बिहार : 5 जनवरी को भीमा-कोरेगांव हिंसा के खिलाफ राज्यव्यापी प्रतिवाद.

  • भाकपा-माले की बिहार राज्य स्थायी समिति की एक दिवसीय बैठक पटना में.
  • पार्टी महाधिवेशन की तैयारी को लेकर हुई चर्चा.

cpi-ml-call-national-protest-for-bhima-koreganv
पटना 4 जनवरी, भाकपा-माले की बिहार राज्य स्थायी समिति की एक दिवसीय बैठक आज पटना स्थित राज्य कार्यालय में संपन्न हो गयी. बैठक में मुख्य रूप से पार्टी की बिहार राज्य कमिटी के सदस्य कुणाल, पोलित ब्यूरो सदस्य  अमर व धीरेन्द्र झा, राजाराम सिंह, केडी यादव,  रामजतन शर्मा, महबूब आलम,  मीना तिवारी, शशि यादव, सरोज चैबे, निरंजन कुमार, नईमुद्दीन अंसारी, महानंद, पूर्व विधायक अरूण सिंह, जवाहर लाल सिंह, इंद्रजीत चैरसिया, संतोष सहर, रामाधार सिंह आदि नेता उपस्थित थे. बैठक में मार्च महीने में आयोजित पार्टी महाधिवेशन को लेकर चर्चा हुई. पार्टी का 10 वां महाधिवेशन 23 से 28 मार्च तक पंजाब के मानसा में आयोजित है. भाकपा-माले ने कहा है कि इसके पूर्व पूरे देश में ‘फासीवाद को हराओ - जनता का भारत बनाओ’ नारे के साथ अभियान चलाएगी, जिसका समापन मानसा में होगा. बैठक में यह भी तय किया गया कि पार्टी महाधिवेशन को देखते हुए कम्युनिस्ट पार्टी सदस्यता भर्ती अभियान चलाया जाएगा. फासीवाद के बढ़ते खतरे को एक संगठित-सुगठित कम्युनिस्ट पार्टी और उसके नेतृत्व में चलने वाले जनांदोलन ही मजबूत चुनौती दे सकता है. बैठक में भीमा-कोरगंाव में दलितों के ऊपर भाजपा-संघ व महाराष्ट्र की भाजपा सरकार के संरक्षण में किए गए ब्राह्मणवादी-जातिवादी हमले की कड़ी निंदा की गयी और 5 जनवरी को राज्यस्तरीय विरोध दिवस को सफल बनाने का आह्वान किया गया.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...