पुणे हिंसा भड़काने के आरोपियों के मोदी से सम्बन्ध : कांग्रेस

congress-alleges-modi-s-relation-in-pune-violence
नयी दिल्ली 03 जनवरी, कांग्रेस ने आज अारोप लगाया कि महाराष्ट्र के भीमा -कोरेगांव में हिंसा भड़काने के जिम्मेदार लोगों के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस के साथ सम्बन्ध हैं । कांग्रेस सांसद वीरप्पा मोईली ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में अपने इस आरोप के समर्थन में कुछ फोटो दिखाये और कहा कि जिन लोगों ने हिंसा भड़काई है उनके श्री माेदी और श्री फणनवीस के साथ फोटो हैं। श्री मोईली ने कहा कि यह कहना गलत है कि इस हिंसा के पीछे मराठा लोगों का हाथ है । राज्य में मराठा और दलित समुदाय के बीच हमेशा से सौहार्द्रपूर्ण सम्बन्ध रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इस हिंसा के पीछे फासीवादी सांप्रदायिक ताकतों का हाथ है जो दोनों समुदायों के बीच फूट डालकर राजनीतिक फायदा उठाना चाहती हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री को संसद के किसी सदन में आकर दोनों समुदाय के लोगों से एकजुट रहने की अपील करनी चाहिए थी लेकिन दिल्ली में होने के बावजूद वह सदन में नहीं आये । उन्होंने कहा कि पिछले 200 वर्षाें से दलित समुदाय भीमा कोरेगांव में ‘शौर्य दिवस ’मना रहा है और महाराष्ट्र के इतिहास में पहली बार इसमें हिंसा हुई है। श्री मोईली ने कहा कि इसकी बकायदा साजिश रची गयी और शांति बाधित करने के लिए लोगों को उकसाया गया । स्थानीय प्रशासन इसे टालने में नाकाम रहा ।  भारतीय जनता पार्टी पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों के हवाले से बताया कि उसके शासन वाले पांच राज्यों उत्तर प्रदेश ,बिहार ,राजस्थान ,मध्यप्रदेश और गुजरात में दलितों पर अत्याचार के सबसे ज्यादा घटनाएं हुई हैं ।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...