आसियान सम्मेलन में सात शासनाध्यक्षों का आगमन

asean-summit-seven-heads-of-government-arrive
नयी दिल्ली 24 जनवरी, राजधानी में दो दिन तक चलने वाले भारत आसियान मैत्री रजत जयंती शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए विएतनाम, कंबोडिया, म्यांमार, फिलीपीन्स, थाईलैंड, सिंगापुर और ब्रुनेई के शासनाध्यक्ष नयी दिल्ली पहुंच चुके हैं। दस आसियान देशों के नेता सम्मेलन में भाग लेने के साथ-साथ गणतंत्र दिवस समारोह में भी बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। इन नेताओं में सबसे पहले विएतनाम के प्रधानमंत्री नगुएन शुआन फुक अपनी पत्नी त्रान नगुएन थू के साथ यहां पहुंचे। मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने पालम हवाई अड्डे पर उनका स्वागत किया। उसके बाद कंबोडिया के प्रधानमंत्री सामदेच टेको हुन सेन का विमान उतरा। उनकी अगवानी कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने की। फिलीपीन्स के राष्ट्रपति रॉड्रिगो हुतेर्ते की अगवानी मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने, म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू ची की अगवानी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग की अगवानी महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री वीरेन्द्र कुमार, थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओचा की अगवानी विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह, ब्रुनेई के सुल्तान हसनल बोलाकिया की अगवानी अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने की। मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक एवं लाओस के प्रधानमंत्री थॉन्ग लून सिसौलिथ आज रात तक राजधानी पहुंच जाएंगे। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो कल दोपहर आएंगे। विएतनाम के प्रधानमंत्री ने शाम को राष्ट्रपति भवन जाकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट की। जबकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आसियान के महासचिव ली लुआेंग मिन्ह के साथ यहां तुगलक क्रीसेंट में भारत आसियान मैत्री पार्क का उद्घाटन किया। इस मौके पर विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आज शाम म्यांमार, विएतनाम एवं फिलीपीन्स के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक होगी। थाईलैंड, ब्रुनेई, मलेशिया, लाओस और इंडोनेशिया और सिंगापुर के नेताओं के साथ श्री मोदी की कल द्विपक्षीय बैठक होगी। इन सभी नेताओं का कल दिन में राष्ट्रपति भवन में रस्मी स्वागत किया जायेगा । इसके बाद राष्ट्रपति इनके सम्मान में भोज का आयोजन करेंगे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...