसले को सड़क पर लाने के लिए ए॰आई॰एस॰एफ॰ के साथियों को धन्यवाद। ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार ने कहा कि देश की सबसे बड़ी अदालत के प्रति आम जनता की बहुत ही उच्च धरणा बनी हुई है। भाजपा नेताओं के दबाव मंे सब चीज किया जाना जगजाहिर हुआ है। इन मसलों को लेकर सभी छात्र संगठनों को गोलबंद कर आगे मजबूत लड़ाई लड़ी जाएगी। अध्यक्ष ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य पार्षद सुभाष पासवान ने की। सभा को मजदूर नेता अजय कुमार, सुमन्त शरण, ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य कार्यकारिणी सदस्य हरिशंकर सिंह, पीयू सचिव बब्लू राज, पीयू उपाध्यक्ष अदनान इमरान, मीर सैफ अली, रवि शंकर उपाध्याय, शेखर सुमन, विजय कुमार विमल, जयशंकर प्रसाद सिंह, अशोक कुमार, अंकित मौजूद थे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...